लाइव टीवी
Elec-widget

टूटा फोन या टूटा हाथ- क्या चुनेंगे आप?

News18Hindi
Updated: December 1, 2019, 11:37 AM IST
टूटा फोन या टूटा हाथ- क्या चुनेंगे आप?
टीनएजर्स अपने हाथ की हड्डी बचाने से भी ज्यादा मोबाइल बचाना पसंद करेंगे.

लोगों में नो मोबाइल फोबिया (no moile phobia) बढ़ता जा रहा है. अगर आपसे सवाल पूछा जाए कि टूटा फोन या टूटी हड्डी- तो आप अपने लिए इसमें से किस ऑप्शन का चुनाव करना ज्यादा बेहतर समझेंगे?

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 1, 2019, 11:37 AM IST
  • Share this:
डिजिटलाइजेशन के इस दौर में लोगों को खुद से ज्यादा परवाह डिजिटल गैजेट की है. पूरे विश्व भर में लगभग हर उम्र के लोगों में मोबाइल फोन का इस्तेमाल काफी तेजी से बढ़ा है. इस बात में कोई दोराय नहीं कि लोगों का ज़्यादातर ध्यान उनके मोबाइल फोन में ही लगा रहता है और वो इसे लेकर केयरफुल भी रहते हैं. लेकिन अगर आपसे सवाल पूछा जाए कि टूटा फोन या टूटी हड्डी- तो आप अपने लिए इसमें से किस ऑप्शन का चुनाव करना ज्यादा बेहतर समझेंगे?

इस समय लोगों का सबसे बड़ा डर या जिसे फोबिया भी कहा जा सकता है ये है कि उनके साथ हर पल मोबाइल फोन का न होना. लेकिन टीनएजर्स में यह डर ज्यादा गहराई से बैठा हुआ है. इसे 'नो मोबाइल फोबिया' (no moile phobia) कहा जा सकता है. आज के समय में ज़्यादातर लोगों की जिंदगी की शुरुआत और हासिल मोबाइल फोन तक सिमट कर रह गया है. और ये इतना ज्यादा हो गया है कि लोगों को इसके बिना जीना दुश्वार लगता है. ज़्यादातर लोगों को ऐसा लगता है कि अगर उनका मोबाइल उनके पास न हो तो इससे उनके जीवन पर गहरा प्रभाव पड़ता है.

इसे भी पढ़ें: ऑफिस में ऐसे जमाएं इम्प्रेशन, काम आएंगे ये टिप्स

वर्तमान ट्रेंड का विश्लेषण:

वर्तमान परिद्रश्य की बात की जाए तो हाल ही में हुए एक सर्वे में यह बात सामने आई है कि टीनएजर्स अपने हाथ की हड्डी बचाने से भी ज्यादा मोबाइल बचाना पसंद करेंगे. इस सर्वे से इस बात का पता चलता है कि लोगों ने खुद की जिंदगी से भी ज्यादा प्राथमिकता मोबाइल फोन को दी हुई है. लेकिन इससे यह भी पता चलता है कि वर्तमान समय में मोबाइल का हमारे जीवन कितना गहरा प्रभाव पड़ रहा है.

इसे भी पढ़ें: बच्चों को देना है सुनहरा भविष्य, तो अभी से ऐसे करें प्लान!

इसके अलावा इस विश्लेषण से एक और बात सामने आई है कि मोबाइल फोन न केवल काफी महंगे हुए हैं बल्कि लोगों के लिए मोबाइल ने एक ऐसा सोशल नेटवर्क तैयार किया है जो जो लोगों को एक अलग ही दुनिया में ले जाता है और लोग खुद को मोबाइल की कैद की इस दुनिया से आजाद नहीं करा पाते.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ट्रेंड्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 1, 2019, 8:53 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...