Home /News /lifestyle /

Google पर सर्च किया जा रहा है आयुष मंत्रालय का 'क्वाथ', जानें इसके बारे में सबकुछ

Google पर सर्च किया जा रहा है आयुष मंत्रालय का 'क्वाथ', जानें इसके बारे में सबकुछ

असम के चाय बागानों में उत्पन्न होने वाली काली चाय इम्युनिटी बूस्टर के रूप में काम करती है.

असम के चाय बागानों में उत्पन्न होने वाली काली चाय इम्युनिटी बूस्टर के रूप में काम करती है.

मंत्रालय का मानना है कि आयुष क्वाथ यानी आयुर्वेदिक काढ़ा एक बड़ा हथियार साबित हो सकता है. इस महामारी से लड़ने के लिए इम्यूनिटी का मजबूत होना बहुत जरूरी है.

    कोरोना वायरस महामारी से इस समय दुनिया के कई देश परेशान हैं. संक्रमण से लोगों को बचाने के लिए लॉकडाउन जारी है. घरों में बंद लोग इस समय Google पर स्वास्थ्य संबंधी तरह की जानकारियां सर्च कर रहे हैं. इसी में से एक है आयुष मंत्रालय का क्वाथ. गूगल पर इस समय आयुष मंत्रालय का क्वाथ ट्रेंड कर रहा है. लोग जानना चाहते हैं कि यह क्वाथ क्या है. इसे कैसे बनाया जाता है. कैसे यह वायरल इंफेक्शन से बचाव कर सकता है. मंत्रालय ने सभी प्रदेशों से भी उनके यहां क्वाथ उत्पादन कराने का आग्रह किया है.

    महामारी से लड़ने के लिए इम्यूनिटी का मजबूत होना जरूरी
    आयुष मंत्रालय ने आयुर्वेदिक दवा निर्माता कंपनियों को क्वाथ बनाने की सलाह दी है. मंत्रालय का मानना है कि आयुष क्वाथ यानी आयुर्वेदिक काढ़ा एक बड़ा हथियार साबित हो सकता है. आपको बता दें कि इस महामारी से लड़ने के लिए इम्यूनिटी का मजबूत होना बहुत जरूरी है. लोगों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए सरकार ने देसी काढ़े को बढ़ावा देने की तैयारी शुरू कर दी है. इसके तहत तुलसी, सुन्थी, दालचीनी और काली मिर्च के मिश्रण को आयुष क्वाथ नाम से पेश किया जा रहा है.

    इसे भी पढ़ेंः लॉकडाउन में बढ़ते वजन ने कर रखा है परेशान? एक चुटकी हींग करेगा कमाल

    आयुष नुस्खों को अपनाने की अपील
    आयुष मंत्रालय के मुताबिक, यह मिश्रण गोली व चूर्ण के रूप में भी उपलब्ध होगी. प्रमुख आयुर्वेदिक दवा निर्माण कंपनी एमिल फार्मास्युटिकल ने आयुष क्वाथ बनाने की तैयारी भी शुरू कर दी है. इससे पहले खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी आयुष मंत्रालय द्वारा बताए गए काढ़े का सेवन करने के लिए लोगों से कहा था. आयुर्वेद में भी इसका उल्लेख किया गया है. भारत सरकार रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने के लिए आयुष नुस्खों को अपनाने की अपील कर रही है.

    दिन में एक बार इस क्वाथ को जरूर पीएं
    आयुष मंत्रालय की मानें तो दिन में एक बार इस क्वाथ को जरूर पीना चाहिए. मंत्रालय ने खुद क्वाथ बनाने की विधि लोगों को बताई है. इस क्वाथ को बनाने के लिए जिन सामग्रियों का इस्तेमाल करने की सलाह दी गई है, वह सभी हमारे शरीर को प्राकृतिक तरीके से मजबूत बनाने का काम करते हैं. इन सभी चीजों से इम्यूनिटी मजबूत बनी रहती है. आपको बता दें कि इनमें से ज्यादातर चीजें घर की रसोई में आसानी से उपलब्ध भी रहती हैं. यह बात इसलिए कही जा रही है ताकि आपको लॉकडाउन के कारण बाहर जाने की जरूरत न पड़े. आप अपनी रसोई में नजर दौड़ाइए और इस क्वाथ को बनाकर दिन में एकबार जरूर इसका सेवन करें.

    आयुष क्वाथ बनाने की सामग्री
    -तुलसी पत्ती (Basil)
    -दालचीनी (Cinnamon)
    -काली मिर्च (Black pepper)
    -सौंठ (Dry Ginger)
    -मुनक्का (Raisin)
    - गुड़ (Jaggery)
    - नींबू (Lemon)

    इसे भी पढ़ेंः Lockdown: ठेले वाले से सब्जी लेते वक्त जरूर ध्यान रखें ये तीन बातें, नहीं तो वायरस से बचना मुश्किल

    ऐसे तैयार करें हेल्दी और टेस्टी आयुष क्वाथ
    जितने लोगों के लिए भी क्वाथ बनानी हो उतने कप पानी लें और उसे गैस पर गर्म होने के लिए रख दें. इसके बाद जब पानी गर्म हो जाए तो आंच धीमी करें और उसमें तुलसी पत्ते, दालचीनी, काली मिर्च, सौंठ, मुनक्का और गुड़ जरूरत के हिसाब से डालें. आप चाहें तो मीठे स्वाद के लिए गुड़ की जगह शहद का भी इस्तेमाल कर सकते हैं. ध्यान रखें गैस की आंच को धीमा ही रखना है. सभी चीजें डालने के बाद जब पानी खौलने लगे तो इसे छान लें और इसमें नींबू निचोड़ लें. नींबू और गुड़ का इस्तेमाल आपकी अपनी पसंद पर निर्भर करता है. अब इस क्वाथ को अपने परिवार के साथ बैठकर पिएं.

    Tags: Corona, Corona Food and Recipe, Corona Health and Fitness, Corona Knowledge, Coronavirus, Coronavirus in India, Lifestyle

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर