Home /News /lifestyle /

parenting with the welcome of the newborn sleep has gone away follow these tips to rest nav

नवजात के स्वागत के साथ ही उड़ गई है नींद? रेस्ट करने के लिए फॉलो करें ये टिप्स

बच्चे के सोने के बाद काम करने के बारे में न सोचें, बल्कि आराम करने की कोशिश करें. (फोटो-Canva)

बच्चे के सोने के बाद काम करने के बारे में न सोचें, बल्कि आराम करने की कोशिश करें. (फोटो-Canva)

किसी भी कपल के लिए माता-पिता बनना खूबसूरत एहसास होता है. हांलाकि,इसके साथ कुछ दिक्कतें भी होती हैं, जिनके बारे में जानना जरूरी हैं. दरअसल, बच्चे को संभालना आसान बात नहीं है. इसके लिए 24 घंटे अलर्ट रहना होता है. एक नवजात की देखभाल करते हुए पैरेंट्स को पर्याप्त नींद नहीं मिल सकती है लेकिन कुछ आसान टिप्स को फॉलो कर ऐसा करना संभव है.

अधिक पढ़ें ...

क्या आपके घर में हाल ही में छोटे बच्चे ने जन्म लिया है? या आप जल्द ही माता-पिता बनने का सुख प्राप्त करने वाले हैं? किसी भी कपल के लिए पैरेंट्स बनना जहां नई उम्मीदें और रोशनी लेकर आता है, वहीं इससे जुड़ी कुछ परेशानियां भी साथ होती हैं, जिनके बारे में जानना जरूरी हैं. क्योंकि बच्चे को संभालना आसान बात नहीं है. ये पूरे 24 घंटे की ड्यूटी है. जिसमें आपको हमेशा अलर्ट रहना होगा. उनके खाने का ख्याल रखना, डायपर बदलना, उनके जागने और खेलने के समय साथ में होना. यहां तक की उनके गैर टाइम सोने, जागने से आपकी नींद बुरी तरह से प्रभावित होती है.

एक नवजात की देखभाल में आपको पर्याप्त नींद नहीं मिल सकती है, जिससे आप चिड़चिड़े, थके हुए और नींद से वंचित महसूस कर सकते हैं. हालांकि, अगर दोनों पार्टनर बराबर पहल करें तो इन आसान टिप्स से वे पर्याप्त नींद और आराम पा सकते हैं.

बारी बारी से
पैरेंटिंग दो-व्यक्ति का काम है. चूंकि माताओं को बच्चे को स्तनपान (फीडिंग) कराने की जरूरत होती है, इसलिए वे बच्चे के प्रति अधिक सतर्क रहती हैं, लेकिन पिता को भी समान रूप से जिम्मेदार होने की आवश्यकता होती है. बारी-बारी से बच्चे की देखभाल करें. जब मां बच्चे को दूध पिला रही हो, तो आप आराम करें और जब वह फ्री हो तो पिता को बच्चे की देखभाल करनी चाहिए और मां को सोने देना चाहिए.

यह भी पढ़ें-
गर्मी से बच्चों को हाइड्रेट रखने के लिए पिलाते हैं ड्रिंक्स तो जान लें जरूरी बातें

जब बच्चा झपकी ले, जब आप भी सो जाएं
जब बच्चा सो रहा हो तो तुरंत सो जाएं, यही थोड़ी बहुत अच्छी नींद लेने का टाइम होता है. बच्चे के सोने के बाद काम करने के बारे में न सोचें, बल्कि आराम करने की कोशिश करें.

एक रूटीन बनाने की कोशिश करें
हालांकि, ऐसा कोई तरीका नहीं है, जिससे बच्चा अपनी इच्छानुसार सो सके या खा सके, आप डेली एक विशेष समय पर बच्चे को दूध पिलाने, खेलने और सोने की दिनचर्या बनाने की कोशिश कर सकते हैं. समय के साथ, बच्चा भी रूटीन के अनुकूल हो जाएगा.

मदद लेने से ना चूकें
परिवार के किसी सदस्य से मदद मांगने में कोई शर्म नहीं है. जब भी आपको थकान महसूस हो, तो अपने परिवार के सदस्यों या दोस्तों को फोन करें और उन्हें कुछ समय के लिए बच्चे की देखभाल करने के लिए कहें, ताकि आप आराम कर सकें.

यह भी पढ़ें-
बच्चे लार क्यों टपकाते हैं? जानें कारण और उपाय

मेहमानों को ना कहें
जब आपने अभी-अभी जन्म दिया है, तो कई मेहमान होंगे जो बच्चे से मिलना चाहेंगे. हालांकि, आपको कम से कम एक महीने के लिए उन्हें ना कहने के लिए कम्फर्टेबल होना चाहिए. ये ना केवल आपको बच्चे और घर को संभालने की आदत डालने के लिए पर्याप्त टाइम देगी, बल्कि वैक्सीनेशन से पहले नवजात शिशु को संक्रमित होने से भी रोकेगा.

Tags: Lifestyle, Parenting, Parenting tips

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर