डिलीवरी रूम में पति के साथ रहने से महिलाओं को कम होता है 'Labor pain':अध्ययन

News18Hindi
Updated: August 24, 2019, 12:37 PM IST
डिलीवरी रूम में पति के साथ रहने से महिलाओं को कम होता है 'Labor pain':अध्ययन
कुल 48 जोड़ों के ऊपर हुए इस सर्वे में देखा गया कि प्रेग्नेंट महिलाएं अपने पति के सामने लेबर पेन को ज्यादा देर तक झेल पा रही थीं

कुल 48 जोड़ों के ऊपर हुए इस सर्वे में देखा गया कि प्रेग्नेंट महिलाएं अपने पति के सामने लेबर पेन को ज्यादा देर तक झेल पा रही थीं

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 24, 2019, 12:37 PM IST
  • Share this:
अक्सर जब एक महिला प्रेग्नेंट होती है और डिलीवरी के लिए उसे अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में ले जाया जाता है, तब उसका पति या परिवार का कोई शख्स उसके साथ जाने की जिद्द करता है. कई मामले में डॉक्टर पति को अंदर आने की इजाज़त दे देते हैं, तो कई मामलों में उन्हें बाहर ही रहने की बात कह दी जाती है. जबकि ज्यादातर केसेज में पति के डिलीवरी रूम में साथ आने को लेकर सवालिया निशान लग दिया जाता है. लेकिन हाल ही कुछ वैज्ञानिक एक सर्वे के माध्यम से इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि अगर पति अपनी प्रेग्नेंट पत्नी के साथ डिलवरी रूम के अंदर आता है तो महिला का 'लेबर पेन' (labor pain) कम हो जाता है.

कुल 48 जोड़ों के ऊपर हुए इस सर्वे में देखा गया कि प्रेग्नेंट महिलाएं अपने पति के सामने लेबर पेन को ज्यादा देर तक झेल पा रही थीं. यानी साथी की मौजूदगी मात्र से उनकी सहन शक्ति बढ़ गई. साथी द्वारा बार-बार बात करने और छूने से दर्द का कम होना स्वाभाविक है. लेकिन हमारे रिसर्च में हमने पाया कि उनकी मौजूदगी मात्र से प्रेग्नेंट महिला की सहन शक्ति बढ़ जाती है. उनका दर्द कम हो जाता है.

साल 2017 में यूनिवर्सिटी ऑफ कोलोरैडो के रिसर्चर्स ने पाया था कि पति या जीवनसाथी द्वारा हाथ पकड़ने से भी डिलीवरी के वक्त प्रेग्नेंट महिलाओं का लेबर पेन कम हो जाता है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 24, 2019, 12:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...