Online Partner: सोच समझ कर चुनें ऑनलाइन पार्टनर, बरतें ये सावधानियां

Online Partner: सोच समझ कर चुनें ऑनलाइन पार्टनर, बरतें ये सावधानियां
बड़े शहरों में ऑनलाइन पार्टनर का चलन बढ़ने लगा है.

ऑनलाइन प्‍लेटफार्म (Online Platform) पर कई बार कुछ ऐसे लोगों से भी सामना हो जाता है, जो धोखा कर सकते हैं, आपको किसी तरह ब्‍लैकमेल (Blackmail) करके आपसे रुपये ऐंठ सकते हैं. ऐसे में यह जरूरी है कि आप ऑनलाइन पार्टनर (Online Partners) बनाने से पहले कुछ सावधानियां जरूर रखें.

  • Share this:
आज के इस दौर में शहरों (Cities) की भागमभाग भरी जिंदगी में अकेलेपन से दो-चार रहने वाले युवाओं का सहारा है सोशल मीडिया (Social Media). ऐसे में बड़े शहरों में ऑनलाइन पार्टनर्स (Online Partners) का चलन भी बढ़ने लगा है. ऐसा पार्टनर जिसके साथ आप अपनी ज्‍यादातर बातें शेयर कर सकते हैं. मगर ऑनलाइन प्‍लेटफार्म (Online Platform) पर कई बार कुछ ऐसे लोगों से भी सामना हो सकता है, जो धोखा कर सकते हैं, आपको किसी तरह ब्‍लैकमेल (Blackmail) करके आपसे रुपये ऐंठ सकते हैं. ऐसे में यह जरूरी है कि आप ऑनलाइन पार्टनर बनाने और अपनी निजी जानकारी (Personal Information) शेयर करने से पहले कुछ सावधानियां जरूर रखें. ताकि आपको किसी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े. कुछ अहम बातों का ध्‍यान रख कर इससे बचा जा सकता है.

समझने में लगाएं लंबा समय: जब हम किसी को ऑनलाइन पार्टनर बनाते हैं तो यह सोच कर कि सामने वाला दूर है और आपको करीब से नहीं जानता. इसलिए उसके साथ आप अपनी निजी जानकारी भी शेयर कर लेते हैं. ऐसे में जल्‍दबाजी दिखाते हुए चैट के जरिये अपना फोन नंबर, अपना एड्रेस और यहां तक कि कई बार अपने पर्सनल रिश्‍तों की जानकारी भी शेयर कर बैठते हैं. मगर इस ओर आपको जल्‍दबाजी नहीं करनी चाहिए. एक लंबा समय अपने पार्टनर को समझने में लगाएं और जब हर तरह से सब बेहतर लगे तब ही अपनी निजी जानकारी शेयर करनी चाहिए.

न दें वर्क प्‍लेस की जानकारी: ऑनलाइन चैटिंग करते समय यह भी सावधानी रखें कि आप अपनी पर्सनल लाइफ के साथ ही अपनी तस्‍वीरें शेयर करने से बचें. आपसे जो व्‍यक्ति चैट कर रहा है हो सकता है कि वह आपके विश्‍वास पर खरा न उतरे. इसलिए अपनी फोटो और वर्क प्‍लेस की जानकारी तो बिल्‍कुल न दें.



मुलाकात के लिए चुनें पब्लिक प्‍लेस: कई बार हम लोगों की मीठी बातों में आकर उनके अंदर की मानसिकता को समझ नहीं पाते और कुछ ही समय की चैटिंग के बाद मिलने के आग्रह को मान लेते हैं. ऐसे में सावधानी से किसी खुली, सार्वजनिक जगह का चुनाव करें. जैसे पार्क, मार्किट आदि. साथ ही अकेले मिलने जाने से बचें.
भावुकता में बह कर चैट न करें: चैटिंग करते समय कई बार हम भावुकता में अपनी हर बात लिखते चले जाते हैं. यह समझे बगैर कि सामने वाला भी आपके जितना ही सच्‍चा और भावुक है भी कि नहीं. ऐसे में कई बार कुछ ठग किस्‍म के लोग आपकी चैट में कही गई बातों का फायदा उठा सकते हैं और इनका गलत इस्‍तेमाल कर सकते हैं. इसलिए चैटिंग करते समय खास सावधानी बरतें.

ये भी पढ़ें - धोखेबाज पार्टनर को दूसरा मौका देने में यकीन रखते हैं भारतीय: स्टडी

लाइफ पार्टनर बनाने में जल्‍दबाजी नहीं: आजकल ऑनलाइन ठगी का शिकार ज्‍यादा बनने लगे हैं. इसकी वजह यही है कि लोग सोशल साइट पर ऑनलाइन पार्टनर के साथ बात करते समय सावधानी नहीं बरतते. यहां तक कि कई बार शादी जैसे गंभीर फैसले भी ले लेते हैं. इसलिए यह अहम फैसला लेने से पहले अपने पार्टनर की पूरी जांच-पड़ताल कर लें. इसके अलावा एक लंबा वक्‍त भी लें अपने पार्टनर को पूरी तरह समझने के लिए. तब ही लाइफ पार्टनर बनाने का फैसला करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज