सावधान! कहीं आपके रूमानी रिश्ते ना खत्म कर दे स्मार्टफोन

सावधान! कहीं आपके रूमानी रिश्ते ना खत्म कर दे स्मार्टफोन
अपने महबूब या महबूबा के साथ समय बिताने के दौरान स्मार्टफोन से चिपकने के नतीजे उससे कहीं ज्यादा खतरनाक हो सकते हैं जितने का आप शायद अनुमान लगाते हों।

अपने महबूब या महबूबा के साथ समय बिताने के दौरान स्मार्टफोन से चिपकने के नतीजे उससे कहीं ज्यादा खतरनाक हो सकते हैं जितने का आप शायद अनुमान लगाते हों।

  • Share this:
न्यूयॉर्क। अपने महबूब या महबूबा के साथ समय बिताने के दौरान स्मार्टफोन से चिपकने के नतीजे उससे कहीं ज्यादा खतरनाक हो सकते हैं जितने का आप शायद अनुमान लगाते हों। एक अध्ययन से पता चला है कि यह हरकत रोमांटिक रिश्तों को तबाह कर सकती है। यही नहीं डिप्रेशन का शिकार भी बना सकती है।

अमेरिका के टेक्सास के बेयलर विश्वविद्यालय के प्रोफेसर जेम्ल राबर्ट इस शोध का हिस्सा रहे हैं। उनका कहना है कि जब आप इसके नतीजों के बारे में सोचते हैं तो पाते हैं कि यह चौंका देने वाला है। उन्होंने कहा कि स्मार्टफोन जैसी आम सी दिखने वाली चीज हमारी खुशियों को डस सकती है। हमारे रूमानी जोड़ीदार से रिश्ते को खराब कर सकती है।

इस अध्ययन में शोधकर्ताओं ने 'फबिंग' यानी 'पार्टनर फोन स्नबिंग' का 453 वयस्कों पर पड़ने वाले असर का अध्ययन किया। फबिंग का अर्थ बताया गया है कि अपने रोमांटिक जोड़ीदार के साथ समय बिताने के दौरान लोग किस हद तक सेलफोन की तरफ आकर्षित होते हैं या इस्तेमाल करते हैं।



राबर्ट्स ने बताया कि अध्ययन में हमने पाया कि जब किसी को लगता है कि उसका साथी उसे 'फब्ड' (उसकी अनदेखी कर सेलफोन से चिपकना) कर रहा है तो फिर इससे विवाद पैदा होता है और रिश्तों में संतुष्टि का स्तर घट जाता है।



शोध के नतीजों में पता चला कि 46.3 फीसदी ने पाया कि उनके साथी ने उन्हें 'फब्ड' किया है। 22.6 फीसदी ने कहा कि इसकी वजह से झगड़ा हुआ। 36.6 फीसदी ने कहा कि इससे उनमें डिप्रेशन का अहसास पैदा हुआ।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading