लाइव टीवी

OMG! इन वजहों से झूठ बोलते हैं लोग, ये है बड़ी वजह

News18Hindi
Updated: February 9, 2020, 11:14 AM IST
OMG! इन वजहों से झूठ बोलते हैं लोग, ये है बड़ी वजह
जो लोग अधिकतर समय झूठ बोलते हैं, उनमें तनाव, चिड़चिड़ापन रहता है.

खुद को सच्चा दिखाने के लिए लोग झूठ बोलना पसंद करते हैं. प्रमुख शोधकर्ता शोहम खोसहेन हिलेल ने कहा, कई लोगों को अपनी प्रतिष्ठा का ज्यादा ख्याल होता है. उन्हें इस बात से मतलब होता है कि अन्य लोग उन्हें किस तरह से आंकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 9, 2020, 11:14 AM IST
  • Share this:
वो कहावत तो आपने सुनी ही होगी, झूठ बोले कौआ काटे. झूठ बोलने पर कौआ काट लेता है ये जानते हुए भी लोग रोजाना ही झूठ बोलते हैं. कभी दोस्तों से, कभी प्यार करने वाले और कभी ऑफिस में. अब किसी से झूठ बोलना सही है या गलत ये तो आप खुद ही डिसाइड कीजिए, लेकिन लोग झूठ क्यों बोलते हैं. इसका खुलासा हो गया है.

एक हालिया शोध के अनुसार कुछ लोग सच बोलकर स्वार्थी दिखने की जगह झूठ बोलना ज्यादा पसंद करते हैं.

खुद को सच्चा दिखाने के लिए बोला जाता है झूठ
अमेरिकन साइकोलॉजिकल एसोसिएशन के शोधकर्ताओं के अनुसार खुद को सच्चा दिखाने के लिए लोग झूठ बोलना पसंद करते हैं. प्रमुख शोधकर्ता शोहम खोसहेन हिलेल ने कहा, कई लोगों को अपनी प्रतिष्ठा का ज्यादा ख्याल होता है. उन्हें इस बात से मतलब होता है कि अन्य लोग उन्हें किस तरह से आंकते हैं. ऐसे लोगों में सच बोलने की इच्छा को सच्चा दिखने की इच्छा दबा देती है.

सच बोलने वाले लोग बीमार नहीं होते.
सच बोलने वाले लोग बीमार नहीं होते.


झूठ बोलने से होते हैं नुकसान
एक शोध के मुताबिक, जो लोग अधिकतर समय झूठ बोलते हैं, उनमें तनाव, चिड़चिड़ापन, गला खराब होना, थकान, सिरदर्द जैसी समस्या बनी रहती हैं. शोधकर्ताओं का कहना है कि सच बोलने वाले लोग बीमार नहीं होते. सच बोलने में वह बेहतर महसूस करते हैं. 

इसे भी पढ़ें : Valentine day पर डेट का मजा होगा डबल, पार्टनर के साथ देखें ये रोमांटिक मूवीज

झूठ बोलने वाले लोग अक्सर तनाव ग्रसित रहते हैं.
झूठ बोलने वाले लोग अक्सर तनाव ग्रसित रहते हैं.


तनाव की वजह बनता है झूठ
यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया का शोध कहता है कि झूठ बोलने वाले लोग तनावग्रस्त रहते हैं. उनमें बीपी, शुगर जैसी समस्या भी ज्यादा होती हैं.

भावनाओं को पहुंचता है नुकसान
शोध के अनुसार, झूठ बोलने से इंसान की भावनाओं को नुकसान पहुंचता है. झूठ बोल कर तारीफ पाने वाले लोग अक्सर मन ही मन खोखले हो जाते हैं.

 

सच बोलने के फायदे
शोध के अनुसार, जो लोग झूठ के बजाय अपने जीवन में सच को स्थान देते हैं, उनमें कॉन्फिडेंस ज्यादा होता है. सच बोलने वाले लोग अपनी बात मनवाने से ज्यादा, दूसरों की बात को सुनना पसंद करते हैं. क्योंकि उन्हें पता होता है कि वह जो सुन रहे हैं वह बनी बनाई बात है पर उसका जबाव ना देकर वह सामने वाले को लगातार बोलने देते हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 9, 2020, 10:20 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर