Home /News /lifestyle /

खूबसूरत, जिद्दी और जुनूनी अमृता शेरगिल की 10 पेंटिंग्स

खूबसूरत, जिद्दी और जुनूनी अमृता शेरगिल की 10 पेंटिंग्स


गजब की खूबसूरत लेखिका...इंडिया की सबसे बड़ी महंगी पेंटर...बिंदास...बोल्ड...किसी से न डरने वाली...किसी की परवाह न करने वाली... कलाकार अमृता शेरगिल का आज जन्मदिन है.

गजब की खूबसूरत लेखिका...इंडिया की सबसे बड़ी महंगी पेंटर...बिंदास...बोल्ड...किसी से न डरने वाली...किसी की परवाह न करने वाली... कलाकार अमृता शेरगिल का आज जन्मदिन है.

गजब की खूबसूरत लेखिका...इंडिया की सबसे बड़ी महंगी पेंटर...बिंदास...बोल्ड...किसी से न डरने वाली...किसी की परवाह न करने वाली... कलाकार अमृता शेरगिल का आज जन्मदिन है.

    गजब की खूबसूरत लेखिका...इंडिया की सबसे बड़ी महंगी पेंटर...बिंदास...बोल्ड...किसी से न डरने वाली...किसी की परवाह न करने वाली... कलाकार अमृता शेरगिल का आज जन्मदिन है. इस मौके पर हमको बताते हैं उनसे जुड़ी कुछ खास बातें, खूबसूरत पेंटिंग्स के साथ-

    अमृता शेरगिल की पेंटिंग्स

    अमृता शेरगिल की पेंटिंग्स

    भारत के लिए इतना समर्पण दिखाने वाली अमृता शेरगिल जन्म से उतनी भारतीय नहीं थीं. उन्होंने 30 जनवरी, 1913 को बुडापेस्ट (हंगरी) में पंजाबी सिख पिता और हंगेरियन मां की संतान के रूप में जन्म लिया था. पांच साल की उम्र आते-आते अमृता ने रंगों से रिश्ता जोड़ लिया. सन 1921 में जब वे आठ साल की बच्ची थीं, माता पिता के साथ पहली बार भारत आईं और फिर यहीं की होकर रह गईं.

    अमृता शेरगिल की पेंटिंग्स
    अमृता शेरगिल की पेंटिंग्स


    ऐसा नहीं है कि इसके बाद उन्हें विदेश जाने या वहां फिर बसने का मौका नहीं मिला. दो साल बाद ही यानी 1923 में उन्हें मां के साथ इटली भेज दिया गया. पेंटिंग में उनके रुझान को देखकर पिता ने उन्हें इसकी तालीम दिलवाने का निश्चय किया था सो वहां के प्रतिष्ठित कला स्कूल में दाखिला भी करा दिया गया. न वह स्कूल अमृता को रास आया न ही वह देश. वे इटली छोड़कर भारत लौट आईं.

    अमृता शेरगिल की पेंटिंग्स
    अमृता शेरगिल की पेंटिंग्स


    अमृता की कला का एक विरोधाभास यह था कि राजसी परिवार में जन्मी होने की वजह से उन्हें जीवन में कभी कोई कमी नहीं रही लेकिन उनके चित्र शिकायती ज्यादा नजर आते हैं.

    अमृता शेरगिल की पेंटिंग्स
    अमृता शेरगिल की पेंटिंग्स


    अपनी शर्तों पर जीने वाली अमृता की खासबात थी कि उनसे हर कोई प्रभावित हो जाता था.

     अमृता शेरगिल की पेंटिंग्स

    अमृता शेरगिल की पेंटिंग्स


    जहां उनके पति हंगरी के होने के कारण ब्रिटेन के खुले विरोधी थे. वहीं रौबदार व्यक्तित्व वाले पिता ब्रिटिश हुकूमत के करीबी थे. लेकिन इन सबके उलट अमृता हमेशा कांग्रेस की समर्थक रहीं.

    अमृता शेरगिल की पेंटिंग्स
    अमृता शेरगिल की पेंटिंग्स


    उस समय कांग्रेस की छवि गरीबों की हमदर्द पार्टी की थी और पार्टी का नेतृत्व जवाहरलाल नेहरू कर रहे थे.

    अमृता शेरगिल की पेंटिंग्स
    अमृता शेरगिल की पेंटिंग्स


    कहा जाता है कि नेहरू अमृता के खूबसूरती से खासे ‘प्रभावित’ थे और एक बार उन्होंने अमृता से अपनी तस्वीर बनाने का आग्रह भी किया था. लेकिन अपने आप में आकर्षक छवि वाले नेहरु कभी अमृता को इतना प्रभावित नहीं कर पाए कि वे उन्हें अपने कैनवास पर जगह दे देतीं.

    अमृता शेरगिल की पेंटिंग्स
    अमृता शेरगिल की पेंटिंग्स


    जिद ने ही अमृता से जुड़े रहस्यों को और गहरा कर दिया था. रहस्य चाहे उनके जीवन के हों, असमय हुई मृत्यु के या कैनवास पर उतारे रंगों के. अमृता शेरगिल अपने समय में बे-मोल थीं, अब बेशकीमती हैं.

     

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर