खुदकुशी से पहले के वो ख़त : वो खुला घूमे, मैं घर में गाय जैसी बंधी रहूं?

LoveSexaurDhokha: दूसरा भाग - पुलित्ज़र सम्मान से सम्मानित कवयित्री सिल्विया प्लैथ की वो चिट्ठियां, जिनमें उसने अपने पति नामचीन कवि टेड ह्यूज़ की बेवफाई के किस्से पूरी घिन, गुस्से, और कामोत्तेजक अंदाज़ में बयान किए थे.

Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: February 7, 2019, 8:29 PM IST
Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: February 7, 2019, 8:29 PM IST
साल 1963 में 30 साल की उम्र में खुदकुशी से कुछ पहले ही सिल्विया ने एक अमेरिकी डॉक्टर को चिट्ठियां लिखी थीं जिनमें उसने अपने पति टेड की बेवफाई के किस्से और अपनी तकलीफ बयान की थी. टेड के संबंध लंदन में आसिया के साथ थे और डेवॉन में टेड के बच्चों की मां के तौर पर रह रही सिल्विया को जब ये पता चला तो 1962 में उसने टेड से अलग होने का फैसला लिया था. तभी से वह डिप्रेशन की शिकार थी. ये चिट्ठियां सिल्विया के शब्दों में टेड की बेवफाई के दस्तावेज़ हैं. दूसरी किश्त में दूसरी चिट्ठी के अंश.

सिल्विया की पहली चिट्ठी यहां पढ़ें

चिट्ठी-2 : सोमवार, 30 जुलाई 1962
"डॉक्टर रूथ ब्यूशर,

आपको जो पिछली चिट्ठी मैंने लिखी, मुझे लगता है कि उसमें मैंने बहुत नीचता और निष्ठुरता के साथ बातें कीं. लेकिन, ख़ैर, कुल मिलाकर बात ये है कि क्या टेड सोचता है कि मेरा क्या अस्तित्व है? मैं उसकी मां हूं? या सिर्फ एक कोख? मैं क्या करूं कि वो मुझे एक सख़्त जेलर की तरह देखना बंद करे?



READ: बॉयफ्रेंड के धोखे में किसी और के साथ SEX

हर हाल में, टेड का उपद्रव जारी है - वो चिट्ठियां लिख रहा है, हमारे बीच सब कुछ टूटने का फायदा उठाकर रेडियो पर चीख रहा है और इन हालात का पूरा मज़ा ले रहा है. यकीन मानिए, उसकी फेवरेट कविता एक बाज़ के बारे में लिखी उसी की लिखी एक कविता है जिसमें फासीवादी ईगो की बू आती है जिसका शीर्षक है - 'जब मेरा दिल चाहता है मैं मार देता हूं क्योंकि सब कुछ मेरा है'.
Loading...

अब मुझे समझ आता है कि वो ये मान बैठा है कि इन हालात में मैं खुदकुशी कर सकती हूं. लेकिन, फिलहाल मेरी उलझन यही है कि मैं उन दूसरी औरतों को लेकर क्या सोचूं? क्या करूं?

love letters, love story of poet, प्रेमियों के खत, चर्चित चिट्ठियां, love sex or dhokha, detective stories, cheating stories, spouse cheating, shak, doubt, husband and wife, extra marital affairs, how woman cheat on you, tricks of cheating, detective cheating case, real stories of cheating, जासूसी कथाएं, जासूसी कहानियां, वो कैसे देता है धोखा, धोखे की कहानियां, धोखा मिलाना, चीटिंग, साथी ने दिया धोखा, शक, लव सेक्स धोखा, अवैध संबंध, detective story, love sex dhokha, illicit relationship
सिल्विया प्लैथ और टेड ह्यूज़.


क्या मैं एक बेवकूफ औरत हूं जो इस तरह सोचूं कि आप जिसे चाहते हैं, शरीर से भी उसके साथ वफादार होने का कोई मकसद है? हर आकर्षण के पीछे भागना क्या ठीक है, जबक आप जानते हैं कि किसी को इससे तकलीफ होगी?

READ: बेवफा पति से बीवी कहती थी 'आय लव यू'

मेरा मतलब है कि ये सब सोचते हुए प्यार करने का मेरा सुख बर्बाद हो चुका है. क्या वो मेरे बालों को किसी दूसरी औरत के बालों जैसा कहेगा? क्या मेरे बदन की तराश की तुलना किसी और से करेगा और क्या मेरे टैलेंट में भी वो किसी और को तलाशेगा?

मैं कैसे आत्मसम्मान हासिल कर सकती हूं? मुझे नफरत हो गई है इस मुल्क में इस तरह रहने से कि मैं बच्चों के साथ रहूं और टेड दूसरी औरतों के साथ सोने के लिए जाता रहे. जब लौटे तो अपनी थकान लेकर, मुझसे सिर्फ खाने को कुछ चाहे और अपने लेखन के लिए रिफ्रेश हो जाए. ये सब सोचना मुझे सताता है.

उसे मेरी रोती-बिसूरती शक्ल पसंद नहीं लेकिन या खुदा, उसकी करतूतें ही तो मुझे रुलाती हैं. मैं सोचती हूं कि उसके लिए हर आकर्षण का मतलब बिस्तर पर जाना है. क्या मैं उसे ऐसा करने दूं? उसे लगता है कि यही आज़ादी है.

वो हैंडसम है, उसकी मर्दानगी रिझाने लायक है. मैं खूबसूरत नहीं हूं. हां, जब मैं खुश होती हूं तो मुझमें एक चमक, एक आभा होती है लेकिन अब ऐसा क्या रह गया है कि मैं खुश रह सकूं? मैं उदास और कड़वी नहीं होना चाहती, मर्दों को ये अच्छा नहीं लगता लेकिन मैं क्या करूं?

love letters, love story of poet, प्रेमियों के खत, चर्चित चिट्ठियां, love sex or dhokha, detective stories, cheating stories, spouse cheating, shak, doubt, husband and wife, extra marital affairs, how woman cheat on you, tricks of cheating, detective cheating case, real stories of cheating, जासूसी कथाएं, जासूसी कहानियां, वो कैसे देता है धोखा, धोखे की कहानियां, धोखा मिलाना, चीटिंग, साथी ने दिया धोखा, शक, लव सेक्स धोखा, अवैध संबंध, detective story, love sex dhokha, illicit relationship

अब मुझे लगने लगा है कि और बुरा कुछ होने वाला है. किसी दिन शायद टेड आए और मुझसे कहे कि 'मैं इस लड़की को अपनी बीवी बनाना चाहता हूं और यही मेरे बच्चों की मां बनेगी!' एक बार मैंने उससे कहा भी था : मैं तुम्हें दोबारा बीवी-बच्चों वाली उस लीचड़ और कीचड़ वाली ज़िंदगी से बचाना चाहती हूं.

मैंने ये भी कहा था कि बेशक वो कई हरामी औलादें पैदा कर सकता है लेकिन तब जबकि कोई औरत अपनी आंखों पर पट्टी बांध ले या उसकी आंखें बर्फ की तरह ठंडी और जमी हुई हों. आप कह सकते हैं कि उसके घर पर एक दकियानूसी बीवी है जो उसकी आज़ादी की सुरक्षा कर रही है और उसे फिर घर-गृहस्थी के दलदल में फंसने से बचा रही है...


और, मैं उसके लिए थोड़ी अक्ल भी चाहती हूं. मुझे पता है कि वो वाकई जीनियस है. बहुत महान लेखक है, हैंडसम और महान आदमी है. लेकिन इस हफ्ते में मुझे बहुत तकलीफ हुई, इस ख़याल पर मुझे उबकाई आने जैसी घुटन हुई कि वो दूसरी औरतों को भी लेकर भी कितना दगाबाज़ है.

लेकिन, मैं इससे उबरने के लायक होना चाहती हूं, अगर वो अपनी आज़ादी को या मुझे आज़माना चाहे तो. मेरा यकीन कीजिए, मुझे पता है कि बहुत सी औरतें हैं, जो उस पर हाथ डालना चाहती हैं. और शायद मुझ पर भी!

मैं पूरी ईमानदारी से कहती हूं, भले ही ये मेरी कायरता, उकताहट, आरोप या संकीर्णता, कुछ भी समझा जाए, कि एक बेहतर फैमिली के लिए दूसरा मौका मैं टेड को नहीं देना चाहती. हम इस मुल्क के इस शहर में इसलिए आए थे क्योंकि ये टेड का ख़्वाब था - सेबों के बाग, मछली पकड़ना, शांति, साफ आबोहवा जैसा बहुत कुछ!

मैं लंदन में रहना चाहती थी. वहां की सोशल लाइफ, सिनेमा, कला वीथिकाएं और चहल पहल मुझे पसंद थी. मुझे यहां रहना भी अच्छा लगा, ये मेरा पहला घर था जो बहुत सुंदर था. लेकिन, अब मैं ये सोचकर ऊबने लगी हूं कि मैं यहां एक गाय की तरह बंधकर रह गई हूं और बस बच्चों को दूध पिलाना ही मेरा काम है.

ऐसा नहीं कि मुझे अपने बच्चे प्यारे नहीं, लेकिन मुझे अपनी ज़िंदगी भी चाहिए. मैं किताबें लिखना चाहती हूं, लोगों से मिलना जुलना और घूमना चाहती हूं. शायद, कुछ वक्त बाद मैं एक अलग कॉटेज चाहूं जहां एक आया हो. इसलिए, मैं एक बेकार बैठी और कुढ़ती हुई बीवी बनकर नहीं रहना चाहती. मुझे लगता है कि आपने अगले कुछ सालों तक और बच्चे न होने की जो सलाह दी थी, वो वाकई ठीक थी.

love letters, love story of poet, प्रेमियों के खत, चर्चित चिट्ठियां, love sex or dhokha, detective stories, cheating stories, spouse cheating, shak, doubt, husband and wife, extra marital affairs, how woman cheat on you, tricks of cheating, detective cheating case, real stories of cheating, जासूसी कथाएं, जासूसी कहानियां, वो कैसे देता है धोखा, धोखे की कहानियां, धोखा मिलाना, चीटिंग, साथी ने दिया धोखा, शक, लव सेक्स धोखा, अवैध संबंध, detective story, love sex dhokha, illicit relationship
स्टडी रूम में सिल्विया प्लैथ का चित्र.


शायद मैं दो और बच्चे चाहूं लेकिन अब ये तब ही चाहूंगी जब एक आया हो जो घर के कामों से मुझे फ्री रख सके. मुझे गर्भवती होने में एक कमाल का कामुक सुख महसूस होता है. लेकिन, उससे भी ज़्यादा कामुक सुख मुझे अपना बदन हल्का, सुडौल और सेक्स के लिए उत्तेजक बनाए रखने में भी होता है.

आपको क्या लगता है कि मुझे टेड के और किन असंतोषों पर नज़र रखना चाहिए? उसे अपनी आज़ादी बहुत प्यारी है. वो कहता है कि आज़ादी से उसका मतलब ट्रैवलिंग यानी यात्रा है, न कि वेश्याएं. लेकिन मुझे लगता है कि उसके साथ ये दोनों एक साथ चलते हैं.

मैं जो नहीं चाहती हूं, वो ये है कि मैं अनछुई बीवी बनकर रहूं. इससे मुझे बहुत कड़वाहट महसूस होती है. ऐसा लगता है जैसे मैं बेकार की कोई चीज़ हूं. मैं वो हफ्ते में दो बार 'थैंक यू डार्लिंग' टाइप की बीवी नहीं बनना चाहती. हो सकता है कि दूसरे मर्दों को चाहने से मेरे लिए बहुत आसानी हो जाए लेकिन ये ज़रूरी भी है कि मैं दूसरे मर्दों की भी तारीफ करूं, उन्हें आकर्षक कहूं. हालांकि ऐसे मर्द बहुत कम हैं और मुझे लगता है कि औरत को घर पर गाय बनाने वाले इस देश में ऐसे मर्दों से मैं मिल भी सकूंगी या नहीं!"

(क्रमश: अगले अंक में पढ़ें सिल्विया की अगली चिट्ठी. गौरतलब है कि टेड ह्यूज़ अंग्रेज़ी के सम्मानित और बेस्टसेलर कवि व राइटर रहे हैं. चर्चित और सम्मानित कवयित्री रही सिल्विया की खुदकुशी के बाद उनकी मौत के लिए टेड को दोषी ठहराने का सिलसिला चलता रहा.)

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

अपराध की और कहानियों के लिए क्लिक करें

अफीम विरासत थी, गांजा शुरूआत, फिर उसने खड़ा किया नार्को अंडरवर्ल्ड
खुदकुशी से पहले के वो ख़त : चर्चित कवि के सेक्स और धोखे के दस्तावेज़
सवाल चर्चा में है कि वो सीरियल लवर था या सीरियल किलर?

PHOTO GALLERY : तीन कत्ल, जिनकी मास्टरमाइंड थी एक हसीना!
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...