Home /News /lifestyle /

preventions to be taken when child starts walking in hindi

बच्चा चलने लगे तब बढ़ जाती है पैरेंट्स की ज़िम्मेदारी, जानें इस समय कैसे करें उसकी देखभाल

बच्चों का पहला कदम उनके परिवार के लिए सबसे बड़ी खुशी का दिन होता है.उनकी खवाहिश होती है कि उनके बच्चे कब अपने पैरों पर खड़े होकर चलना शुरु करे.

बच्चों का पहला कदम उनके परिवार के लिए सबसे बड़ी खुशी का दिन होता है.उनकी खवाहिश होती है कि उनके बच्चे कब अपने पैरों पर खड़े होकर चलना शुरु करे.

बच्चा जब चलना शुरू करता है, तब यह अनुभव बच्चे के साथ-साथ पैरेंट्स के लिए भी बेहद नया होता है. पैरेंट्स उसकी हर एक्टिविटी पर खास ध्यान देते हैं. हालांकि बच्चा जब चलना शुरू कर दे, उस दौरान कुछ विशेष सावधानियों की ज़रूरत होती है. क्या है वो सावधानी आइए जानते हैं.

अधिक पढ़ें ...

Child care tips: किसी भी मां बाप के लिए बच्चे का पहला कदम एक यादगार पल होता है. इस पल का इंतज़ार हर माँ-बाप को होता है, जब उनका बच्चा चलना सीखे. इस दौरान कुछ ज़रूरी सावधानियों का पालन बेहद ज़रूरी हो जाता है. आज हम आपको बताते हैं कि बच्चा जब चलने की कोशिश करे, तो बच्चे की इस कोशिश को किस तरह आप बेहतर बना सकते हैं.

ये भी पढ़ें: Parenting Tips: छोटे बच्चों को सुलाते समय इन बातों का रखें ख्याल

कब चलना शुरू करेगा बच्चा?
ये सवाल सभी के दिमाग में घूमता रहता है. जब बच्चा 8 से 9 महीने का हो जाता है, तब उसके पैर उसके शरीर का भार सहने के लायक हो जाते हैं. यानि, इस उम्र में आने के बाद अगर बच्चे की मदद की जाए, तो वो अपने पैरों पर कुछ देर खड़ा रह सकेगा. हालांकि उसे सहारे की ज़रूरत होगी. वेरीवेलफैमिली के मुताबिक जब बच्चा चलने की कोशिश शुरू करता है, तब उसे खास ख्याल की ज़रूरत होती है. बच्चे को चोट न लग जाए. ध्यान रहे बच्चा पहले घुटनों के बल चलता है और उसके बाद धीरे-धीरे वह अपने पैरों के बल खड़ा होना शुरु करता है और चलने लगता है. तो जब बच्चा एक साल का हो जायेगा तब वो कुछ सहारे के जरिए चल सकेगा.

किन चीजों का रखना है खयाल?
•बच्चे को समय दें, उसे कदम बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित करें.
•कुछ खास खिलौने लाएं, जो उनको खड़े रहने में मदद करें.
•कपड़ो का खास खयाल रखें.
•धूल से बचाएं, कठोर सतह वाली जगहों पर न चलाएं.
•बच्चे को अकेला न छोड़ें.
•शुरुआत में फुटवियर ना पहनाएं.

ये भी पढ़ें: स्कूल जाने से घबराता है बच्चा तो कहीं इसकी वजह बुलिंग तो नहीं? यहां जानें

– उसे म्यूजिक सुनाएं, इससे उनके पैरों हाथों में हरकत होती है.
– बच्चे के शरीर की और पैरों की अच्छे से मालिश करें.
– बच्चे नकल बहुत करते हैं, तो उन्हें बच्चों के चलने और दौड़ने वाले वीडियो दिखाएं
– हर बच्चे के चलने का टाइम अलग होता है, इसलिए परेशान न हों.
– कोई शंका हो तो डॉक्टर से मिलें, खुद से बच्चे के साथ कोई प्रयोग न करें.

ऊपर यह बताए गए तरीकों को ध्यान में रखकर बच्चे को बेहतर माहौल दे सकेंगे, जिसमें बच्चा अच्छे से ग्रो कर सकेगा. पैरेंटिंग मुश्किल होती है, लेकिन यह समय आपको खुशियां देगी. बच्चे को हर दिन चलने के लिए प्रोत्साहित करें.

Tags: Lifestyle, Parenting tips

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर