Home /News /lifestyle /

parenting tips how to teach children to be kind to animals pra

जानवरों के प्रति एग्रेसिव हैं बच्‍चे, तो उन्‍हें इस तरह बनाएं ‘ऐनिमल लवर’

अगर आपके घर में पालतू जानवर हैं, तो आप बच्‍चों को उनकी देखभाल की ज़िम्‍मेदारी दें. Image : Canva

अगर आपके घर में पालतू जानवर हैं, तो आप बच्‍चों को उनकी देखभाल की ज़िम्‍मेदारी दें. Image : Canva

जब आप जानवरों से प्‍यार करते हैं, तो बच्‍चों के मन में उनके लिए दया की भावना जागती है. जब आप जानवरों को खिलाते-पिलाते हैं, तो बच्‍चे भी दूसरों का ख्‍याल रखना सीखते हैं और जब आप किसी राह चलते जानवर के साथ सहानुभूति दिखाते हैं, तो बच्‍चों के मन पर इसका भावनात्‍मक और सकारात्‍मक असर पड़ता है.

अधिक पढ़ें ...

Parenting Tips : बच्‍चे जो देखते हैं वो ही सीखते भी हैं. ऐसे में कई बार हम बच्‍चों के सामने ही रोड चलते जानवरों के साथ असभ्‍यता करते हैं या उन्‍हें मारने, दुत्‍कारने लगते हैं. लेकिन, आपके इस व्‍यवहार का असर बच्‍चों पर भी गलत ही पड़ता है. जब आप जानवरों से प्‍यार करते हैं, तो बच्‍चों के मन में उनके लिए दया की भावना जागती है. जब आप उन्हें खिलाते-पिलाते हैं, तो बच्‍चे भी दूसरों का ख्‍याल रखना सीखते हैं और जब आप किसी राह चलते जानवर के साथ सहानुभूति दिखाते हैं, तो बच्‍चों के मन पर इसका भावनात्‍मक और सकारात्‍मक असर पड़ता है. ऐसे में बच्‍चों को दूसरों के प्रति परवाह करना और ज़िम्‍मेदार बनना सिखाना है, तो आप जानवरों के साथ अपना व्‍यवहार अच्‍छा रखें. आपको देखकर या जानवरों को लेकर आपकी सोच को सुनकर बच्‍चों में भी जानवरों के प्रति प्‍यार और केयर की भावना जागती है. इस तरह वे पहले की तुलना में अधिक शांत, दयालू और खुशहाल बनते हैं. आइए आज हम आपको बताते हैं कि आप जानवरों के प्रति बच्‍चों को दयालू किस तरह से बना सकते हैं.

इस तरह बनाएं जानवरों के प्रति बच्‍चों को दयालू

ज़ू जाएं
बच्‍चों को जब तक जानवरों के बारे में कई बातें पता नहीं चलेंगी तब तक उनका जानवरों के प्रति इंट्रेस भी नहीं जगेगा. इसके लिए आप उन्‍हें ज़ू ले जा सकते  हैं. यहां आप बच्‍चों को एनिमल बिहेवियर की जानकारी दे सकते हैं और नेचर में उनके महत्‍व को समझा सकते हैं.

जानवरों के देखभाल की दें जिम्‍मेदारी
अगर आपके घर में पालतू जानवर हैं, तो आप बच्‍चों को उनकी देखभाल की जिम्‍मेदारी दें. मसलन, उनका खाना, पानी, नहाना, वॉक पर ले जाना, उनकी ज़रूरत और उन्‍हें प्‍यार करना आदि. जी हां, जब बच्‍चे उनकी देखभाल खुद करेंगे तो उनमें जिम्‍मेदारी निभाने की भावना भी जगेगी.

इसे भी पढ़ें : समर वेकेशन में बच्चों को क्रिएटिव तरीके से रखें बिजी, छुट्टियों को यादगार बनाने के लिए अपनाएं ये बेस्ट 6 तरीके

वन्‍य जीवन या अभ्‍यारण्‍य की सैर
यहां आकर बच्‍चों को पता चलेगा कि जानवरों की भी अपनी दुनिया है. उन्‍हें महसूस होगा कि जानवरों के लिए सबसे अच्छा वातावरण बंधा रहना या कैद में रहना नही, आजाद रहना और अपनी मर्जी से जीना है. यह बच्चों के लिए एक आदर्श शैक्षिक अनुभव हो सकता है.

किताबें या फिल्‍म दिखाएं
जानवरों से रिलेटेड कई कहानियां और फिल्‍में आ चुकी हैं, जो बहुत ही मजेदार भी हैं और शिक्षाप्रद भी. इन फिल्‍मों और कहानियों को पढ़कर बच्‍चों के मन में जानवरों की भावनाओं और उनकी इच्‍छाओं का एहसास होगा.

एनिमल शेल्टर होम ले जाएं
बच्‍चों को उनके जन्‍मदिन या किसी खास मौके पर जानवरों के शेल्‍टर होम ले जा सकते हैं और उनके लिए कुछ काम करने का मौका दे सकते हैं. यहां उनके मन में जानवरों के हालात और उनके प्रति लोगों के अमानवीय व्‍यवहार को देखने और एहसास करने का मौका मिलेगा. लेकिन साथ ही वे ये भी अनुभव कर सकेंगे कि दुनिया में कई लोग हैं जो इन मूक जानवरों की सेवा में दिन रात मेहनत कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें-
आपका बच्चा चबाता है नाखूनये तरीके करेंगे आदत छुड़वाने में मदद

ये काम भी करें
अगर कोई जानवर या पक्षी चोटिल दिखे तो उसकी सहायता करें या किसी की सहायता मांगें.
कभी भी जानवर को किसी के कहने या मजे के लिए परेशान न करें.
अगर आप किसी जानवर को भूखा देखते हैं तो उसको खाने के लिए कुछ दें.
घर में अधिक खाना बच जाता है तो उसे फेंकने के बजाय किसी गाय, भैंस, कुत्ते आदि को खिलाएं.
घर में एक ब्रेड या रोटी किसी जानवर के लिए रखें. ये रोटी बच्‍चे के हाथ से एक या अधिक जानवर को रोज खिलाने के लिए दें.

Tags: Lifestyle, Parenting, Parenting tips

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर