Home /News /lifestyle /

parenting tips how to make bonding strong of siblings mt

अगर रोज होती है भाई-बहन की लड़ाई तो पेरेंट्स इन तरीकों से बढ़ाएं दोनों में प्यार

बच्चों को साथ में गेम्स खेलने को कहें.

बच्चों को साथ में गेम्स खेलने को कहें.

वैसे तो भाई-बहन का रिश्ता काफी खास होता है. उनकी रोज-रोज की नोक झोंक और तकरार में भी कहीं न कहीं प्यार छुपा रहता है. मगर, कुछ भाई-बहनों के झगड़े कई बार माता-पिता के लिए परेशानी का कारण बन जाते हैं. वहीं अगर बच्चे बड़ें हैं, तो उन्हें समझाना पेरेंट्स के लिए किसी टेढ़ी खीर से कम नहीं होता है.

अधिक पढ़ें ...
न करें बच्चों की तुलना कुछ पेरेंट्स अक्सर अपने एक बच्चे की अच्छाईयों की तुलना दूसरे बच्चे से करने लगते हैं. ऐसे में बच्चों के मन में फर्क पैदा होने लगने लगता है और बच्चे आपस में चिढ़ना शुरू कर देते हैं. इसलिए कभी भी बच्चों की आपस में तुलना करने से बचें. साथ ही बच्चा बड़ा हो या छोटा, दोनों को समान प्राथमिकता देने की कोशिश करें.

न करें बच्चों की तुलना: कुछ पेरेंट्स अक्सर अपने एक बच्चे की अच्छाईयों की तुलना दूसरे बच्चे से करने लगते हैं. ऐसे में बच्चों के मन में फर्क पैदा होने लगने लगता है और बच्चे आपस में चिढ़ना शुरू कर देते हैं. इसलिए कभी भी बच्चों की आपस में तुलना करने से बचें. साथ ही बच्चा बड़ा हो या छोटा, दोनों को समान प्राथमिकता देने की कोशिश करें.
टीम वर्क सिखाएं : बच्चों के बीच में प्यार बढ़ाने का ये सबसे कारगर तरीका है. इसके लिए पेरेंट्स बच्चों को पेंटिंग, प्रोजेक्ट या किसी अन्य एक्टिविटी पर एक-साथ काम करने की सलाह दें. इससे बच्चे टीम वर्क में मिल-जुल कर काम करने के लिए प्रेरित होने लगेंगे.

टीम वर्क सिखाएं : बच्चों के बीच में प्यार बढ़ाने का ये सबसे कारगर तरीका है. इसके लिए पेरेंट्स बच्चों को पेंटिंग, प्रोजेक्ट या किसी अन्य एक्टिविटी पर एक-साथ काम करने की सलाह दें. इससे बच्चे टीम वर्क में मिल-जुल कर काम करने के लिए प्रेरित होने लगेंगे.
गेम्स खेलने को कहें: बच्चों की बॉन्डिंग स्ट्रांग करने के लिए उन्हें साथ में क्रिकेट, कैरम, लूडो और टेबल टैनिस जैसे खेल खेलने की सलाह दें. इससे बच्चे एक-दूसरे के अच्छे दोस्त बन सकेंगे और उनका रिश्ता खुद-ब-खुद मजबूत होने लगेगा.

गेम्स खेलने को कहें: बच्चों की बॉन्डिंग स्ट्रांग करने के लिए उन्हें साथ में क्रिकेट, कैरम, लूडो और टेबल टैनिस जैसे खेल खेलने की सलाह दें. इससे बच्चे एक-दूसरे के अच्छे दोस्त बन सकेंगे और उनका रिश्ता खुद-ब-खुद मजबूत होने लगेगा.
केयर करने की दें सीख: बच्चों को बचपन से ही एक-दूसरे की केयर करना सिखाएं. साथ ही उन्हें छोटे-बड़े का फर्क समझाते हुए सही व्यवहार करने की सीख दें. इससे घर के बड़े बच्चे अपने छोटे भाई या बहन की देखभाल करना अपना फर्ज समझेंगे. वहीं छोटे बच्चे भी अपने बड़े भाई-बहन की हर बात मानने लगेंगे.

केयर करने की दें सीख: बच्चों को बचपन से ही एक-दूसरे की केयर करना सिखाएं. साथ ही उन्हें छोटे-बड़े का फर्क समझाते हुए सही व्यवहार करने की सीख दें. इससे घर के बड़े बच्चे अपने छोटे भाई या बहन की देखभाल करना अपना फर्ज समझेंगे. वहीं छोटे बच्चे भी अपने बड़े भाई-बहन की हर बात मानने लगेंगे.
हेल्प करना है जरूरी: बच्चों के बीच में प्यार बढ़ाने के लिए उन्हें एक-दूसरे की मदद करने की सलाह दें. स्कूल के होमवर्क से लेकर कमरे की सफाई और घर से छोटे-बड़े कामों में बच्चों को आपस में मिलकर हर काम करना सिखाएं.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

हेल्प करना है जरूरी: बच्चों के बीच में प्यार बढ़ाने के लिए उन्हें एक-दूसरे की मदद करने की सलाह दें. स्कूल के होमवर्क से लेकर कमरे की सफाई और घर से छोटे-बड़े कामों में बच्चों को आपस में मिलकर हर काम करना सिखाएं.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Child Care, Lifestyle, Parenting

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर