होम /न्यूज /जीवन शैली /गुस्सैल बच्चों के व्यवहार को बदलने के लिए ये 5 टिप्स अपनाएं पैरेंट्स, जल्द आएगा सुधार

गुस्सैल बच्चों के व्यवहार को बदलने के लिए ये 5 टिप्स अपनाएं पैरेंट्स, जल्द आएगा सुधार

बच्चों को सुधारने के लिए आपको भी अपनी आदतें बदलनी होंगी. (Image- Canva)

बच्चों को सुधारने के लिए आपको भी अपनी आदतें बदलनी होंगी. (Image- Canva)

कई पैरेंट्स अपने बच्‍चों को बोर्डिंग स्‍कूल भेजने की वजह उनका गुस्‍सैल रवैया या खराब बर्ताव बताते हैं. हर बच्चे को हॉस् ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

मुश्किल समय में बच्‍चे पर अपना फ्रस्‍टेशन न निकालें.
उनकी बात को शांति से सुनें और जज करने से बचें.

Parenting Tips: कई घरों में बच्‍चों को अनुशासन में रखने के लिए माता पिता सख्‍ती दिखाते हैं और छोटी-छोटी बातों पर रोक-टोक करने लगते हैं. ऐसे में बच्‍चे चिड़चिड़े और जिद्दी होने लगते हैं. उम्र के साथ उनका बिहेव और एग्रेसिव होने लगता है. धीरे-धीरे बच्‍चे और पैरेंट्स के बीच कॉम्‍युनिकेशन गैप भी बढ़ने लगता है और समस्‍या बढ़ती चली जाती है. चाइल्‍ड माइंट इंस्‍टीट्यूट के मुताबिक, बच्‍चों को शांत करने और उनके एग्रेसिव बिहेवियर से बचाने के लिए सबसे अधिक मदद पैरेंट्स कर सकते हैं. बहुत से पैरेंट्स को इस बात का अंदाजा नहीं होता कि उनके मुंह से ऐसी बातें सुनकर बच्चे का व्यवहार और भी बिगड़ सकता है. आप खुद की आदतों में बदलाव लाकर बच्चे का व्यवहार सुधार सकते हैं.

 गुस्‍सैल बच्‍चों के व्यवहार को ऐसे बदलें

डाटने से बचें: मुश्किल तब आती है जब पैरेंट्स बच्चे पर फ्रस्‍टेशन निकाल देते हैं और छोटी सी गलती पर भी डांटकर या मार-पीट कर उन्‍हें शांत करने की कोशिश करते हैं. कई बार पैरेंट्स बच्‍चे को यह महसूस कराने लगते हैं कि उन्‍हें आपके साथ इमोशनल अटैचमेंट नहीं और उन्‍हें सुधारने के लिए उन्‍हें बोर्डिंग स्‍कूल भेज दिया जाएगा. आपका यह निर्णय बच्‍चे को और भी एग्रेसिव बना सकता है.

जबरदस्ती न करें: बच्चे को डांटकर या डराकर शांत करने का प्रयास न करें. जबरदस्‍ती करने के बजाय उनके इमोशन्स को समझने की कोशिश करें. दरअसल जब आपका बच्चा मन में किसी बात को दबाकर रखता है और बात माता पिता को नहीं बता पाता तो उसके अंदर गुस्सा बनने लगता है. ऐसे में उनसे जबरदस्‍ती करने के बजाय बात करने की कोशिश करें.

ये भी पढ़ें: पढ़ाई के बाद याद किया हुआ भूल जाते हैं बच्चे? पेरेंट्स अपनाएं ये तरीके

गुस्से को करें इग्‍नोर: अगर आप बच्चों के गुस्से को इग्‍नोर करें तो इससे उन्‍हें अपने बिहवियर में बदलाव लाने में मदद मिलेगी. जब बच्चा किसी चीज को लेने की जिद करे या रोए तो आप उसकी इस हरकत को नजरअंदाज करें. जब बच्‍चे को माता पिता का अटेंशन नहीं मिलेगा तो वो खुद ही चुप हो जाएगा.

हर बार कोसे नहींं: कई पैरेंटस बच्‍चों को हर बात पर बुरा भला कहने लगते हैं और हर बुरी आदत को लेकर किसी भी समय घर के माहौल को स्‍ट्रेस भरा बनाने लगते हैं. आप अगर बच्‍चे में बदलाव चाहते हैं तो अपनी इन आदतों में बदलाव लाएं.

ये भी पढ़ें: शिशु के कोमल बालों की देखभाल है ज़रूरी, ये टिप्स आजमाएं

सही तरीके से समझाएं: जब बच्‍चा शांत हो तो आप उसे प्‍यार से बिढ़ाएं और उसे गुस्सा करना और मां-बाप के साथ बदतमीजी करना ठीक व्यवहार नहीं है आदि सिखाएं. इसका फायदा बताएं और यह बताएं कि आप उन्‍हें कितना प्‍यार करते हैं.

Tags: Lifestyle, Parenting, Parenting tips

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें