Home /News /lifestyle /

प्रीमेच्योर बर्थ का पता अब बहुत पहले लगाया जा सकेगा, नई स्टडी में हुआ खुलासा

प्रीमेच्योर बर्थ का पता अब बहुत पहले लगाया जा सकेगा, नई स्टडी में हुआ खुलासा

प्रीमेच्योर बर्थ का पता पहले लगेगा.

प्रीमेच्योर बर्थ का पता पहले लगेगा.

Premature birth prediction: प्रग्नेंसी के दौरान गर्भाशय ग्रीवा (cervixes) में खास तरह के बैक्टीरिया के कारण बच्चे का समय से पहले जन्म होता है.

    Premature birth prediction: डब्ल्यूएचओ (WHO) के अनुसार दुनिया भर में हर साल 1.5 करोड़ बच्चे मां के पेट में पूरा समय बिताने से पहले जन्म (premature birth) ले लेते हैं. यानी गर्भाधारण के 37 सप्ताह का नियत समय बिताने के के पहले इन बच्चों का जन्म असमय हो जाता है. समय से पहले जन्म लेने वाले बच्चों में 10 लाख बच्चे पांच साल की उम्र तक आते-आते मर जाते हैं. ग्रामीण इलाकों में जानकारी का अभाव और संस्थागत प्रसव नहीं कराने के कारण ऐसा होता है. हालांकि, अमीर देशों में भी समय से पहले बच्चों का जन्म हो जाता है. अकेले ब्रिटेन में सौ में से 8 बच्चे 37 सप्ताह के गर्भधारण से पहले जन्म ले लेते हैं. डेली मेल की खबर के मुताबिक अब एक नए शोध में दावा किया गया है कि प्रसव के नियत समय से 10 सप्ताह पहले पता लगा लिया जाएगा कि बच्चे का जन्म समय से पहले (Premature births) होगा या नहीं.

    गर्भाशय ग्रीवा में बैक्टीरिया जिम्मेदार
    शोधकर्ताओं ने खास बैक्टीरिया और कुछ केमिकल्स के बारे में पता लगाया जिसके आधार पर समय पूर्व बच्चे के जन्म के बारे में जाना जा सकता है. शोधकर्ताओं के मुताबकि मां के गर्भाशय ग्रीवा (cervixes) में यह खास बैक्टीरिया और कुछ केमिकल्स पाए जाते हैं. इनके कारण संक्रमण और सूजन हो जाती है जो बच्चे के समय पूर्व जन्म के लिए जिम्मेदार होते हैं.

    इसे भी पढ़ेंः Coronavirus: फल-सब्जी को क्या साबुन से साफ करने की जरूरत है, जानें एक्सपर्ट की राय

    शोधकर्ताओं को उम्मीद है कि इस खोज के बाद जल्द ही इन केमिकल्स और बैक्टीरिया की पहचान के लिए टेस्ट करने की तकनीक विकसित होगी जिससे समय पूर्व बच्चे के जन्म का समय पर इलाज किया जा सकेगा.
    इसे भी पढ़ेंः वजन घटाने के लिए जिम्मेदार इन तीन हॉर्मोंस पर इस तरह करें नियंत्रण

    संक्रमण और सूजन की वजह से समय पूर्व बच्चे का जन्म होता
    किंग्स कॉलेज लंदन के प्रोफेसर एंड्रयू शेनन (Professor Andrew Shennan) ने बताया कि हमारी टीम ने बर्थ प्रीडक्शन टूल (birth prediction tools ) विकसित किया है जिससे प्रेग्नेंसी के कुछ समय बाद सटीकता से पता लगाया जा सकता है कि समय पूर्व बच्चे का जन्म होगा कि नहीं. आमतौर पर प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं का ग्रभाशय ग्रीवा शिशु की रक्षा करने के लिए बढ़ जाता है लेकिन प्रसव से कुछ दिन पहले यह पुनः छोटा और मुलायम होने लगता है. आपको बता दें कि प्रेग्नेंसी के दौरान अगर महिला संक्रमित हो जाए या इसमें सूजन हो जाए तो समय से पहले गर्भाशय ग्रीवा कमजोर होने लगता है. यही कारण है कि बच्चे का जन्म समय से पहले हो जाता है.

    Tags: Health

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर