Ramadan Special: रोज़ा रख कर भी कर सकते हैं एक्‍सरसाइज, पर जान लें इसका सही समय

Ramadan Special: इफ्तार से 30 मिनट पहले व्यायाम करें. Image/Shutterstock

Ramadan Special: इफ्तार से 30 मिनट पहले व्यायाम करें. Image/Shutterstock

Ramadan Special: रोज़ा (Roza) में एक्सरसाइज (Exercise) करना पूरी तरह सुरक्षित है. ऐसे में रमज़ान में भी इसे जारी रखना चाहिए, क्योंकि व्‍यायाम शरीर को फिट (Fit) और मजबूत बनाए रखते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 22, 2021, 10:10 AM IST
  • Share this:
Ramadan Special: रमज़ान का पाक महीना है. ऐसे में वे लोग जो नियमित एक्‍सरसाइज (Regular Exercise) करने के आदी हैं रोजे़ (Roza) में भी इसे जारी रखना चाहते हैं. मगर रमजान में व्यायाम को लेकर कई लोगों के मन में कई सवाल होते हैं कि क्या रोजे़ में एक्‍सरसाइज करना संभव है या नहीं और क्‍या रोजे़ में एक्‍सरसाइज करना सेहत (Health) के नजरिये से बेहतर है या नहीं. वहीं कुछ लोग इस बात को लेकर भी असमंजस में रहते हैं कि रमजान में व्यायाम करने का सबसे अच्छा समय क्या हो सकता है? या एक्‍सरसाइज का सही समय क्‍या होगा. इस संबंध में वीओए की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि रोजे़ के दौरान व्यायाम करना बहुत ज़रूरी है, वरना आप बहुत आलसी हो सकते हैं. वहीं रमजान में भी व्यायाम करना पूरी तरह सुरक्षित है और रोजे़ में भी लोगों को व्यायाम जारी रखना चाहिए, क्योंकि यह शरीर को फिट और मजबूत बनाए रखता है.

रमज़ान में एक्‍सरसाइज का सबसे अच्छा समय

बहुत से लोग रोजे़ में व्यायाम करने से हिचकिचाते हैं. हालांकि इस संबंध में डॉ. हसनैन रिज़वी कहते हैं कि रमजान में आप किस समय व्यायाम करें यह बात बहुत मायने मायने रखती है. उनके मुताबिक अगर आप रोजे़ में सुबह व्यायाम करते हैं, तो यह आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं होगा, क्योंकि सुबह व्यायाम करने के बाद आपके शरीर में पूरा दिन बिताने के लिए पर्याप्त ऊर्जा नहीं होगी.

ये भी पढ़ें - रमज़ान स्‍पेशल: दुनिया की सबसे खूबसूरत और ऐतिहासिक मस्जिदें
रमजान में व्यायाम करने के सबसे अच्छे समय का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि इफ्तार से 20 से 30 मिनट पहले व्यायाम करना मददगार होता है, क्योंकि जब आप व्यायाम समाप्त कर लेते हैं, तो यह रोज़ा खोलने का समय होता है. अगर कोई व्यक्ति रोजे़ में एक्‍सरसाइज नहीं करना चाहता है, तो उसे इफ्तार के दौरान बहुत हल्का भोजन करना चाहिए और इफ्तार के कुछ समय बाद ही व्यायाम किया जा सकता है.

इन बातों का रखें ध्‍यान

-रोजे़ में उच्च तीव्रता वाले यानी इंटेनसिटी इंट्रोल ट्रेनिंग या वर्क आउट करने चाहिए. साथ ही कोशिश करनी चाहिए कि कम से कम 20 मिनट व्यायाम किया जाए और हर दो से तीन दिन बाद व्यायाम की अवधि बढ़ानी चाहिए.



-अगर रोजाना एक ही तरह की एक्सरसाइज की जाए, तो इससे शरीर पर पड़ने वाले प्रभाव कम होंगे. अगर आप ट्रेडमिल के माध्यम से रोजाना व्यायाम करते हैं, तो भी दो से तीन दिनों के बाद ट्रेडमिल की गति और अवधि को बढ़ाया जाना चाहिए.

ये भी पढ़ें - Ramadan 2021: इफ्तार में इसलिए खाते हैं खजूर, सेहत को मिलते हैं फायदे

-रमजान में रोज़ा रखने और व्यायाम करने से बहुत अधिक ऊर्जा की खपत होती है, इसलिए पौष्टिक आहार लेना जरूरी है. फल और सब्जियां अपने आहार में शामिल करें और जितना संभव हो उतना पानी का उपयोग करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज