लाइव टीवी

यादों पर होता है भावनाओं का असर!

आईएएनएस
Updated: August 11, 2015, 9:57 AM IST
यादों पर होता है भावनाओं का असर!
मनुष्य का नियंत्रण उसकी भावनाओं पर सबसे कम होता है। एक अध्ययन में कहा गया है कि भावनाएं सिर्फ मस्तिष्क में सूचना प्रोसेसिंग का परिणाम ही नहीं हैं।

मनुष्य का नियंत्रण उसकी भावनाओं पर सबसे कम होता है। एक अध्ययन में कहा गया है कि भावनाएं सिर्फ मस्तिष्क में सूचना प्रोसेसिंग का परिणाम ही नहीं हैं।

  • Share this:
न्यूयॉर्क। मनुष्य का नियंत्रण उसकी भावनाओं पर सबसे कम होता है। एक अध्ययन में कहा गया है कि भावनाएं सिर्फ मस्तिष्क में सूचना प्रोसेसिंग का परिणाम ही नहीं हैं, बल्कि ये सीधे तौर पर स्मृति और सीखने की प्रक्रियाओं को प्रभावित करती हैं।

इजरायल की हाइफा युनिवर्सिटी के शोधकर्ता शोलोमो वॉगनर ने कहा कि विभिन्न भावनाएं हमारे मस्तिष्क को अलग-अलग ढंग और आवृत्तियों पर काम करने के लिए प्रेरित करती हैं।

अपने अध्ययन के पहले हिस्से में शोधकर्ता ने चूहों के दिमाग में सामाजिक व्यवहार के दौरान हो रही विभिन्न गतिविधि की जांच की। उन्होंने पाया कि मजबूत लयबद्ध गतिविधि पशु में उत्साह की एक स्थिति को दर्शाती है।



वॉगनर ने कहा कि शोध का परिणाम दर्शाता है कि एक अजनबी चूहे के साथ सामाजिक व्यवहार का एक उत्साह मस्तिष्क में एक हाई लेवल की समकालिक लयबद्ध गतिविधि को उजागर करता है। आखिर क्यों एक व्यक्ति को अपने किसी भी मित्र या साथी के साथ पहली मुलाकात और बातचीत याद रहती है।



वॉगनर ने अपने शोध में पाया कि उनका अनुमान सही था। विभिन्न भावनाएं व्यक्ति के मस्तिष्क को अलग तरीके से काम करने के लिए प्रेरित करती हैं, जिनमें सीखने और याद रखने की प्रक्रिया शामिल है।

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रिलेशनशिप से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 11, 2015, 9:43 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading