होम /न्यूज /जीवन शैली /

इन 5 संकेतों से जानें आपका रिश्ता हो रहा है टॉक्सिक और अनहेल्दी

इन 5 संकेतों से जानें आपका रिश्ता हो रहा है टॉक्सिक और अनहेल्दी

पार्टनर बात-बात में प्यार से नहीं बल्कि चिल्लाकर बात करे, तो इसे टॉक्सिक कम्युनिकेशन कहेंगे.

पार्टनर बात-बात में प्यार से नहीं बल्कि चिल्लाकर बात करे, तो इसे टॉक्सिक कम्युनिकेशन कहेंगे.

टॉक्सिक रिलेशन यानी रिश्ते में प्यार की जगह दिखावापन, कड़वापन, झूठ जैसी बातें शामिल होना. इस तरह के रिलेशन में प्यार और एक-दूसरे के प्रति अपनापन, इमोशनल बॉन्डिंग की कमी होने लगती है. यदि आप जानना चाहते हैं कि आपके रिश्ते में प्यार की जगह कड़वाहट ने जगह ले ली है और रिलेशनशिप टॉक्सिक हो गया है, तो इसे इन संकेतों से पहचानें.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

एक-दूसरे को रिलेशनशिप में होने के बावजूद भी इग्नोर करें, तो समझ लें रिश्ते में प्यार नहीं रहा.
हर छोटी-छोटी बातों पर लड़ाई-झगड़े की नौबत आ जाए, तो यह टॉक्सिक रिलेशन की निशानी है.

Toxic Relationship: कोई भी रिश्ता तभी तक चलता है, जब उसमें एक-दूसरे के प्रति प्यार, इज्जत, अपनापन की भावना हो. कई बार पार्टनर एक-दूसरे पर बात-बात में चिल्लाते रहते हैं, हर छोटी बात पर लड़ाई करते हैं. इस तरह की बातें मैरिड लाइफ में अक्सर होने लगें, तो समझ लीजिए आपका रिश्ता टॉक्सिक हो गया है. टॉक्सिक रिलेशन यानी रिश्ते में प्यार की जगह कड़वापन शामिल हो गया है. इस तरह के रिलेशन में प्यार और एक-दूसरे के प्रति अपनापन, इमोशनल बॉन्डिंग की कमी होने लगती है. यदि आप जानना चाहते हैं कि आपके रिश्ते में प्यार की जगह कड़वाहट ने जगह ले ली है और रिलेशनशिप टॉक्सिक हो गया है, तो इसे इन चीजों से पहचानें.

इसे भी पढ़ें: रिलेशनशिप में तनाव से बढ़ सकती है इमोशनल डिस्टेंसिंग, जानिए अन्य वजह

टॉक्सिक रिलेशनशिप की 5 बातें

  • जब आप और आपका पार्टनर बात-बात में प्यार से नहीं बल्कि चिल्लाकर एक-दूसरे से बातें करने लगें तो इसे टॉक्सिक कम्युनिकेशन कहेंगे. हर छोटी-छोटी बातों पर लड़ाई-झगड़े की नौबत आ जाए, तो यह टॉक्सिक रिलेशन की निशानी है.
  • यदि एक-दूसरे को आप किसी भी काम, उनकी बातों, विचारों में सपोर्ट नहीं करते, तो रिलेशनशिप अनहेल्दी हो चुका है. बेहतर है कि आप लोग शांति से बैठकर बात करें और सोचें कि कहां और क्यों आपके रिश्ते में ऐसी नेगेटिव फीलिंग शामिल हो रही है. सपोर्ट की कमी होने से कई बार व्यक्ति अकेला महसूस करने लगता है, जो अनहेल्दी और टॉक्सिक रिलेशनशिप की निशानी है.

इसे भी पढ़ें: रिलेशनशिप में हर वक्‍त दूसरे को ब्‍लेम करना बन सकता है इमोशन शटडाउन की वजह, इस तरह निकालें हल

  • क्या आप अपने पार्टनर की सफलता और गुड लक को देखकर ईर्ष्या महसूस करते हैं, तो फिर यह टॉक्सिक रिलेशनशिप की निशानी है. इस तरह की सोच, आदत को टॉक्सिक हैबिट की कैटेगरी में शामिल करते हैं. यदि आप चाहते हैं कि आपका रिलेशन हेल्दी बना रहे, तो अपने पार्टनर की सफलता को देखकर जलन नहीं, बल्कि खुशी महसूस करें. ध्यान रखें कि आपके पार्टनर की कामयाबी से आपको भी लोग पहचानेंगे, तारीफ करेंगे.
  • यदि आपका पार्टनर रिलेशनशिप में आपसे चीटिंग कर रहा/रही है, तो समझ लें रिश्ता टॉक्सिक हो रहा है. आपका जीवनसाथी आपसे अपने दोस्तों के बारे में छिपाए, उनके बारे में झूठ बोले, वह कहां जा रहा है, किसके साथ फोन पर बात कर रहा है, ये सब छिपाने लगे, तो समझ लें पार्टनर रिश्ते में ईमानदारी नहीं बरत रहा है. वह आपको किसी और के लिए धोखा दे रहा है. ऐसे रिश्ते अनहेल्दी और टॉक्सिक होते हैं और जल्द ही टूट जाते हैं. बेहतर है समय रहते ही इस पर बात कर लें और रिश्ते को टूटने से बचाने के बारे में रिलेशनशिप एक्सपर्ट से मदद लें.

  • यदि आप दोनों एक-दूसरे को रिलेशनशिप में होने के बावजूद भी इग्नोर करना शुरू कर दें, तो समझ लें रिश्ते में प्यार नहीं रहा. ऐसे रिश्ते से अलग होकर नई जिंदगी की शुरुआत करनी चाहिए. यदि कोई एक व्यक्ति बात-बात में आपको इग्नोर और नज़रअंदाज़ कर रहा है, तो इसका कारण जानने की कोशिश करें. ये सभी चीजें टॉक्सिक रिलेशन की तरफ इशारा करती हैं.

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Lifestyle, Relationship

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर