होम /न्यूज /जीवन शैली /

कोरोना काल में टीनएज बच्‍चों को इस तरह बनाएं जिम्‍मेदार, बिना स्‍ट्रेस आपस में बढ़ेगा प्‍यार

कोरोना काल में टीनएज बच्‍चों को इस तरह बनाएं जिम्‍मेदार, बिना स्‍ट्रेस आपस में बढ़ेगा प्‍यार

बच्चों को घर  में जरूरी डिसीजन लेना सिखाएं और गाइड करें. Image- Pixabay

बच्चों को घर में जरूरी डिसीजन लेना सिखाएं और गाइड करें. Image- Pixabay

Relationship Tips : टीनएज (Teen Age) एक निडर और जिद्दी उम्र होती है जिसे पेशेंस और प्‍यार से टैकल करना जरूरी है. हम बताते हैं कि कोरोना (Corona) में पेरेंट्स (Parents) को किन बातों का ध्‍यान रखना जरूरी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    Tips For Parents Who Are Spending  All time With Teenagers  : कोरोना (Corona) महामारी के दौर में दुनियाभर में पारिवारिक जीवन (Family Life) प्रभावित हुआ है. सभी स्‍कूल बंद हैं और पिछले दो सालों से सोशल डिस्‍टेंसिंग मेंटेन की जा रही है. इन सभी का अब नकारात्‍मक प्रभाव परिवार में दिखने लगा है. खासतौर पर उन पेरेंट्स के लिए और भी चुनौतियां हैं जिनके टीन एज बच्‍चे हैं. यूनीसेफ के मुताबिक, परिवार के नकारात्‍मक प्रभाव से टीनएज बच्‍चों (Teen Age Kids) को बचाने के लिए बहुत जरूरी है पेरेन्‍ट्स उनके साथ खुलकर बात करें और उन्‍हें सुनें. उनके साथ ऑनेस्‍ट रहें और किसी भी तरह के सवाल का गलत जवाब देने से अच्‍छा है कि सच को बेहतर तरीके से बताएं.

    दरअसल यह उम्र बड़ी निडर होती है और इनमें समझदारी आना अभी अभी शुरू हुई है. ऐसे में थोड़ी भी लापरवाही उन्‍हें एग्रेसिव और नकारात्‍मक बना सकती है जो उनके लाइफ तक को प्रभावित कर सकता है. ऐसे में यहां हम बता रहे है कि आप कोरोना काल में अपने टीनएज बच्‍चों के साथ किस तरह बर्ताव करें.

    1. रूटीन सेट करें

    घर का एक रूटीन सेट करना बहुत जरूरी है. ऐसे में आप उनके मार्गदर्शक होते हैं. ऐसे में अगर आप उन्‍हें कुछ सिखाना चाहते हैं तो पहले आपको वैसा बनना पड़ेगा. तो लाइफ को मैनेज करने के लिए सबसे पहले सब के लिए रूटीन सेट करें और उसे हर कीमत पर फॉलो करें. ऐसा करने से आपको भी हर बात पर सिखाना नहीं पड़ेगा.

    ये भी पढ़ें: बच्‍चे नहीं पीते पानी तो अपनाएं ये मजेदार ट्रिक्स

    2.तारीफ जरूरी

    अपने बच्‍चे की तारीफ करने में आपको जरा भी समय नहीं लगेगा लेकिन इसका असर पूरे दिन नजर आएगा. ऐसे बच्‍चों को अच्‍छी चीजों पर जरूर कॉम्‍प्‍लीमेंट दें.

    3.डिसीजन मेकर बनाएं

    आपको बता दें कि इस उम्र में बच्‍चे बहुत ही पर्सनल हो जाते हैं और उन्‍हें यह बिलकुल पसंद नहीं होता कि उनकी हर बातों का निर्णय पेरेंट लें. ऐसे में जहां तक संभव हो उन्‍हें घर में जरूरी डिसीजन लेना सिखाएं और गाइड करें. ऐसा करने से वे घर में बंधा हुआ महसूस नहीं करेंगे और आपकी इज्‍जत करेंगे.

    4.कभी कभी रूल्स में दें थोड़ी राहत

    नियमों का पालन जरूरी है लेकिन कभी कभी रूल्‍स में राहत दें. ऐसा करने से वे नॉर्मल लाइफ से थोड़ा अलग महसूस कर पाएंगे और खुश रहेंगे. लेकिन इसके बदले आप किसी काम को पूरा करने की कंडीशन रख सकते हैं.

    ये भी पढ़ें: नकारात्मक माहौल से अपने बच्‍चों को इस तरह निकालें बाहर

     5.जिम्मेदारी दें

    यह उम्र उनके जिम्‍मेदार होने की है. ऐसे में इससे बढ़िया टाइम नहीं हो सकता कि वे आपकी नजरों के सामने जिम्‍मेदारियों को लेना सीखें. ऐसा करने से वे घर में अपनी वेल्‍यू समझेंगे और भागीदारी निभाएंगे.

    Tags: Corona, Lifestyle, Parenting

    अगली ख़बर