होम /न्यूज /जीवन शैली /अब तक नहीं लगवाया बच्चे को कोविड वैक्सीन, इंफेक्शन से बचाने के लिए अपनाएं ये 10 उपाय

अब तक नहीं लगवाया बच्चे को कोविड वैक्सीन, इंफेक्शन से बचाने के लिए अपनाएं ये 10 उपाय

बच्चे को कोरोना वैक्सीन नहीं लगा तो सुरक्षित रखने के लिए अपनाएं ये टिप्स.

बच्चे को कोरोना वैक्सीन नहीं लगा तो सुरक्षित रखने के लिए अपनाएं ये टिप्स.

कोविड के मामले अभी भी लगातार सामने आ रहे हैं. ऐसे में जिनके बच्चे अब तक अनवैक्सीनेटेड हैं, उन पैरेंट्स को अपने बच्चे के ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

अनवैक्सीनेटेड बच्चे के कोरोना से बचाने के लिए डेली रूटीन में योगाभ्यास शामिल करें.
पांच वर्ष से अधिक उम्र के बच्चे को बिना मास्क के घर से निकलने ना दें.

छोटे बच्चे की देखभाल किसी भी पैरेंट के लिए बड़ी चुनौती होती है. यह चुनौती कोविड संक्रमण के दौरान और भी ज्यादा बढ़ गई है. बच्चे की देखभाल से लेकर उनका मानसिक और शारीरिक विकास भी पैरेंट्स के लिए चिंता बढ़ाते रहते हैं. बच्चे को स्कूल न भेजें, तो वह अपनी उम्र के बच्चों से पीछे रह जाएगा और स्कूल भेजे तो उसे संक्रमण होने का खतरा बना रहेगा. कई पैरेंट्स इस चक्कर में कुछ तय नहीं कर पाते हैं कि क्या करें और क्या नहीं.

सबसे ज़्यादा चिंता पैरेंट्स में उन बच्चों को लेकर है, जिन्हें अब तक वैक्सीन का एक भी डोज़ नहीं लग पाया है. जहां बड़े लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग के बारे में बताया जा सकता है, वहीं छोटे बच्चों को चाहकर भी ऐसी सीख में नहीं ढाला जा सकता है. अब सवाल ये उठता है की पैरेंट्स ऐसा क्या करें कि बच्चे कोविड संक्रमण की चपेट में आने से बचे रहें. वेबएमडी के साथ आज हम आपको बताते हैं, बच्चों को कोविड संक्रमण से बचाए रखने से जुड़ी ज़रूरी बातें.

बच्चों को कोरोना संक्रमण से बचाने के उपाय

ये भी पढ़ें: बच्चे में एनीमिया की समस्या को दूर करेगी किशमिश, इन फलों-सब्जियों से भी बढ़ेगा पोषण

– बच्चे के डेली रूटीन में योगाभ्यास को शामिल करें. प्राणायाम और योग बच्चे की इम्यूनिटी मज़बूत बनाएंगे और उनकी रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ाएंगे.

– बच्चा अगर 5 साल की उम्र से अधिक उम्र का है, तो एक्सपर्ट की सलाह लें और बच्चे को मास्क लगाने की सलाह डॉक्टर देते हैं, तो उसे बिना मास्क के घर से निकलने ना दें.

– बच्चे को कोविड से बचाने के लिए उनकी डाइट पर खास ध्यान दें. ड्राई फ्रूट्स, हरी-पत्तेदार सब्जियां और मौसमी फलों को उनकी डाइट में शामिल करें.

– बच्चे को भीड़-भाड़ वाली जगह मॉल, मल्टीप्लेक्स और बाज़ार ले जाने से बचें, ताकि बच्चा किसी तरह के संक्रमण का शिकार न हो.

– बच्चे में हैंडवॉश की आदत डेवलप करें. उन्हें यह बात समझा दें कि बाहर से आई चीज़ों को छूने के बाद हाथों को ज़रूर धोएं.

ये भी पढ़ें: क्या आप भी बच्चे की हर जिद पूरी करते हैं? जानिए इसके लॉन्ग टाइम एफेक्ट्स

– बच्चे नेल बाइटिंग करते हैं, उनकी यह आदत छुड़ाना बेहद ज़रूरी है, ताकि वे किसी भी संक्रमण की स्थिति में अपने हाथ या उंगलियों से मुंह व नाक छूने से बचे रहें.

– अगर घर पर अनवैक्सीनेटेड बच्चा है, तो घर पर जश्न के तौर-तरीके बदलें. बर्थडे या एनिवर्सरी के मौके पर भीड़ इकट्ठी करने के बजाय खास दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ डिजिटली कनेक्ट होकर हर मौके को सेलिब्रेट करें.

– वैकेशन मनाने के लिए फैमिली के साथ बाहर जाने का प्लान है, तो ऐसी जगहों को चुनें, जहां लोग पूरी तरह से वैक्सीनेटेड हो और जहां कोविड के मामले न बढ़ रहे हो.

– बच्चे के आउटडोर एक्टिविटीज़ को बंद न करें, बल्कि उनके साथ आप छत या पार्क में खेलें. इस दौरान बच्चे के सेफ्टी और सैनिटाइज़ेशन का पूरा रखें.

– परिवार का हर सदस्य अगर वैक्सीनेटेड हो, तो बच्चे को संक्रमण होने की आशंका कुछ हद तक कम हो जाती है. ऐसे में घर के सभी एलिजिबल सदस्य दोनों डोज़ के अलावा बूस्टर डोज़ लगवाने से न चूकें.

Tags: Lifestyle, Parenting, Parenting tips

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें