Home /News /lifestyle /

Pulwama Terror Attack: पुलवामा हमले पर इस कवि ने पढ़ी ये कविता, सुनकर खौल उठेगा खून!

Pulwama Terror Attack: पुलवामा हमले पर इस कवि ने पढ़ी ये कविता, सुनकर खौल उठेगा खून!

Pulwama Terror Attack, Image- PTI

Pulwama Terror Attack, Image- PTI

Pulwama Terror Attack: यह कविता पढ़कर आंसू रोक नहीं पाएंगे आप, खड़े हो जाएंगे रोंगटे!

    Pulwama Terror Attack: जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों को लेकर लोगों में काफी आक्रोश है. सोशल मीडिया पर हर कोई अपने-अपने तरीके से आक्रोश व्यक्त कर रहा है. नेता हो या आम आदमी हर कोई अपने अपने तरीके से इस हमले की विभीषिका और पाकिस्तान के प्रति अपना गुस्सा बयां कर रहा है. जब वीरों की शहादत की वजह से लोगों का खून उबाल मार रहा है ऐसे समय में कवि हरिओम पंवार ने एक कविता लिखी है जो युद्ध के बाद देशवाशियों के एहसासों और गुस्से को बखूबी बयां करती है. ये हैं कवि हरिओम पंवार की वो कविता.

    Pulwama Attack: जंग ख़ुद एक मसला है, न कि मसलों का हल', इस कविता से जानिए युद्ध के बाद का वो ख़ौफ़नाक मंज़र!

    हरिओम पंवार की कविता:
    ये आतंकों के गालों पर दिल्ली के चांटे होते,
    गर हमने दो के बदले में बीस शीश काटे होते
    बार- बार दुनिया के आगे हम ना शर्मिंदा होते
    और हमारे सारे सैनिक सीमा पर ज़िंदा होते

    Pulwama Terror Attack: 'बलूचिस्तान नेशनल कांग्रेस' ने पाक को बताया आतंकी मुल्क, कहा- पाकिस्तान के खिलाफ युद्ध का ऐलान करे भारत

    ये कैसा परिवर्तन है खुद्दारी के आचरणों में
    सेना का सम्मान पड़ा है चरमपंथ के चरणों में
    किसका ख़ून नहीं खौलेगा सुन-पढ़कर अख़बारों में
    सिंहों की गर्दन कटवा दी चूहों के दरबारों में
    बार-बार की गद्दारी को भारत क्यों सह जाता है
    ज़्यादा संयम भी दुनिया में कायरता कहलाता है
    हमने 68 साल खो दिए श्वेत कपोत उड़ाने में
    ख़ूनी पंजों के गिद्धों को गायत्री समझाने में

    अलका लांबा ने पुलवामा हमले को लेकर शेयर किया पाकिस्तानी गाने का ये वीडियो, लिखा कुछ ऐसा कि भड़के लोग!

    भैंस के आगे बीन बजाना बहुत हो चुका बंद करो
    खुद को बिच्छू से कटवाना बहुत हो चुका बंद करो
    नागफनी पर बेला चंपा कभी नहीं खिलने वाले
    पत्थर की आंखों में आंसू कभी नहीं मिलने वाले
    बंदूकों की गोली का उत्तर सद्भाव नहीं होता
    हत्यारों के लिए अहिंसा का प्रस्ताव नहीं होता
    कोई विषधर कभी शांति के बीज नहीं बो सकता है
    और भेड़िया शाकाहारी कभी नहीं हो सकता है

    Pulwama Terror Attack: कुमार विश्वास ने पढ़ी शहीदों के नाम कविता, जिसे सुनकर रो पड़े लाखों लोग!

    पीपल छाया मांग रहा था यूं कीकर के पेड़ों से
    जैसे कोई शेर सुरक्षा मांग रहा हो भेड़ों से
    जैसे कोई मोती खो दे झीलों की गहराई में
    हम कश्तूरी खोज रहे हैं उल्लू की परछाईं में
    जब सिंहों की राजसभा में गीदड़ गाने लगते हैं
    तो हाथी के मुंह के गन्ने चूहे खाने लगते हैं

    पुलवामा हमले पर पाकिस्तानी नेता और MQM प्रमुख अल्ताफ हुसैन ने दिया भारत का साथ, कहा- हमला कायरों का काम है

    रावलपिंडी वालों को सपने में काल दिखाओ तो
    भारतमाता की आंखों के डोरे लाल दिखाओ तो
    दिल्ली वालों ठोंकर मारो दुनिया के हथकंडों पर
    इजराइल से जीना सीखो अपने ही भुजदंडों पर

    भारत माता का बंटवारा है जिनकी अभिलाषा में
    वे समझेंगे अर्जुन की गांडीव धरम की भाषा में
    फूल अमन के नहीं खिलते कायर की परिपाटी में
    नेहरू जी के श्वेत कबूतर मरे पड़े हैं घाटी में
    दिल्ली वालों अपने मन को बुद्ध करो या क्रुद्ध करो
    काश्मीर को दान करो या गद्दारों से युद्ध करो
    जेल भरे क्यों बैठे हैं हम आदमखोर दरिंदों से
    आजादी का दिल घायल है जिनके गोरखधंधों से
    घाटी में आतंकवाद के कारक बने हैं जो
    बच्चों के मुस्कानों के संहारक बने हुए हैं जो
    उन ज़हरीले नागों को भी दूध पिलाती है दिल्ली
    मेहमानों जैसे बिरियानी-चिकन खिलाती है दिल्ली

    भारत के इस मंदिर से आज भी घबराते हैं पाकिस्तान के सैनिक, जानिए पूरी कहानी!

    जिनके कारण पूरी घाटी जली दूल्हन सी लगती है
    पूनम वाली रात चांदनी चंद्रग्रहण सी लगती है
    जिनके कारण मां की बिंदी दाग दिखाई देती है
    वैष्णों देवी मां के घर में आग दिखाई देती है
    उनके पैरों बेड़ी जकड़े जाने में देरी क्यों है
    उनके फन पे एड़ी रगड़े जाने में देरी क्यों है
    काश्मीर में एक विदेशी देश दिखाई देता है
    संविधान को ठुकराता परिवेश दिखाई देता है
    वे घाटी में भारत के झंडों को रोज जलाते हैं
    सेना पर हमला करते हैं ख़ूनी फाग मनाते हैं
    हम दिल्ली की खामोशी पर शर्मिंदा रह जाते हैं
    भारत मुर्दाबाद बोलकर वे ज़िंदा रह जाते हैं

    हम दिल्ली की खामोशी पर शर्मिंदा रह जाते हैं
    शायद तुम भी सत्तामद के अहंकार में ऐंठे हो
    क्या सत्रह मंत्री मरने के इंतजार में बैठे हो
    सेना पर पत्थरबाजों को कोई इतना बतला दो
    ये गांधी के गाल नहीं हैं उनको इतना समझा दो
    दिल्ली वालों सेना को भी कुछ निर्णय ले लेने दो
    एक बार पत्थर का उत्तर गोली से दे लेने दो
    जब चौराहों पर हत्यारे महिमामंडित होते हों
    भारत मां की मर्यादा के मंज़र खंडित होते हों
    जब कस भारत के नारे हों गुलमर्दा की गलियों में
    और शिमला समझौता जलता हो बंदूकों की नलियों में
    तो केवल आवश्यकता है हिम्मत की खुद्दारी की
    दिल्ली केवल दो दिन की मोहलत दे दे तैयारी की
    सेना को आदेश थमा दो घाटी गैर नहीं होगी
    जहां तिरंगा नहीं मिलेगा उनकी खैर नहीं होगी

    Pulwama Terror Attack: पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI के चीफ असीम मुनीर ने बनाया था पुलवामा हमले का प्लान!

    बर्मा, बंगलादेश तलक सीमा पर ऐंठे रहते थे
    और हमारे नेता चूड़ी पहने बैठे रहते थे
    दिल्ली डरी-डरी रहती थी पाक-चीन के बाॅर्डर पर
    सेना बांधे हाथ खड़ी रहती थी किसके ऑर्डर पर
    दुनिया को एहसास कराओ हम निर्णय ले सकते हैं
    हम भी ईंटों का उत्तर अब पत्थर से दे सकते हैं

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    Tags: Lifestyle, Pulwama, Pulwama attack, Trending, Trending new

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर