लाइव टीवी

क्या आपका पार्टनर आपको हमेशा कंट्रोल करता है, आखिर ऐसा क्यों होता है?

News18Hindi
Updated: December 8, 2019, 12:40 PM IST
क्या आपका पार्टनर आपको हमेशा कंट्रोल करता है, आखिर ऐसा क्यों होता है?
अक्सर हम अपने जीवन में ऐसे लोगों को पाते हैं जो दूसरों पर कंट्रोल करने की पूरी कोशिश करते हैं.

एक कंट्रोल करने वाला व्यक्ति ज्यादातर समय आपको हर चीज के लिए दोषी ठहराएगा. वह चीजों के सबसे सहज रूप से भी गलती पाएंगे और इसे एक मुद्दा बना देंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 8, 2019, 12:40 PM IST
  • Share this:
जब आपको कोई अपने हिसाब से कंट्रोल करने लगता है या फिर हर बात पर जोर-जबरदस्ती करने लगता है तो उस व्यक्ति की एक अलग इमेज आपके आंखों के सामने बनती है. अक्सर हम अपने जीवन में ऐसे लोगों को पाते हैं जो दूसरों पर कंट्रोल करने की पूरी कोशिश करते हैं. उनके अंदर ऐसी आदतों की भरमार होती है, जिससे यह साफ मालूम पड़ता है कि वो कितने कंट्रोलिंग किस्म के हैं. ऐसे लोग अपनी चीजों को समय पर चाहते हैं और अपनी मर्जी से हर चीज होते हुए देखना चाहते हैं.

साथ ही ऐसे लोग ये भी चाहते हैं उनके आसपास के लोग भी वही काम और वैसे ही काम करें, जैसा वो चाहते हैं. ऐसे व्यक्तित्व वाले लोग रोमांटिक तो होते हैं लेकिन उनके साथ रहना ऐसा होता है जैसे कि स्कूल में वक्त बिता रहे हों या ऑफिस में किसी बॉस के साथ काम करना पड़ रहा हो. हम ऐसे लोगों से सिर्फ जिद और धमकाने की कल्पना करते हैं.

इसे भी पढ़ेंः शादी के बाद कुछ इस तरह बदल जाती है लड़कियों की जिंदगी, पहले से कर लें तैयारी

ऐसे लोग, हमें अक्सर यह महसूस कराते हैं कि वो हमारे जीवन से आसानी से फिसल सकते हैं. वो हमारे माता-पिता, दोस्त, सहकर्मी, एक परिचित या एक अजनबी भी हो सकते हैं. अगर आप अपने जीवन में ऐसे इंसान की बढ़ती उपस्थिति को महसूस करते हैं और इससे परेशान हैं, तो आपको ये बाते जानना बहुत जरूरी है.

ब्लेम गेम खेलना
याद रखें कि एक कंट्रोल करने वाला व्यक्ति ज्यादातर समय आपको हर चीज के लिए दोषी ठहराएगा. वह चीजों के सबसे सहज रूप से भी गलती पाएंगे और इसे एक मुद्दा बना देंगे. वो आपको बताएंगे कि आप इसके लिए जिम्मेदार हैं, भले ही उसका आपसे कोई लेना-देना न हो. ऐसे लोगों को आसानी से पहचानें और अपने जीवन से दूर रखें. समय के साथ-साथ ब्लेम गेम और खराब हो जाता है. इससे लोगों के मन में दूरियां बढ़ने लगती हैं, जो आपके जीवन से सकारात्मकता को खत्म कर सकता है.

आलोचना करनादोष लगाने के बाद आलोचना की बारी आती है. हर वक्त कंट्रोल करने वाला व्यक्ति सार्वजनिक और निजी तौर पर आपकी गलतियों को इंगित करके आपके आत्मविश्वास को तोड़ देगा. अगर ये आपका एक सहयोगी है, तो आप उसके सामने या साथ कोई भी काम नहीं कर सकते हैं. उदाहरण के लिए, ऐसे लोग काम में सबसे छोटी खामियों को भी दर्शाएंगे. वह आपको कुछ सही करने का श्रेय नहीं देंगे. ऐसा व्यक्ति अपनी कॉल न लेने जैसी छोटी-छोटी बातों पर भी अड़ सकता है. वह सार्वजनिक रूप से आपके खर्च पर, आपके कपड़े पहनने, बात करने, मजाक उड़ाने सब चीजों में दोष ढूंढ सकता है.

अलगाव होना
सबसे महत्वपूर्ण चीजों में से एक कंट्रोल करने वाला व्यक्ति आपको उन लोगों के साथ बातचीत करने से रोकता है, जिन्हें आप वास्तव में प्यार करते हैं. वह लगातार आपका ध्यान आकर्षित करेंगे और आपको दोस्तों और परिवार से अलग करेंगे. इसके अलावा, वह आपसे शिकायत करेंगे कि आप उनके साथ समय नहीं बिताते हैं. ऐसे लोगों में खास बात ये है कि ये किसी भी तरह खुश नहीं रह सकते हैं. इनके अंदर ये भावना हमेशा रहती है कि उनकी जगह आपने किसी ओर को कैसे अपना वक्त दे दिया.

इसे भी पढ़ेंः क्या आपको अपने पार्टनर का हाथ पकड़कर चलना पसंद हैं? होते हैं गजब के फायदे

जलन और लड़ाई
इस तरह के लोगों में जलन की भावना बहुत ज्यादा होती है. वह सभी को अपने आसपास ही चाहते हैं. जब आप किसी और के साथ कुछ योजना बनाते हैं, तो वह रोष या निराशा दिखा सकते हैं. इसके अलावा, वह आपको अपना वक्त किसी और को नहीं देने देंगे. अगर आप काम में अपनी उपलब्धियों के बारे में सोच रहे हैं तो वह हमेशा बातचीत को मोड़ देंगे और उनके बारे में बताएंगे. ये व्यवहार से आप अपने आपको अजीब और क्लस्ट्रोफोबिक महसूस कर सकते हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि उनमें ईर्ष्या की भावना होती है और अगर आपने जवाब दिया तो आपकी उनके साथ लड़ाई हो सकती है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रिश्ते से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 8, 2019, 12:40 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर