Home /News /lifestyle /

डेयरी प्रोडक्ट्स नहीं पसंद तो इन चीजों का सेवन कर मिल सकता है कैल्शियम

डेयरी प्रोडक्ट्स नहीं पसंद तो इन चीजों का सेवन कर मिल सकता है कैल्शियम

कैल्शियम की कमी से शरीर की हड्डियां कमजोर होती हैं (Image- Shutterstock)

कैल्शियम की कमी से शरीर की हड्डियां कमजोर होती हैं (Image- Shutterstock)

Dairy Products Substitute: दूध कैल्शियम का सबसे बड़ा स्रोत है लेकिन कई लोगों को डेयरी प्रोडक्ट्क्स पसंद नहीं है. ऐसे में कई विकल्प हैं जिनका सेवन कर कैल्शियम की भारपाई की जा सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    Calcium Rich Diet: कैल्शियम (Calcium ) हमारे शरीर के लिए अत्यंत जरूरी मिनिरल (Mineral) है. हम सब जानते हैं कि कैल्शियम की कमी से शरीर की हड्डियां कमजोर होती हैं लेकिन इसके अलावा भी कई ऐसी चीजें हैं जिसकी भारपाई शरीर में कैल्शियम से ही की जाती है. वास्तव में कैल्शियम की जरूरत शरीर में किसी भी अन्य मिनिरल्स की तुलना में सबसे ज्यादा है. आम वयस्क को रोजाना कम से कम 1000 मिलीग्राम कैल्शियम की जरूरत पड़ती है. 50 साल से ऊपर की महिलाओं को हर दिन न्यूनतम 1200 मिलीग्राम कैल्शियम का स्रोत फूड में लेना चाहिए. वहीं विकसित हो रहे बच्चे को सबसे ज्यादा कैल्शियम की जरूरत है. 4 से 18 साल के बच्चे को प्रतिदिन 1300 मिलीग्राम कैल्शियम की आवश्यकता होती है लेकिन मुश्किल यह है कि ज्यादातर बच्चे दूध पीने में नखरे करते हैं. यहां तक कि कुछ लोगों को डेयरी प्रोडक्ट से भी चिढ़ है. ऐसे लोगों के लिए न्यूट्रिशन एक्सपर्ट पूजा मखीजा (Nutrition Expert Pooja Makhija) ने इंस्टाग्राम पर टिप्स दिए हैं. यानी जिन लोगों को डेयरी प्रोडक्ट पसंद नहीं है, वे शरीर में कैल्शियम की पूर्ति करने के लिए पूजा मखीजा द्वारा सुझाए गई चीजों का अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं.

    यह भी पढ़ें- अगर खाते हैं कच्ची सब्जियां, तो पड़ सकता है सेहत के लिए महंगा

    शरीर में कैल्शियम की कमी के क्या लक्षण हैं
    डेयरी प्रोडक्ट के बदले किन चीजों का फूड में इस्तेमाल करना चाहिए, इससे पहले यह जान लेना जरूरी है कि शरीर में कैल्शियम की कमी के क्या-क्या लक्षण हैं. कैल्शियम की कमी से हाइपोकैल्शिमिया (Hypocalcemia) बीमारी हो जाती है. इससे खून में कैल्शियम की आवश्यक मात्रा कम हो जाती है. हड्डियों की बीमारी के अलावा कैल्शियम की बहुत ज्यादा दिनों तक कमी से दांतों में कई तरह के विकार पैदा हो जाते हैं. आंखों में रंतौधी हो जाती है और मानसिक स्वास्थ्य पर भी असर पड़ता है. कैल्शियम की कमी से मसल्स भी कमजोर होने लगते हैं. अक्सर मसल्स में खिंचाव, क्रैंप और सूजन की शिकायत आ जाती है.

    यह भी पढ़ें- पीलिया से जल्दी निजात पाने के लिए अपनाएं ये घरेलू तरीके

    क्या है डेयरी प्रोडक्ट का विकल्प
    पूजा मखीजा बताती हैं कि यदि डेयरी प्रोडक्ट पसंद नहीं है तो शरीर में कैल्शियम की पूर्ति के लिए किडनी बींस यानी राजमा का इस्तेमाल सबसे बेहतर है. करीब सौ ग्राम कच्चे राजमा से 140 मिलीग्राम कैल्शियम की प्राप्ति की जा सकती है. इसी तरह बादाम (Almond) कैल्शियम का सबसे बड़ा स्रोत है. सौ ग्राम बादाम से 260 मिलीग्राम कैल्शियम की प्राप्ति की जा सकती है. अगर दूध से एलर्जी है तो टोफू कैल्शियम का अति उच्च स्रोत है. सौ ग्राम टोफू (Tofu) में 680 मिलीग्राम कैल्शियम पाया जाता है. पूजा मखीजा बताती हैं कि फूल गोभी (broccoli) शकरकंद (sweet potato) सूरजमुखी के बीज (sunflower seeds) भिंडी (ladyfingers) संतरे (oranges)और रॉकेट लीव्स (rocket leaves) में भी पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम मिलता है.

    Tags: Eat healthy, Health, Health News

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर