होम /न्यूज /जीवन शैली /इमोशनल इंटिमेसी से भी दूर होती है बीच की दूरी, तकरार होने पर काम आएंगे ये 3 टिप्स

इमोशनल इंटिमेसी से भी दूर होती है बीच की दूरी, तकरार होने पर काम आएंगे ये 3 टिप्स

रिश्‍ते के लिए जरूरी इमोशनल इंटिमेसी, (Image-Canva)

रिश्‍ते के लिए जरूरी इमोशनल इंटिमेसी, (Image-Canva)

Tips For Emotional Intimacy: किसी भी रिश्‍ते की सफलता में महत्‍वपूर्ण योगदान देने वाले कारकों में से एक है इमोशनल इंटिम ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

कपल के विचारों में होना चाहिए खुलापन.
रिश्‍तों में ईमानदारी जरूरी है.
किसी की भी गलती हो उसे लंबा न खींचें.

Tips For Emotional Intimacy: रिश्‍तों को सफल और मजबूत बनाने के लिए इंमोशनल इंटिमेसी का होना बेहद जरूरी है. फिजिकल इंटिमेसी की तरह ही इमोशनल इंटिमेसी भी कपल्‍स के बीच की दूरी और कड़वाहट को कम करने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभा सकती है. यही कारण है कि कई कपल्‍स बिना कुछ कहे इशारों में भी एक-दूसरे की मन की बात समझ जाते हैं. रिश्‍तों के बीच विश्‍वास की कमी कई बार तलाक का कारण भी बन सकता है. एक बार विश्‍वास डगमगा जाए जो विवाह में घनिष्‍ठता लाना काफी मुश्‍किल हो सकता है. हालांकि कोशिश की जाए तो इमोशनल इंटिमेसी के पुनर्निर्माण के लिए ब‍हुत कुछ किया जा सकता है. लेकिन इससे पहले ये जानना जरूरी है इमोशनल इंटिमेसी क्‍या है. चलिए जानते है इसके बारे में.

ये भी पढ़ें: ‘सिंगल रहेंगे तो फायदे में रहेंगे’, रिलेशनशिप से दूर रह कर उठा सकते हैं जिंदगी के मजे, जानें इसके लाभ

क्‍या है इमोशनल इंटिमेसी
मैरिज डॉट कॉम के अनुसार इमोशनल इंटिमेसी निकटता को संदर्भित करती है, जहां रिश्ते में दोनों साथी आराम, सुरक्षा और प्‍यार महसूस करते हैं. भावनात्‍मक रूप से घनिष्‍ठ संबंध में कम्‍यूनिकेशन और विश्‍वास महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. जब कपल भावनात्‍मक रूप से कारीब होते हैं तो वे एक-दूसरे के बारे में बेहतर ढंग से जान पाते हैं. एक-दूसरे का दुख दर्द और भावनाओं का सम्‍मान करते हैं.

इमोशनल इंटिमेसी के लिए महत्‍वपूर्ण टिप्‍स
खुलापन
भावनात्‍मक रूप से जुड़े लोग एक दूसरे के प्रति खुले और संवेदनशील होते हैं. वे बिना किसी हिचकिचाहट के एक-दूसरे को अपना दिल और आत्‍मा दे देते हैं. इसलिए रिश्‍तों को खास बनाने के लिए उनमें प्रेम और खुलापन होना चाहिए. दोनों को लाइफ में फैसला लेने का अधिकार होना चाहिए क्‍योंकि थोपे गए रिश्‍ते अधिक दिन तक नहीं चलते.

ईमानदारी और करुणा
रिश्‍तों में ईमानदारी से ही खुलापन आ सकता है. किसी भी रिश्‍ते को मजबूत बनाने के लिए जरूरी है कि उनके बीच बातचीत होती रहे. रिश्‍तों में ईमानदारी रखेंगे तो एक-दूसरे के प्रति अधिक प्‍यार और करुणा भी भावना जागृत होगी. इमोशनल इंटिमेसी को बढ़ावा देने का एकमात्र तरीका है एक-दूसरे के साथ सच्‍चा होना. यदि साथी के साथ ईमानदार और दयालु संवाद होगा तो मन की बात कहने में आसानी होगी.

ये भी पढ़ें: एक-दूसरे के प्रति आभार जताना, थैंक यू कहना भी है जरूरी, रिश्तों में बना रहेगा अपनापन और प्यार

क्षमा
जो लोग एक-दूसरे को प्‍यार करते हैं वे आसानी से क्षमा भी कर देते हैं. किसी से शादी करना एक आजीवन प्रतिबद्धता है और लोग उसमें न जाने कितनी गलतियां करते हैं. इसलिए अपने पार्टनर की ग‍लतियों को माफ करके रिश्‍तों को मजबूत किया जा सकता है. जो कपल एक-दूसरे की गलतियों को माफ नहीं करते, उनके बीच दूरियां और नाराजगी पैदा हो जाती है. इसलिए क्षमा मांगने और करने से कतराएं नहीं.
रिश्‍तों को मजबूत बनाने के लिए इमोशनल इंटिमेसी का होना बेहद जरूरी है. कपल्‍स यदि छोटी-छोटी बातों का ध्‍यान रखें तो कई चीजों को संभाला जा सकता है.

Tags: Couple, Health, Lifestyle, Relationship

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें