Home /News /lifestyle /

Parenting Tips: दूसरे बच्‍चों से अपने बच्‍चों की तुलना भूलकर भी न करें, हो सकता है नुकसान

Parenting Tips: दूसरे बच्‍चों से अपने बच्‍चों की तुलना भूलकर भी न करें, हो सकता है नुकसान

हर बच्‍चे का विकास उसके आसपास के माहौल के अनुसार होता है. Image- Shutterstock

हर बच्‍चे का विकास उसके आसपास के माहौल के अनुसार होता है. Image- Shutterstock

Parenting Tips: अगर आप भी अपने बच्‍चों (Child) की तुलना (Compare) दूसरे बच्‍चों से करते हैं तो जरा संभल जाइए. इसका खामियाजा आपको बाद में भुगतना पड़ सकता है.

    Good Parenting Tips: माता-पिता अपने बच्‍चों में अपना भविष्‍य देखते हैं. कई बार अपने सपनों को बच्‍चों के माध्‍यम से पूरा करना चाहते हैं. ऐसे में अगर बच्‍चा (Child) दूसरों से किसी भी चीज में कम रह जाए तो कई पेरेंट्स की चिंता बढ़ने लगती है, जिससे वह आवेग में आ कर बच्‍चों की तुलना करने और उन पर हर वक्‍त दबाव बनाने लगते हैं लेकिन आपको बता दें कि आपकी यह कोशिश नाकाम ही रहेगी. अगर आप हर बात पर बच्‍चों की तुलना (Compare) करेंगे तो आप भी संतुष्‍ट नहीं रहेंगे और बच्‍चे के अंदर भी निगेटिव भावनाएं जन्‍म लेने लगेंगी जो आगे चलकर आपके लिए समस्‍या बन सकती हैं. ऐसे में आपको यह जानना जरूरी है कि कभी भी दो बच्‍चे एक जैसे नहीं होते और तुलना करने से आप अपने बच्‍चों की खूबियों को भी संजो नहीं पाएंगे.

    खुद को रहें सकारात्‍मक

    कई बार माता-पिता को लगता है कि अगर वो दूसरों से अपने बच्चों की तुलना करेंगे तो उनके बच्चे जल्‍दी सीख जाएंगे लेकिन ऐसा नहीं होता. यह आपकी गुड पेरेंटिंग (Good Parenting) पर निर्भर करता है कि आप उसे किस तरह चीजों के बारे में सोचना सिखाते हैं. तो एक बेहतर पेरेंट बनने के लिए खुद को सकारात्‍मक बनाना बहुत जरूरी है.

    तुलना गलत बात

    हर बच्‍चे का विकास उसके आसपास के माहौल के अनुसार होता है. उसकी शारीरिक, सोशल क्षमता और किसी काम को करने की कुशलता, ये सभी वह अपने घर और आसपास के माहौल से सीखता है. अगर दो बच्‍चों की परवरिश अलग-अलग है तो उनका तरीका भी अलग ही होगा. ऐसे में बच्‍चों की तुलना करना गलत होगा.

    ये होता है नुकसान

    अगर आप बच्‍चों के बीच तुलना करते हैं तो इससे आपके और बच्‍चे के बीच दूरियां आ सकती हैं. साथ ही कई अन्‍य परेशानियां भी हो सकती हैं. तुलना करने से उन पर दबाव भी पड़ता है और जब बच्‍चा आपकी उम्‍मीदों पर खरा नहीं उतर पाता तो वह डर या तनाव में रहने लगता है. यही नहीं, वह अपने अचीवमेंट को एन्‍जॉय भी नहीं कर पाता और उसके मन में हर वक्‍त हारने का डर बैठ जाता है.
    इसे भी पढ़ें : बच्चे की आंखों में काजल लगाना कितना सही और कितना गलत? जानें इससे जुड़ी बातें

    भरोसा रखना जरूरी

    अपने बच्‍चों को हमेशा यह महसूस कराएं कि आपको उस पर पूरा भरोसा है. यह बात बच्‍चों के विकास के लिए बहुत ही जरूरी है. इससे बच्‍चे गलत काम को करने से बचते हैं.

    तारीफ करें

    बच्‍चों की छोटी-छोटी अचीवमेंट की भी तारीफ करें इससे उन्‍हें आगे बढ़ते रहने के लिए हिम्‍मत मिलती है.

    धैर्य जरूरी

    पेरेंटिंग में प्‍यार और दुलार ही नहीं बल्कि धैर्य भी बहुत काम आता है. ऐसे में बच्‍चों को सुधरने का मौका दें और उनके साथ खूब समय बिताएं और मस्‍ती करें.

    (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    Tags: Kids, Lifestyle, Parenting

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर