होम /न्यूज /जीवन शैली /बच्चे को आता है बहुत अधिक गुस्सा? तुरंत शांत करने के लिए अपनाएं ये 7 उपाय

बच्चे को आता है बहुत अधिक गुस्सा? तुरंत शांत करने के लिए अपनाएं ये 7 उपाय

बच्चे को एंगर मैनेजमेंट के तरीके सिखाएं.

बच्चे को एंगर मैनेजमेंट के तरीके सिखाएं.

How To Calm Down An Angry Child : दरअसल बच्‍चों (Child) को अपने इमोशन (Emotion) को एक्‍सप्रेस करना नहीं आता जिस वजह से ...अधिक पढ़ें

How To Calm Down An Angry Child : बच्चे (Kids) बड़ों की अपेक्षा अधिक भावुक (Emotional) होते हैं. इसी वजह से उनकी भावनाएं आसानी से नजर आने लगती है. वह छोटी सी बात पर खुश हो जाते हैं, छोटी सी बात पर नाराज और छोटी सी बात पर गुस्‍सा (Angry) हो जाते हैं. दरअसल, बच्‍चों को अपने इमोशन्स को एक्‍सप्रेस करना नहीं आता जिस वजह से जब वे अपनी बात को बेहतर तरीके से नहीं समझा पाते तो वे या तो गुस्सा हो जाते हैं या रोने लगते हैं. अगर आपका बच्‍चा भी अधिक इमोशनल और बहुत अधिक गुस्‍सा करता है तो यह समझें कि जितना परेशान आप उसकी हरकत से हो रहे हैं उससे ज्‍यादा परेशान आपका बच्‍चा खुद के इमोशन से हो रहा है.

ऐसे में उसे कंफर्ट फील करना जरूरी है और अपनी भावनाओं को आसानी से व्‍यक्‍त करने देने के लिए सही वातावरण बनाना भी जरूरी है. तो आइए आज हम आपको बताते हैं कि अगर आपका बच्‍चा बहुत अधिक गुस्‍सा हो जाता है तो उसके गुस्‍से को तुरंत शांत कैसे किया जा सकता है.

अपनाएं ये तरीके

सिखाएं फीलिंग्स को एक्सप्रेस करना
जब बच्‍चे अपने मन की बात को सही तरीके से बता नहीं पाते तो वे आमतौर पर गुस्‍सैल हो जाते हैं. ऐसे में उसे मन की बातें शेयर करना सिखाएं. इसके लिए आप घर का माहौल ऐसा रखें कि वो बिना डरे अपनी बात को बता सके और आप पर भरोसा रखे कि आप उसकी बात को समझेंगे.

यह भी पढ़ें-
बचपन से ही बच्चों को सिखाएं Savings की अहमियत, ऐसे डालें आदत

 

शांत करने के तरीके अपनाएं
जब वे नाराज हों तो चीजों को फेंकने की बजाय उन्‍हें सिखाएं कि वे कुछ ऐसा करें जिससे उन्‍हें बेहतर महसूस हो. इसके लिए वे कलरिंग कर सकते हैं, बुक पढ़ सकते हैं या अपने फेवरेट खिलौनों से खेल सकते हैं. ऐसा करने से उनका दिमाग डिस्‍ट्रैक्‍ट होगा.

गुस्से को मैनेज करना सिखाएं
बच्‍चे को आप गुस्‍सा करने के नुकसान समझा सकते हैं और कुछ टिप्‍स दे सकते हैं जिनकी मदद से वे अपने गुस्‍से को कम कर सकें. एंगर मैनेजमेंट के तरीकों के बारे में भी सिखाने से बच्‍चा बेहतर तरीके से खुद को शांत रखने का प्रयास करेगा.  मसलन, अधिक गुस्सा आने पर गहरी सांस लें, ठंडा पानी पियें, 10 तक गिनें आदि.

कुछ मीठी चीज खानें दें
बच्‍चा अगर बहुत अधिक गुस्‍से में है तो उसे आप कुछ मीठी चीज खानें दें. आप उसे उसकी फेवरेट कैंडी या टॉफी दे सकते हैं.

गले लगाएं
बच्‍चोंं का दिल बहुत नाजुक होता है. थोड़ा सा गले लगाने पर उनका इमोशन बदल जाता है और वे बेहतर महसूस करते हैं.  ऐसे में आप उनकी बात को पूरी तरह से सुनें और समझने का प्रयास करें.

सॉरी बोलना सिखाएं
बाद में आप उन्हें सिखाएं कि गुस्‍से में गलती होने पर सॉरी बोलना चाहिए. यही नहीं, उन्हें ये बताएं कि अगर कभी किसी से लड़ाई हो जाए तो बाद में सॉरी जरूर बोलना चाहिए. ऐसा करने से बच्‍चे को दूसरों के प्रति अपनी जिम्मेदारी समझ आती है.

यह भी पढ़ें-
Parenting Tips: आपके बच्चे की पीठ में दर्द तो नहीं? इन चीजों को रूटीन में शामिल कर दे सकते हैं राहत

गुस्‍से के नुकसान को बताएं
बच्‍चों को अगर ये पता हो कि ऐसा व्‍यवहार करने पर उन्हें हानि हो सकती है तो वो गुस्‍सा करने की हैबिट धीरे-धीरे छोड़ने की कोशिश करेंगे और अपनी बात को प्‍यार से समझाने की कोशिश करेंगे. लेकिन यह ध्‍यान रखें कि आप उन्हें डांटने की बजाय ये बताएं कि उनके फेकने से टूटे खिलौनों को अब ठीक कौन करेगा क्‍योंकि ऐसा खिलौना दोबारा नहीं खरीदा जा सकता.

Tags: Lifestyle, Parenting

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें