आशिकी पर भारी पड़ी ममता! इसलिए प्रेमिका ने प्रेमी को दी मौत

LoveSexaurDhokha: मन के डर, द्वंद्व और बदले की भावना के पहलुओं को छेड़ती कहानी. कई मोड़ों से गुज़रती हुई चेन्नई की इस कहानी में प्रेम संबंध में पहले प्रेमी एक कत्ल करता है, फिर प्रेमिका हत्याकांड रचती है.

Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: January 3, 2019, 9:11 PM IST
आशिकी पर भारी पड़ी ममता! इसलिए प्रेमिका ने प्रेमी को दी मौत
सांकेतिक चित्र
Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: January 3, 2019, 9:11 PM IST
कुछ महीने जेल में काटकर बाहर आने के बाद उसने एक प्राइवेट एजेंसी में काम शुरू किया था. कुछ ही रोज़ हुए थे कि एक दिन जब वह एजेंसी से बाहर निकला तो अचानक बाइक्स और रिक्शा से कुछ लोग दनदनाते आए और उसे घेर लिया. चाकुओं से ताबड़तोड़ हमले हुए. जैसे ही खून से लथपथ उसकी लाश ज़मीन पर गिरी, हमलावर वहां से फरार हो गए. दिखने में यह कत्ल के एक आम केस जैसा था, लेकिन इसके पीछे लव, सेक्स और धोखे की ऐसी कहानी थी, जिसमें एक खून पहले भी हो चुका था.

READ: सास-दामाद के अफेयर की कहानी

यह कहानी चेन्नई में साल 2017 में तब शुरू हुई थी जब नेसपक्कम इलाके में रहने वाली मंजुला का अफेयर नागराजन के साथ शुरू हो चुका था. नागराजन उसी गली में रहता था, जहां मंजुला अपने पति कार्तिकेयन और करीब 9 साल के बेटे रितिश के साथ रहती थी. तमिलनाडु ईबी सर्विस में इंजीनियर की हैसियत से काम करने वाली मंजुला और बिज़नेस के नाम पर कई तरह के काम करने वाले नागराजन के अफेयर की चर्चाएं कानाफूसियों में होने लगी थीं.

कार्तिकेयन की गैर मौजूदगी में मंजुला के घर नागराजन आता तो कभी मंजुला उसके घर चली जाती. कभी-कभी दोनों किसी और जगह पर भी मिलते. घर में जब दोनों के शारीरिक संबंध परवान चढ़ रहे थे, तब एक दिन रितिश ने दोनों को देख लिया. रितिश ने दोनों को देखा और दोनों को यह बात पता भी चल गई. मंजुला ने रितिश को प्यार से, फिर कुछ डराकर समझा दिया कि इस बात का जिक्र उसे किसी से नहीं करना था.

कुछ दिन रितिश ने यह बात किसी से नहीं कही थी. लेकिन, फिर भी नागराजन को डर लगा रहता था. वह जब भी मंजुला के घर आता, तो रितिश उसे घूरती या ऐसी नज़रों से देखता कि नागराजन शर्म और डर से भर जाता. वह रितिश पर अपना गुस्सा ज़ाहिर भी करता लेकिन मंजुला उसे समझा देती कि रितिश बच्चा है, उसे वह समझा चुकी है इसलिए उससे डरने की कोई बात नहीं.

प्रेमी का कत्ल, चेन्नई समाचार, चेन्नई हत्याकांड, love sex or dhokha, detective stories, cheating stories, spouse cheating, shak, doubt, husband and wife, extra marital affairs, how woman cheat on you, tricks of cheating, detective cheating case, real stories of cheating, जासूसी कथाएं, जासूसी कहानियां, वो कैसे देता है धोखा, धोखे की कहानियां, धोखा मिलाना, चीटिंग, साथी ने दिया धोखा, शक, लव सेक्स धोखा, अवैध संबंध, detective story, love sex dhokha, illicit relationship

कई तरह की बातों के बावजूद नागराजन को रितिश की निगाहों में कुछ ऐसा नज़र आता कि वह बेचैन हो उठता था. एक दिन नागराजन ने मौका देखकर अकेले में रितिश के साथ बातचीत की तो रितिश ने गुस्सा दिखाते हुए उसे झिड़क दिया और वहां से भाग गया. नागराजन को ये अपनी बेइज़्ज़ती महसूस हुई और फिर वह डर बना ही हुआ था. इस सबके बीच, कार्तिकेयन को भी कई तरह की बातों से भनक लग चुकी थी कि मंजुला का अफेयर चल रहा था.
Loading...

पहले कत्ल का वक्त आ चुका था
मंजुला और उसके पति के बीच बहस शुरू हो चुकी थी और कई तरह के सवाल-जवाब भी. मंजुला टेंशन में रहने लगी थी. नागराजन जब रोमांस के मूड में आता तो अपने टेंशन के चलते मंजुला ऐसी बातें करती कि उसका भी मूड खराब हो जाता. फरवरी 2018 में एक दिन ऐसा ही कुछ हुआ और तभी घूरते हुए रितिश पर नागराजन की निगाह पड़ी. नागराजन ने मौका बनाया और मंजुला के दूर होते ही उसने रितिश को किसी तरह काबू किया.

नागराजन के जाने के कुछ देर बाद घर के एक कोने में मंजुला ने रितिश को ज़ख्मी हालत में देखा तो वह बुरी तरह घबरा गई. कार्तिकेयन को फोन करने के बाद वह रितिश को अस्पताल लेकर गई. लेकिन, अस्पताल पहुंचने तक रितिश ने दम तोड़ दिया लेकिन मौत से पहले उसने बता दिया कि नागराजन ने उसकी यह हालत की. अब कार्तिकेयन और मंजुला दोनों का गुस्सा बेतहाशा हो चुका था.

प्रेमी का कत्ल, चेन्नई समाचार, चेन्नई हत्याकांड, love sex or dhokha, detective stories, cheating stories, spouse cheating, shak, doubt, husband and wife, extra marital affairs, how woman cheat on you, tricks of cheating, detective cheating case, real stories of cheating, जासूसी कथाएं, जासूसी कहानियां, वो कैसे देता है धोखा, धोखे की कहानियां, धोखा मिलाना, चीटिंग, साथी ने दिया धोखा, शक, लव सेक्स धोखा, अवैध संबंध, detective story, love sex dhokha, illicit relationship

कार्तिकेयन : देख लिया अपनी फालतू आशिकी का अंजाम? अब क्या ज़िंदगी भर खुद को माफ कर सकोगी?
मंजुला : ये सब बातें तो हम बाद में भी कर लेंगे कार्तिक, पहले पुलिस को इत्तला दो...

पुलिस को खबर की गई और नागराजन को रितिश की हत्या के इल्ज़ाम में गिरफ्तार कर लिया गया. केस चलता रहा और नागराजन जेल चला गया. इधर, रितिश की हत्या के बाद कार्तिकेयन ने मंजुला से दूर होने का फैसला कर लिया.

कार्तिकेयन : तुम्हें देखता हूं तो अपने बच्चे की मौत ही याद आती है. ऐसा लगता है जैसे मैं रितिश के हत्यारे के सामने हूं. मैं और तुम्हारे साथ नहीं रह सकता.
मंजुला : मैं भी तुम्हारे साथ नहीं रहना चाहती. हमारे साथ रहने की जो वजह थी, वो तो अब बची नहीं.
कार्तिकेयन : कितनी बेशर्म हो तुम? तुम्हें कोई पछतावा नहीं अपने किए का, कितनी आसानी से तुमने रितिश को एक वजह बता दिया?
मंजुला : तुम कुछ नहीं समझोगे कार्तिक. और मुझे कुछ समझाना भी नहीं है. अब मैं कुछ कहूं भी तो तुम्हें तो सब झूठ ही लगेगा...

मंजुला ने की डबल मर्डर की प्लैनिंग
दोनों अलग हो गए. मंजुला अपने रिश्तेदार के यहां रहने लगी. लेकिन, अलग हो जाना भी कहां इतना आसान होता है? अब बात चली हर तरह की प्रॉपर्टी और चीज़ों के बंटवारे की. पति पत्नी के रिश्ते में बहुत कुछ साझा होता है. जब रिश्ता एक झटके में खत्म हो जाता है तो कानूनी ढंग से हर चीज़ को बांटने में कई अड़चनें होती हैं. यही मुश्किलें पेश आईं और बेटे की मौत की सज़ा देने के अंदाज़ में कार्तिकेयन ने ऐसा बर्ताव किया कि वह मंजुला को हर चीज़ से बेदखल कर दे.

ये मुश्किलें बढ़ती गईं और यहां तक बढ़ीं कि मंजुला को सिर फटने जैसा महसूस होने लगा. एक तरफ, वह इस अपराध बोध में थी कि उसके बेटे की मौत उसके अफेयर के कारण हुई. दूसरी तरफ, उसे ऐसा लग रहा था कि कार्तिकेयन उसे पागल कर देना या मानसिक रूप से मार डालना चाहता था. कई तरह के दुखों और तकलीफों में मंजुला ने तय किया कि वह नागराजन को उसके किए की सज़ा खुद देगी ताकि अपने बच्चे की मौत के अपराध बोध से आज़ाद हो सके और कार्तिकेयन से भी छुटकारा पाने का मन बना बैठी.

मंजुला को मिला एक और धोखा
इस डबल मर्डर को अंजाम देने के लिए सबसे पहले मंजुला को एक पिस्तौल चाहिए थी. उसने अपने एक दोस्त प्रशांत से पिस्तौल के लिए मदद मांगी. प्रशांत ने यह काम करने का भरोसा दिलाकर मंजुला से कीमत ले ली और कुछ ही दिनों में उसे पिस्तौल लाकर दी. 'संभाल कर रखना, खतरनाक है. अब तो बता दो कि इतनी महंगी पिस्तौल से किसका काम तमाम करने वाली हो?' मंजुला ने प्रशांत के सवाल के जवाब में उसे थैंक्स कहकर विदा कर दिया.

प्रेमी का कत्ल, चेन्नई समाचार, चेन्नई हत्याकांड, love sex or dhokha, detective stories, cheating stories, spouse cheating, shak, doubt, husband and wife, extra marital affairs, how woman cheat on you, tricks of cheating, detective cheating case, real stories of cheating, जासूसी कथाएं, जासूसी कहानियां, वो कैसे देता है धोखा, धोखे की कहानियां, धोखा मिलाना, चीटिंग, साथी ने दिया धोखा, शक, लव सेक्स धोखा, अवैध संबंध, detective story, love sex dhokha, illicit relationship

मंजुला अपनी कार ड्राइव करके एक खाली जगह पर गई और वहां उसने पिस्तौल चलाने की प्रैक्टिस करना चाही. उसने आसपास सन्नाटा देखकर पिस्तौल निकाली और जैसे ही गोली चलाई तो गुस्से में उसके मुंह से एक गाली के बाद निकला - 'सारे मर्द कमीने हैं!' अस्ल में, प्रशांत ने उसके साथ धोखा किया था और उससे पूरी कीमत लेकर एक खिलौने वाली नकली पिस्तौल थमाकर चला गया था.

मंजुला तैश में थी और वह सीधे थाने पहुंच गई. उसने आनन-फानन में प्रशांत के खिलाफ धोखाधड़ी की शिकायत करवा दी लेकिन वह भूल गई कि यह शिकायत उस पर भी भारी पड़ने वाली थी. 'आपने पिस्तौल खरीदने की कोशिश ही क्यों की? क्या आपके पास पिस्तौल का लाइसेंस है?' इन सवालों के उठते ही, उसे एहसास हुआ कि उससे गुस्से में गलती हो गई. बात यहां तक पहुंची कि प्रशांत और मंजुला दोनों को जेल में डाल दिया गया.

और फिर मां ने लिया बदला
मंजुला के खिलाफ गंभीर केस नहीं था इसलिए उसे जल्द ही ज़मानत मिल गई. इधर, जेल में बंद नागराजन को यह खबर मिल गई थी कि मंजुला को पिस्तौल के सौदेबाज़ी के लिए पुलिस ने पकड़ा था. उसे बात समझ आ गई थी कि मंजुला से उसे खतरा था. दिसंबर 2018 में नागराजन को भी बेल पर छोड़े जाने का रास्ता साफ हो गया. मंजुला के डर की वजह से नागराजन जेल से निकलकर चेन्नई से करीब 200 किलोमीटर दूर तिरुवन्नमलई चला गया.

यहां नागराजन ने एक प्राइवेट एजेंसी में किसी तरह काम हासिल किया ताकि उसकी रोज़ी रोटी का बंदोबस्त हो जाए. दिन गुज़रते जा रहे थे और नागराजन बेफिक्र होता जा रहा था. उधर, मंजुला अपना काम कर रही थी. नागराजन के हर मूवमेंट की खबर ले रही थी और इस बात से नागराजन अनजान था.

प्रेमी का कत्ल, चेन्नई समाचार, चेन्नई हत्याकांड, love sex or dhokha, detective stories, cheating stories, spouse cheating, shak, doubt, husband and wife, extra marital affairs, how woman cheat on you, tricks of cheating, detective cheating case, real stories of cheating, जासूसी कथाएं, जासूसी कहानियां, वो कैसे देता है धोखा, धोखे की कहानियां, धोखा मिलाना, चीटिंग, साथी ने दिया धोखा, शक, लव सेक्स धोखा, अवैध संबंध, detective story, love sex dhokha, illicit relationship

25 दिसंबर 2018 की शाम जब नागराजन अपने दफ्तर से निकला तो कुछ बाइकसवारों और रिक्शा से आए लोगों ने उसे घेर लिया और देखते ही देखते चाकुओं से इतने हमले किए कि नागराजन ने मौके पर ही दम तोड़ दिया. हमलावर वहां से फरार हो गए और रास्ते में उन्होंने मंजुला को फोन किया.

श्याम : काम हो गया मंजुला. नागू स्पॉट पर ही मर गया और हम लोग निकल चुके हैं.
मंजुला : तुम सबको मैं कैसे शुक्रिया कहूं?
श्याम : अरे, शुक्रिया क्या कहना है? तुमने काम के लिए अच्छी रकम दी और फिर हम सब फ्रेंड्स भी तो हैं इसलिए तुम्हारा काम तो करना ही था.
मंजुला : ठीक है, लेकिन अब मैं सरेंडर करने जा रही हूं और सब कुछ पुलिस को बता दूंगी. मैं अब और तकलीफ नहीं झेल सकती.

दिनेश, श्याम, संतोष और सरवन सभी मंजुला की यह बात सुनकर डर गए. मंजुला फोन काट चुकी थी. मंजुला ने जैसा कहा, वैसा ही किया. वह चेन्नई के जॉर्ज टाउन पुलिस थाने पहुंची और आत्मसमर्पण कर दिया. कुछ ही देर में ये चारों भी पुलिस थाने पहुंचे और सरेंडर कर दिया. पुलिस अब इस केस में और छानबीन कर रही है.

(सच्ची घटनाओं और खबरों पर आधारित लव सेक्स और धोखे की इस कहानी में किरदारों के नाम वास्तविक हैं.)

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

अपराध की और कहानियों के लिए क्लिक करें

FB से खुली सास-दामाद के अफेयर की कहानी, फिर एक कत्ल हुआ!
'जब तक लड़कियों को बात समझ आती, काफी देर हो चुकी होती थी...'
प्रेमी के साथ मिलकर वो पति की लाश घसीट रही थी और उसका बेटा देख रहा था!

PHOTO GALLERY : मीडिया के लिए सबसे खतरनाक देशों की लिस्ट में भारत
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर