Home /News /lifestyle /

how to boost confidence in kid in hindi

बच्चे में कॉन्फिडेंस की है कमी? अपनाएं ये टिप्स, दूर होगी झिझक, बढ़ेगा आत्मविश्वास

बच्चे में इस तरह से बढ़ाएं आत्मविश्वास की भावना. (,Image: Canva)

बच्चे में इस तरह से बढ़ाएं आत्मविश्वास की भावना. (,Image: Canva)

आपका बच्चा पब्लिक प्लेस पर अकेले घबराता है या फिर वह स्कूल में किसी भी प्रतियोगिता में हिस्सा नहीं लेता, अगर ऐसा है, तो बच्चे में आत्मविश्वास की कमी हो सकती है. जानिए कैसे डेवलप करें बच्चे में आत्मविश्वास.

Tips to Boost Confidence In Kid: हर मां-बाप चाहते हैं कि उनके बच्चे के अंदर आत्मविश्वास भरपूर हो. जब वह स्टेज पर परफॉर्म करे या फिर कहीं भी स्पीच दे, तो वह जरा भी नर्वस न हो. उसके अंदर हिचक न हो. कई बार बच्चे केवल आत्मविश्वास न होने के कारण ही कई मौकों को गंवा देते हैं और बहुत सी चीज़ों में भाग नहीं ले पाते हैं. आत्मविश्वास होना भी एक तरह की स्किल है, जो बच्चों को बचपन से ही सिखा देनी चाहिए, जिससे वह बड़े होकर चीजों में भाग लेते समय डरे नहीं. अगर बच्चों में आत्मविश्वास होता है, तो वह किसी भी मुश्किल स्थिति से लड़ लेते हैं. उस पर विजय भी पाते हैं, लेकिन अगर आपके बच्चे में कॉन्फिडेंस की कमी है, तो उसे बढ़ाने का प्रयास शुरू कर देना चाहिए. कई तरीकों से आप अपने बच्चे में भी वह उत्साह और विश्वास ला सकते हैं, जो उनमें कभी पहले देखने को नहीं मिली. आइए जानते हैं बच्चे का कॉन्फिडेंस बढ़ाने के कुछ टिप्स.

ये भी पढ़ें: बच्चा प्यार से नहीं मानता, ऐसी शिकायत करने वाले पैरेंट्स के लिए खास टिप्स

बच्चे का कॉन्फिडेंस बढ़ाने के टिप्स
चाइल्डमाइंड डॉट ओआरजी के मुताबिक, पैरेंट्स सबसे पहले खुद को कॉन्फिडेंट दिखाएं. अगर बच्चा आपको पूरे जोश और उत्साह के साथ काम करते देखेगा, तो उनके अंदर भी ऐसा ही बनने की इच्छा जागृत होगी, इसलिए बच्चे के रोल मॉडल बनें.

-अगर बच्चा गलतियां कर रहा है, तो उन पर निराशा न जताएं, बल्कि उनका हौसला बढ़ाने के लिए उस छोटी जीत को भी सेलिब्रेट करें, ताकि बच्चा आगे और भी अच्छा कर सके.

-बच्चे को कुछ नई चीजें ट्राई करना सिखाएं. अगर वह एक स्किल को अच्छे से सीख चुके हैं, तो दूसरी चीज़ को भी करने का उत्साह उनके अंदर जगाएं. जब उन्हें कुछ चीज़ें आने लगेंगी, तो उनका कॉन्फिडेंस खुद ही बढ़ जाएगा.

इसे भी पढ़ें: बच्चों की आपस में तुलना करना कितना सही? आप भी तो नहीं करते ये गलती

-बच्चा कभी-कभार विफल हो रहा है, तो परेशान न हों. वो खुद भी समझ सकेगा कि फेल होना कोई बुरी बात नहीं, बल्कि यह जिंदगी का ही एक पहलू है. इससे उन्हें फेल होने पर आत्मविश्वास की कमी महसूस नहीं होगी.

-अगर बच्चा खुद में सुधार लाने के लिए एक ही चीज़ पर डटा रहता है, तो उसकी इस बात की भी सराहना करें.

-बच्चे का लक्ष्य स्थापित करने में उनकी मदद करें.

Tags: Lifestyle, Parenting tips

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर