Parenting Tips: बचपन से ही डालें बचत करने की आदत, अपनाएं ये तरीके

बचपन से बचत की आदत भविष्‍य को बेहतर बनाएगी.
बचपन से बचत की आदत भविष्‍य को बेहतर बनाएगी.

अगर बच्चों (Childrens) में बचत करने की आदत होगी, तो भविष्‍य (Future) में उन्‍हें दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ेगा.

  • Share this:
बचपन से ही कुछ ऐसी बातें सिखाई जानी चाहिए, ताकि उम्र बढ़ने के साथ ही बच्‍चों (Childrens)
में अच्‍छी आदतें शामिल हो जाएं. इसी तरह की एक आदत है रुपयों की बचत (Saving Money) करना और फिजूलखर्ची (Extravagance) से बचना. बचपन से ही विकसित होने वाली इस तरह की आदतें बड़े होने पर जीवन (Life) में काफी काम आती हैं और एक बेहतर जीवन जीने के लिए जरूरी हैं. अगर बच्चों में बचत करने की आदत होगी, तो भविष्‍य (Future) में उन्‍हें दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ेगा. आइए जानें कि बच्‍चों को खेल-खेल में और बड़ी आसानी से किस तरह बचत करना सिखाया जा सकता है.

इसके लिए जरूरी है कि बड़े या परिवार के लोग पहले अपनी आदतों में सुधार करें, क्‍योंकि अगर बड़ों में फिजूलखर्ची की आदत है, तो बच्‍चे भी उन्‍हीं को देख कर सीखेंगे. इसके बाद बच्‍चों को बचत की अहमियत बताएं और उन्‍हें फिजूलखर्ची से दूर रहने की बात समझाएं. इस मामले में बच्‍चों की जिद को नजरअंदाज करें और उन्‍हें गैरजरूरी चीजों को खरीद कर रुपयों की बर्बादी से रोकें. धीरे-धीरे बच्‍चों की इस तरह की आदत होने लगेगी और वह फिजूलखर्ची से खुद ही बचने लगेंगे.

बच्‍चों को बताएं कि आप पैसा उन्‍हीं के भविष्‍य के लिए कमा रहे हैं. पैसा बहुत मेहनत से कमाया जाता है और इसे फिजूल कामों या बेकार की चीजों को खरीद कर बर्बाद नहीं करना चाहिए. उन्‍हें रुपये का महत्‍व समझाएं. मगर इस तरह नहीं कि वे स्‍वार्थी होने लगें.
ये भी पढ़ें - Parenting Tips: बच्‍चों की नाखून चबाने की आदत होगी दूर, अपनाएं ये तरीके



अक्‍सर बचपन में आदत होती है कि बच्‍चे उन रुपयों को संभाल कर रख लेते हैं जो उन्‍हें कोई बड़ा किसी खास मौके आदि पर देता है. बच्‍चों की इस आदत को प्रोत्‍साहित करें और उनमें रुपये जोड़ने की आदत को बढ़ावा दें. इसके लिए उन्‍हें प्‍यारी सी गुल्लक भी खरीद कर दें. नई गुल्‍लक और रुपये इकट्ठे होने के उत्‍साह में वे बचत करना सीखने लगेंगे.

आज कल तो कुछ स्‍कूलों की ओर से भी बैंक अकाउंट खुलवाए जाते हैं और ज्‍वाइंट बैंक अकाउंट की भी सुविधा है. इसका फायदा उ ठाएं और अपने बच्‍चों का सेविंग अकाउंट खुलवा दें. बच्‍चे खेल-खेल में रुपयों की बचत करना सीख जाएंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज