होम /न्यूज /जीवन शैली /क्या आपका बच्चा ज्यादा सोता है? ये 6 टिप्स आ सकते हैं काम

क्या आपका बच्चा ज्यादा सोता है? ये 6 टिप्स आ सकते हैं काम

बच्चे क्यों अधिक सोते हैं, Image-Canva

बच्चे क्यों अधिक सोते हैं, Image-Canva

Tips to reduce over Sleeping : छोटे बच्चे वैसे भी ज्यादा सोते हैं और उनके शरीर के लिए एक व्यक्ति के मुकाबले ज्यादा नींद ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    हाइलाइट्स

    कई बार केवल आलस की वजह से भी बच्चे ज्यादा सोते हैं.
    अपने बच्चे का एक रेगुलर स्लीप शेड्यूल बना लें.

    Tips to Reduce OverSleeping – अगर आपका बच्चा ज्यादा सोता है तो हो सकता है वह किसी बात से परेशान हो या किसी शारीरिक स्थिति से जूझ रहा हो. दरअसल ज्यादा सोना और कम सोना दोनों ही स्थिति बच्चे के लिए असुरक्षित होती हैं. हालांकि बच्चे चिंता मुक्त होते हैं और वह जब चाहें सो सकते हैं. अगर बच्चा सामान्य समय के मुकाबले एक या दो घंटे ज्यादा सो रहा है तो कोई बात नहीं. लेकिन पहले से डबल या फिर ज्यादा टाइम सोने लगा है तो हो सकता है इसके पीछे कोई वजह हो. इसलिए पेरेंट्स को सबसे पहले बच्चे से इस बारे में बात करना जरूरी है. इसके बाद भी अगर वह ज्यादा सोना जारी रख रहा है तो कुछ टिप्स काफी काम आ सकती हैं. आइए जानते हैं इन टिप्स के बारे में.

    इसे भी पढ़ेंः घर में लगाएं ये खास औषधीय पौधे, कई बीमारियों से रहेंगे दूर

    कोई स्वास्थ्य सम्बन्धी परेशानी
    हेल्थ लाइन के अनुसार सबसे पहले यह सुनिश्चित करें कि बच्चे के साथ कोई मेडिकल समस्या तो नहीं है, क्योंकि बहुत बार ऐसा होता है कि पीलिया या किसी तरह की इंफेक्शन के कारण भी काफी समय तक सोता रहता है.

    क्या करें
    -अपने बच्चे का एक रेगुलर स्लीप शेड्यूल बना लें. जिसमें उनके एक्स्ट्रा सोने पर उन्हें इस बात का लोभ दे सकते हैं कि समय से ज्यादा समय तक सोने पर उन्हें उनका मन पसंद गेम छोड़ना पड़ेगा.
    -इसके अलावा बच्चे के वजन पर भी ध्यान दें. अगर वह ओवर वेट हो रहा होगा तो भी उसे ज्यादा नींद और आलस आ सकता है.

    इसे भी पढ़ेंः जानें चाय को बार-बार गर्म करके क्यों नहीं पीना चाहिए? क्या है इसके पीछे का कारण

    कई बार केवल आलस की वजह से भी बच्चे उठने के बाद भी नहीं उठते हैं. इसलिए उन्हें सुबह-सुबह मॉर्निंग वॉक पर ले कर जाएं या फिर रोजाना उनसे थोड़ी बहुत एक्सरसाइज भी करवाएं.
    इन सब बातों को ध्यान में रखकर पेरेंट्स काफी हद तक बच्चे की ओवर थिंकिंग को कम कर सकते हैं.

    Tags: Lifestyle, Parenting tips

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें