Ramadan 2021: रमज़ान में हरगिज़ न करें ये काम, सेहत पर पड़ सकता है असर

इफ़्तार में खाना जल्‍दबाजी में न खाएं. Image/Shutterstock

इफ़्तार में खाना जल्‍दबाजी में न खाएं. Image/Shutterstock

Ramadan 2021: रमज़ान में महीने भर सहरी और इफ्तार (Iftar) के साथ रोजा रखने का सिलसिला चलता रहेगा. मगर इस बीच सेहत (Health) का भी पूरा ख्‍याल रखें. सहरी (Sehri) कभी न छोड़ें और पर्याप्‍त पानी पिएं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 24, 2021, 2:21 PM IST
  • Share this:
Ramadan 2021: रमज़ान-उल-मुबारक का महीना चल रहा है और मुसलमान इस पाक महीने में रोजे़ (Roza) रखने के साथ इबादत (Worship) में लगे हुए हैं. इस पूरे एक महीने तक सहरी और इफ्तार (Iftar) के साथ रोजा रखने का यही सिलसिला चलता रहेगा. हालांकि इस बीच सेहत (Health) का भी पूरा ख्‍याल रखना जरूरी होता है, क्‍योंकि एक ओर खाने पीने का समय बदलता है, तो दूसरी ओर कई बार नींद भी पूरी नहीं होती. ऐसे में इससे सेहत प्रभावित हो सकती है. इसलिए इस महीने में कुछ खास एहतियात जरूर रखें, ताकि आप सेहतमंद भी रहें और आपके रोजे़ भी अच्‍छी तरह पूरे हो सकें. आइए जानें क्‍या एहतियात रखें-

इफ़्तार में न लें चिकना आहार

अक्‍सर रमज़ान में लोग इफ्तार में तला भुना खाना ज्‍यादा पसंद करते हैं. ऐसे में समोसे, स्प्रिंग रोल, फ्राइज़ और अन्य तली हुई चीजों का सेवन मजेदार तो लगता है, मगर स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हो सकता है. आज टीवी की एक रिपोर्ट के मुताबिक इफ्तार में तला हुआ भोजन लेना अपच का कारण बन सकता है. इससे सेहत पर बुरा असर होगा और इबादत में खलल पड़ सकता है. इसलिए सुन्नत के मुताबिक खजूर या पानी के साथ रोज़ा खोलें और इसके बाद फल आदि खाएं. ताकि शरीर में होने वाली पोषक तत्‍वों की कमी को पूरा किया जा सके.

ये भी पढ़ें - रोज़ा रख कर भी कर सकते हैं एक्‍सरसाइज, पर जान लें इसका सही समय
कम पानी न पिएं

हममें से ऐसे कितने ही लोग होंगे जो इफ्तार के दौरान बहुत कम पानी पीते हैं, मगर खाने पर ज्यादा जोर देते हैं. मगर इफ्तार के दौरान ज्यादा से ज्यादा पानी पीएं और कम खाएं. अगर आप अधिक पानी नहीं पीते हैं, तो उन फलों का उपयोग करें, जिनमें अधिक पानी होता है. इसके अलावा सॉफ्ट ड्रिंक और कैफीन युक्त चीजों जैसे चाय और कॉफी से बचें.

जल्दी में न खाएं



इफ्तार में तुरंत और जल्दी में खाने के बजाय धीरे-धीरे और अच्छी तरह से चबा कर खाएं. छोटे निवाले खाएं. अगर खाने में समय लगे तो नमाज़ अदा करने के बाद बाक़ी का खानाआकर खा लें.

ये भी पढ़ें - रमज़ान स्‍पेशल: दुनिया की सबसे खूबसूरत और ऐतिहासिक मस्जिदें

न छोड़ें सहरी

सहरी करना सुन्नत है. मगर कुछ लोग पूरी नींद लेने के लिए कई बार सहरी छोड़ देते हैं. मगर सहरी करना आपको पूरे दिन सक्रिय रखता है, लेकिन जब आप सहरी छोड़ते हैं, तो आप पूरे दिन के लिए खुद को कमजोरी और सुस्ती की ओर धकेल देते हैं. इसलिए सहरी करें और सहरी में बचा हुआ खाना खाने के बजाय ताजा पके हुए भोजन का सेवन करें. पोषक तत्‍वों से युक्‍त आहार खाएं. दूध और दही जैसे प्रोटीन वाली चीजें खाएं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज