• Home
  • »
  • News
  • »
  • lifestyle
  • »
  • बच्चा होने के बाद इन वजहों से कपल्‍स के बीच बढ़ जाती हैं दूरियां, जानें दोबारा करीब आने का तरीका

बच्चा होने के बाद इन वजहों से कपल्‍स के बीच बढ़ जाती हैं दूरियां, जानें दोबारा करीब आने का तरीका

बच्‍चे की शुरुआती परवरिश थकान भरी होती है. Image: shutterstock

बच्‍चे की शुरुआती परवरिश थकान भरी होती है. Image: shutterstock

Married Life Tips: बच्चे (Baby) के जन्म के बाद पति-पत्नी (Husband-wife) दोनों को ही कई बैर कठिन दौर से गुजरना पड़ता है, जिसमें एक-दूसरे का साथ बहुत ही जरूरी होता है.

  • Share this:

    Married Life After Having A Baby: अक्सर आपने देखा होगा कि कई पति-पत्नी (Husband-wife) आपसी मतभेद या लड़ाइयों की वजह बच्चे होते हैं. उनकी परवरिश को लेकर अलग विचार और एक दूसरे पर अविश्‍वास की भावना भी इसकी बड़ी वजह होती है. लेकिन जब इन लडाइयों के पीछे की वजह की पड़ताल की जाती है तो पता चलता है कि असल कारण बच्‍चा नहीं, कपल्स के बीच बढ़ती दूरी है. बच्चे की प्लानिंग के दौरान वे आने वाली परिस्थितियों के लिए खुद को तैयार तो कर लेते हैं लेकिन आपस के रिलेशन (Relation) को लेकर कैजुअल हो जाते हैं. ऐसे में यह जानना जरूरी है कि बच्‍चे के जन्‍म के बाद पति और पत्‍नी दोनों को ही कठिन दौर से गुजरना पड़ सकता है और ऐसे समय में एक-दूसरे का साथ सबसे जरूरी होता है.

    आज हम आपको बताते हैं कि बच्चे के जन्‍म के बाद आखिर क्‍यों पति पत्‍नी के बीच दूरियां बढ़ने लगती हैं.

    1. समय का अभाव

    बच्‍चे के जन्‍म के बाद समय का अभाव एक बड़ी समस्‍या होती है. बच्‍चे की परवरिश में इतना अधिक समय गुजरता है कि पति-पत्नी को एक दूसरे के लिए समय निकालना मुश्किल हो जाता है. यह मुश्किल भी है. लेकिन आपको यह जानना जरूरी है कि एक दूसरे के लिए समय निकालना बहुत जरूरी है. ऐसे में रोज कुछ घंटा बच्‍चे को घर के अन्‍य सदस्‍यों के पास छोड़ें और आपस के लिए समय निकालें.

    इसे भी पढ़ें : कहीं दूसरों के लिए परेशानी तो नहीं बन रही आपकी ये आदतें? आज ही खुद को टटोलें

    2. प्‍यार-दुलार की कमी

    बच्‍चे के जन्‍म के बाद थकान और स्‍ट्रेस की वजह से पति-पत्नी के पास प्‍यार दुलार का मूड ही नहीं बनता. यह एक आम समस्‍या है. देखने को मिलता है कि बच्‍चे के आने के बाद अक्सर महिलाओं का ज्यादा समय बच्चे के साथ बीतता है और वे अपनी पूरी ममता अपने बच्चे पर ही लुटा देती हैं. ऐसे में पति को अहसास होने लगता है कि अब उनके जीवन में प्यार बचा ही नहीं. ऐसी परिस्थिति में खासकर महिलाओं को थोड़ा सा प्यार अपने जीवनसाथी को देने की भी जरूरत है. इसके अलावा पति को भी चाहिए कि वो सकारात्‍मक रहे और अपनी पत्‍नी को दुलारे और परवाह दिखाए.

    3. नींद का अभाव

    बच्‍चे के जन्‍म के बाद दो तीन साल तक रात की नींद खराब हो जाती है. ऐसे में स्वभाव में चिड़चिड़ापन, सिर में दर्द, तनाव, चिंता आदि लक्षण नजर आने लगते हैं. कई बार ये लक्षण हावी होने लगते हैं.  ऐसे में एक-दूसरे की कमी और लापरवाही को लेकर झुंझलाहट या गुस्सा निकलने लगता है. ऐसे में दोनों मिलजुल कर इस समस्‍या का समाधान निकालें और प्रयास करें कि दोनों की रात की नींद पूरी हो सके.

    इसे भी पढ़ें : हर वक्‍त रिलेशनशिप टूटने का रहता है डर तो इन बातों का रखें ख्याल

    4. जिम्मेदारियों पर सवाल

    कई बार बच्‍चे की सारी जिम्‍मेदारी मां पर छोड़ दी जाती है और कुछ भी गलती होने पर मां को कोसा जाता है. ऐसा बिलकुल न करें. जिम्‍मेदारी को बराबर निभाएं और आरोप लगाने की बजाए बच्‍चे को साथ मिलकर सिखाएं.

    5. रोमांस की कमी

    बच्‍चे की शुरुआती परवरिश थकान भरी होती है. ऐसे में मां के लिए खुद को रोमांस के लिए तैयार कर पाना बहुत ही मुश्किल हो पाता है. ऐसे में जीवन में रोमांस को अलग तरीके से अपनाएं. आप दादी, नानी के पास बच्‍चे को कभी-कभी छोड़ें और एक दूसरे के लिए प्राइवेट समय निकालें

    6. अकेले वेकेशन 

    पत्‍नी बच्‍चे में इतनी व्‍यस्‍त रहती है कि कई बार उसका पाटर्नर अकेला ही बाहर घूमने चला जाता है. ऐसे में पत्‍नी को ठेस पहुंचना स्‍वाभाविक है. ऐसे में अकेले घूमने से अच्छा है कि वे फैमिली टूर करें. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज