होम /न्यूज /जीवन शैली /

Parenting Tips: बच्‍चे ने चलना शुरू कर दिया है तो हर वक्‍त इन 6 बातों का रखें ख्‍याल, नहीं होगी परेशानी

Parenting Tips: बच्‍चे ने चलना शुरू कर दिया है तो हर वक्‍त इन 6 बातों का रखें ख्‍याल, नहीं होगी परेशानी

बच्चे को चलाने के लिए हमेशा वॉकर इस्तेमाल का ना करें. image: Canva

बच्चे को चलाने के लिए हमेशा वॉकर इस्तेमाल का ना करें. image: Canva

Parenting Tips: कई पेरेंट्स बच्चे (Toddler) को चलाने (Walking) के लिए वॉकर का सहारा लेते हैं. जबकि वॉकर कई बार बड़े एक्सिडेंट की वजह बन जाता है. बेहतर होगा कि आप उसे वॉकर की बजाय खुद से चलने के लिए प्रात्‍साहित करें. ऐसा करने से वे जल्‍दी चलना सीखेंगे. कई पेरेंट्स (Parenting) गिरने के डर से बच्‍चों को जमीन पर चलने ही नहीं देते जबकि कुछ पेरेंट्स ऐसे होते हैं जो उन्‍हें हर वक्‍त सपोर्ट के साथ ही चलाना बेहतर समझते हैं. कई बार बच्‍चे (Baby) चलने और दौड़ने की कोशिश में गिर सकते है और बड़ी दुर्घटना तक हो सकती है. यहां हम आपको बताते हैं कि आप बच्‍चे को चलने के लिए किस तरह प्रोत्‍साहित करें और किन बातों को ध्‍यान में रखकर दुर्घटनाओं को दूर रखें.

अधिक पढ़ें ...

Parenting Tips: नन्‍हें बच्‍चे (Toddler) जब चलना (walk) शुरू करते हैं तो ये बताता है कि आपके बच्‍चे का शारीरिक और मानसिक विकास बेहतर तरीके से हो रहा है. ऐसे में बच्‍चे के बढ़ते कदम में रुकावट ना आ जाए इसके लिए कुछ बातों (Tips) को ध्‍यान में रखना जरूरी होता है. कई पेरेंट्स (Parenting) गिरने के डर से बच्‍चों को जमीन पर चलने ही नहीं देते जबकि कुछ पेरेंट्स ऐसे होते हैं जो उन्‍हें हर वक्‍त सपोर्ट के साथ ही चलाना बेहतर समझते हैं.

कई बार बच्‍चे चलने और दौड़ने की कोशिश में गिर सकते है और बड़ी दुर्घटना तक हो सकती है. यहां हम आपको बता रहे हैं कि अगर आपका बच्‍चा अपने नन्‍हें पैरों पर खड़ा होने लगा है और चलने की कोशिश कर रहा है तो आप उसके इस प्रयास में किस तरह मदद कर सकते हैं और दुर्घटनाओं को दूर रखने के लिए किन बातों का ख्‍याल रख सकते हैं.

 इन बातों का रखें ध्यान

वॉकर का ना करें इस्‍तेमाल

कई पेरेंट्स बच्चे को चलाने के लिए वॉकर का सहारा लेते हैं. जबकि वॉकर कई बार बड़े हादसे की वजह बन जाता है. यही नहीं, कई बार बच्‍चों को वॉकर की आदत हो जाती है और वे उसके बिना चलना नहीं सीख पाते. ऐसे में बेहतर होगा कि आप उसे वॉकर की बजाय खुद से चलने के लिए प्रात्‍साहित करें. ऐसा करने से वे जल्‍दी चलना सीखेंगे.

इसे भी पढ़ें : छोटे बच्‍चों को जरूर पिलाएं मूंग दाल का पानी, मिलेगा चमत्कारी फायदा

नॉन स्लिपरी कारपेट का करें इस्तेमाल

अगर बच्चा चलने की कोशिश कर रहा है तो ऐसे में आप जमीन का कारपेट बिछाएं. ऐसा करने से बच्चे को कोई चोट नहीं लगेगी और वह अपने पैर पर ज्यादा दबाव महसूस नहीं करेंगे. लेकिन इस बात का ध्‍यान रखें कि कारपेट नॉन स्लिपरी हो. जब बच्चा चलना शुरू करता है तो ऐसे में शरीर का सारा वजन पैरों पर महसूस करता है, जिसके कारण वे अनचाहा दबाव महसूस कर सकता है.

बच्चे के चलने में करें मदद

अगर आपका बच्चा खुद से चलने की कोशिश कर रहा है तो आप अपनी उंगली का सहारा दें और उसे आगे बढ़ने में मदद करें. ऐसा करने से आपका बच्चा चलने के लिए ना केवल प्रेरित होगा बल्कि वह खुद से चलने की कोशिश भी करेगा.

इसे भी पढ़ेंः पैरेंटिंग में बढ़ी पिता की भागीदारीअब बच्चों के साथ मजबूत बॉन्डिंग चाहते हैं फादर

 

तेल मालिश जरूरी  

जब बच्चा खुद से चलने की कोशिश करता है तो शुरुआत में वह अपने शरीर का पूरा वजन पैरों पर डाल देता है. ऐसे में उसकी मांसपेशियों को मजबूत बनाना जरूरी है. मांसपेशियों को मजबूत बनाने में दिन में दो बार तेल की मालिश जरूर करें.

कभी कभी करें इग्‍नोर

अगर बच्चा खुद से चलने की कोशिश कर रहा है तो ऐसे में आप हर वक्‍त उसकी मदद ना करें. कभी कभी उसे खुद से खड़े होने लें और बढ़ने की कोशिश करने दें.

प्रोत्‍साहित करें

आप बच्‍चे को हर वक्‍त चलने के लिए प्रोत्‍साहित करें. घर में किसी कोने में एक खिलौना रखें और बच्चे से खिलौने को लाने के लिए कहें. आगे बढ़ने वाले खिलौनें खरीदें जिससे वो खिलौने को लेने के लिए आगे बढ़ने का प्रयास करे. ऐसा करने से बच्‍चे तेजी से चलना सीखते हैं.

Tags: Baby Care, Lifestyle, Parenting tips

अगली ख़बर