होम /न्यूज /जीवन शैली /

Parenting Tips: छोटे बच्चों को सुलाते समय इन बातों का रखें ख्याल

Parenting Tips: छोटे बच्चों को सुलाते समय इन बातों का रखें ख्याल

छोटे बच्चे को अपने साथ ही सुलाएं.

छोटे बच्चे को अपने साथ ही सुलाएं.

Parenting Tips: सेहतमंद (Healthy) रहने के लिए नींद पूरी करना काफी जरूरी होता है. बच्चे भी इस बात से परे नहीं हैं. भरपूर नींद बच्चों की सेहत दुरुस्त रखने के साथ-साथ उनके विकास में भी बेहद मददगार होती है. हालांकि कुछ लोग जानकारी के अभाव में बच्चों को सुलाते समय छोटी-छोटी बातों को नजरअंदाज (Ignore) कर देते हैं. जिसका खामियाजा बच्चों की हेल्थ को चुकाना पड़ता है. इसलिए बच्चों (Babies) को सुलाते समय बेड से लेकर कमरे के तापमान तक का खास ख्याल रखना आवश्यक हो जाता है.

अधिक पढ़ें ...

Parenting Tips:  एक हेल्दी लाइफस्टाइल (Lifestyle) एन्जॉय करने के लिए भरपूर नींद लेना बेहद जरूरी माना जाता है. खासकर बच्चों के लिए नींद (Sleep) पूरी करना काफी आवश्यक होता है. क्योंकि नींद बच्चों के माइंड को फ्रेश करने के साथ-साथ दिमाग के विकास में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. साथ ही भरपूर नींद लेने से बॉडी का एनर्जी लेवल भी मेंटेन रहता है. हालांकि ज्यादातर लोग बच्चों को सुलाते समय कुछ खास बातों को नजरअंदाज कर देते हैं. जिसका असर बच्चों की नींद के अलावा उनकी सेहत (Health) और विकास पर भी पड़ने लगता है

दरअसल जानकारों की मानें तो जहां एक नॉर्मल इंसान को 6-8 घंटे की नींद लेनी चाहिए. वहीं बच्चों के लिए कम से कम 9-10 घंटों की नींद लेना जरूरी होता है. इसी के साथ बच्चों को सुलाते समय कुछ एहतियात बरतना भी बेहद आवश्यक हो जाता है. तो आइए जानते हैं कि बच्चों को सुलाते समय किन बातों का खास ख्याल रखना चाहिए.

कम्फर्टेबल गद्दों का करें चुनाव

बचपन में अक्सर बच्चों की स्किन मुलायम होने के साथ-साथ हड्डियां भी काफी नाज़ुक होती हैं. ऐसे में पतले या कड़े गद्दे पर सुलाने से खुजली और रैशेज जैसी स्किन प्रॉब्लम्स देखने को मिल सकती हैं. साथ ही इससे हड्डियों पर भी बुरा असर पड़ता है. इसलिए बच्चों को सुलाने के लिए आरामदायक गद्दे चुने और बिछाने के लिए वॉटरप्रूफ शीट का ही इस्तेमाल करें.

ये भी पढ़ें: बच्चों की भूख बढ़ाने के लिए अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

चेहरा ढकनें  से बचें

कुछ लोग बच्चों की सुरक्षा के लिए उन्हें सुलाने के बाद पूरी तरह से कवर कर देते हैं. लेकिन आपको ऐसा करने से बचना चाहिए. इससे बच्चों को सांस लेने में काफी तकलीफ होने लगती है. वहीं भारी चीज से कवर करने के चलते बच्चे करवट भी नहीं ले पाते हैं और उनकी नींद टूट जाती है. इसके साथ ही सर्दियों में बच्चों के कमरे की खिड़की, दरवाजे बंद रखने की कोशिश न करें और बच्चों के सोते समय रूम में वॉर्मर का इस्तेमाल न करें. इससे उन्हें सांस लेने में दिक्कत होने लगती है.

बच्चों को अपने साथ ही सुलाएं

आजकल के दौर में बच्चों को अलग कमरे में सुलाना एक ट्रेंड बन गया है. लेकिन अगर आपका बच्चा छोटा है, तो उसे अकेले न सुलाएं. बच्चों को अपने साथ ही कमरे में सुलाने की कोशिश करें. अगर आप चाहें तो अपने कमरे में पालने के अंदर भी बच्चे को सुला सकते हैं.

भूलकर भी न करें धूम्रपान

इस बात से सभी वाकिफ होते हैं कि स्मोकिंग से जान का खतरा होता है. हालांकि बच्चों को स्मोकिंग का धुआं ज्यादा नुकसान पहुंचा सकता है. इसलिए बच्चों के कमरे में या फिर बच्चों के आस-पास बैठ कर धूम्रपान न करें भले ही बच्चा सो ही क्यों न रहा हो.

ये भी पढ़ें: Parenting Tips: बच्चों के सिर में हो गई है डेंड्रफ, तो ये 2 चीजें देंगी राहत

बच्चों को बेड पर ही सुलाएं

कई लोग अक्सर काम की जल्दबाजी में बच्चों को सोते समय सोफा या फिर आर्मचेयर पर लेटा देते हैं. लेकिन इससे बच्चों के गिरने का खतरा बढ़ जाता है. यही कारण है कि आपको बच्चों को बेड पर ही सुलाना चाहिए और उनके आस-पास कुशन लगाना न भूलें.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Child Care, Lifestyle, Parenting

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर