Recipe: 10 मिनट में घर पर बनाएं प्रसाद वाली मीठी बूंदी, मंगलवार को हनुमान जी को लगाएं भोग

Recipe: 10 मिनट में घर पर बनाएं प्रसाद वाली मीठी बूंदी, मंगलवार को हनुमान जी को लगाएं भोग
बूंदी हनुमान जी का प्रिय भोग है और लोगों को भी इसे खाना बहुत अच्‍छा लगता है. बच्‍चे तो इसे खाना बहुत पसंद करते हैं.

अगर आप हनुमान जी (Hanuman Ji) को भोग लगाना चाहते हैं तो घर में ही प्रसाद वाली मीठी बूंदी (Meethi Boondi) बना सकते हैं. बूंदी हनुमान जी का प्रिय भोग है और लोगों को भी इसे खाना बहुत अच्‍छा लगता है.

  • Share this:
ज्‍यादातर लोग हर मंगलवार (Tuesday) को हनुमान जी (Hanuman Ji) को बूंदी (Boondi) का भोग लगाते हैं लेकिन लॉकडाउन (Lockdown) के चलते मार्केट बंद होने के कारण वह ऐसा नहीं कर पा रहे हैं. अगर आप हनुमान जी को भोग लगाना चाहते हैं तो घर में ही प्रसाद वाली मीठी बूंदी बना सकते हैं. बूंदी हनुमान जी का प्रिय भोग है और लोगों को भी इसे खाना बहुत अच्‍छा लगता है. बच्‍चे तो इसे खाना बहुत पसंद करते हैं. उन्‍हें इसे मिठाई की तरह खाना बेहद पसंद होता है. इसे घर पर बनाना बहुत ही आसान है. आइए आपको बताते हैं इसे बनाने की रेसिपी (Recipe) के बारे में.

मीठी बूंदी बनाने की सामग्री
बेसन- 2 कप
चीनी- 3 कप
इलायची- 7-8
तलने के लिए ऑयल


पानी- आधा कप

मीठी बूंदी बनाने की विधि
सबसे पहले मीठी बूंदी बनाने के लिए बेसन को छानकर किसी बर्तन में निकाल लें. फिर बेसन में आधा कप पानी मिलाकर थोड़ा गाढ़ा घोल बना लें. अब थोड़ा-थोड़ा पानी डालकर घोल को पतला कर लें. लेकिन घोल इतना गाढ़ा होना चाहिए कि वह छलनी से आसानी से बूंद-बूंद करके छन जाएं. बेसन के घोल में बिल्‍कुल भी गांठे नहीं रहनी चाहिए और घोल को कुछ देर स्‍मूथ होने तक अच्‍छे से फेंट लें. फिर घोल में दो छोटे चम्मच तेल डालें और फिर से अच्‍छे से फेंट लें. इसे कुछ देर के लिए ऐसे ही छोड़ दें.

दूसरी तरफ चाशनी बनाने की तैयारी करें. इसके लिए एक बर्तन में चीनी और डेढ़ कप पानी डालकर चाशनी बनने के लिए आंच पर रखें. चम्मच से 1 बूंद चाशनी प्लेट में गिराकर उंगली और अंगूठे के बीच चिपकाकर देख लें. अगर यह उंगली और अंगूठे से हल्की सी चिपकने लगे तो समझ लें कि आपकी चाशनी तैयार हो चुकी है. अब इसमें इलायची पाउडर डालकर मिक्स कर लें. फिर रखे हुए बेसन के घोल की बूंदी बनाने के लिए कढ़ाही में घी डालकर गर्म होने के लिए रख दें.

जब यह अच्छी तरह गर्म हो जाए तो बूंदी बनाने के छलनी को घी के थोड़ा ऊपर रखें और बेसन के घोल के 2 बड़े चम्मच इसके के ऊपर डालकर बूंदी छानते जाएं. छलनी को थोड़ा-थोड़ा हिलाते जाएं जिससे घोल छलनी से होकर कढ़ाही में गिरते जाए. इसके हल्का सा रंग बदलने और कुरकुरे तक तले और बाहर निकाल लें. कड़ाही से बूंदी निकालकर चाशनी में डालते जाएं. 1 से 2 मिनट के बाद बूंदी चाशनी से निकाल लें. आपकी बूंदी तैयार है. आप इससे आसानी से हनुमान जी को भोग लगा सकते हैं या ऐसे ही मिठाई के रूप में भी खा सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज