होम /न्यूज /जीवन शैली /बच्चों की चोरी करने की आदत है तो डांटे-मारें नहीं, इस तरह छुड़ाएं

बच्चों की चोरी करने की आदत है तो डांटे-मारें नहीं, इस तरह छुड़ाएं

बच्चे का मन बिना किसी कारण के बार-बार चोरी करने का करता है.

बच्चे का मन बिना किसी कारण के बार-बार चोरी करने का करता है.

Bachcho Me Chori ki Adat: बच्चों में चोरी करने की आदत को क्लेप्टोमेनिया (Kleptomania) कहते हैं. यह एक मानसिक विकार है ज ...अधिक पढ़ें

Bachcho Me Chori ki Adat: आपने बच्चों में अक्सर चोरी करने की आदत (Habit) देखी होगी. जो एक आम समस्या है. छोटी उम्र में कई ऐसे बच्चे होते हैं जो छोटे-मोटे सामान की चोरी करते हैं, लेकिन इसकी वजह से कई बार पेरेंट्स (Parents) को काफी शर्मिंदगी का सामना करना पड़ता है. बच्चों में चोरी करने की आदत को क्लेप्टोमेनिया (Kleptomania) कहते हैं. यह एक मानसिक विकार है जिसमें बच्चे का मन बिना किसी कारण के बार-बार चोरी करने का करता है, और चोरी करने के बाद बच्चे को खुशी महसूस होती है. हेल्थलाइन की खबर के अनुसार अगर आपके बच्चे के साथ भी यह समस्या है तो उसे मारे या डांटे नहीं बल्कि उसकी वजह जानने की कोशिश करें और कुछ आसान टिप्स फॉलो कर इस आदत को छुड़ाने का प्रयास करें. जिससे बच्चों की यह बुरी आदत समय रहते छूट जाए.

क्या है क्लेप्टोमेनिया
क्लेप्टोमेनिया 1 मानसिक विकार है या फिर यह एक तरह की बीमारी होती है. जिसमें बच्चों का मन किसी तरह के स्ट्रेस में आकर या फिर हीन भावना का शिकार होकर चोरी करने का करता है. यह चोरी बिना किसी कारण, बदले की भवना से, गुस्सा निकालने के मकसद से या फिर किसी की मदद करने के लिए की जाती है, और चोरी करने के बाद उनके अंदर खुशी का भाव पैदा होता है. हालांकि इनका चोरी करने का दायरा बहुत बड़ा नहीं होता है. यह वह चीज चुराते हैं जिनकी बहुत ज्यादा जरूरत नहीं होती है.

यह भी पढ़ें – बच्चों की नहीं बढ़ रही Height? इन सुपर फूड्स की ले सकते हैं मदद

पेरेंट्स उन्हें डांटे या मारे नहीं
जब भी आपको पता चलता है कि आपका बच्चा चोरी करने लगा है, तो उसे डांटने या मारने की बजाय सही-गलत में अंतर करना सिखाए और समझाएं की चोरी करना एक बुरी आदत है. अपने बच्चे से बात करें और जाने कि वह चोरी क्यों करता है. अगर उसको किसी सामान की जरूरत है तो वह आपसे आकर कहे. यह बात आप उसको प्यार से समझाएं, क्योंकि बच्चों में इतनी समझ नहीं होती है कि सही क्या है और गलत क्या है. आप ही उसको सही गलत के बारे में जानकारी दें और उस पर गुस्सा होने की बजाय उसे प्यार से समझाएं.

यह भी पढ़ें – कहीं आप भी तो नहीं करते ओवर-पेरेंटिंग? बच्चे के मेंटल हेल्‍थ पर पड़ता है गलत असर

क्लेप्टोमेनिया के लक्षण
बदले की भावना से चोरी करना.
बिना किसी जरूरत के बार-बार चोरी करना.
चोरी करने के बाद खुश होना.
किसी की मदद के लिए बिना सोचे-समझे चोरी करना.
चोरी करने के बाद पकड़े जाने का डर और शर्म महसूस करना.

क्या है इसका इलाज
क्लेप्टोमेनिया में साइकोथेरेपी और काउंसलिंग के जरिए बच्चों का इलाज संभव है. इसमें उस विकार की पहचान की जाती है, जिसकी वजह से बच्चा बार-बार चोरी करता है. जैसे ही बच्चों में इस विकार की पहचान होती है साइकोथेरेपी और काउंसलिंग के जरिए इसे आसानी से दूर किया जा सकता है.

Tags: Lifestyle, Parenting, Relationship

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें