होम /न्यूज /जीवन शैली /लोगों से मिलने या नए दोस्‍त बनाने में आती है दिक्‍कत? इन तरीकों से लाएं पॉजिटिव बदलाव

लोगों से मिलने या नए दोस्‍त बनाने में आती है दिक्‍कत? इन तरीकों से लाएं पॉजिटिव बदलाव

अपने कंफर्ट जोन से बाहर निकलने का प्रयास करें. (Image : Canva)

अपने कंफर्ट जोन से बाहर निकलने का प्रयास करें. (Image : Canva)

कुछ लोगों को दोस्‍ती करना, लोगों से बातचीत करना आदि मुश्किल काम लगता है. वे लोगों से मिलने में हिचकिचाते हैं और उन्‍हें ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

प्रयास करें कि आप लोगों की बातों को नजर मिलाकर सुनें.
हर इंसान को खुद की कमियों से बाहर निकलना पड़ता है.

Tips For Overcoming Social Awkwardness:  कुछ इंसान ऐसे होते हैं जिन्‍हें पार्टी करना, नए लोगों से मिलना, अपनी पहचान बनाना और रोज नए दोस्‍त बनाना पसंद होता है. कुछ लोग ऐसे भी होते हैं, जिन्‍हें सोशल होने, लोगों के साथ घुलने मिलने या पब्लिक प्‍लेस में बैठने में भी एंजाइटी महसूस होती है. साइकसेंट्रल के मुताबिक, ऐसे नेचर वाले लोग शर्मीले स्‍वभाव के इंसानों से अलग होते हैं. सोशल ऑकवर्ड नेचर वाले इन लोगों को पब्लिक स्‍पीकिंग में हिस्‍सा लेने या लोगों से आंख मिलाकर बात करने तक में दिक्‍कत आती है. ऐसे लोग को सोशल सिचुएशन में पसीना आने लगता है और वे लोगों से बात नहीं कर पाते. यही नहीं, वे घबराहट भी महसूस करने लगते हैं. अगर आपके साथ भी कुछ ऐसा होता है तो आप कुछ बातों को फॉलोकर खुद में सकारात्‍मक बदलाव ला सकते हैं.

प्रैक्टिस करें
आप अकेले में खुद को अंजान इंसान मानकर बात करें और किसी भी टॉपिक पर बोलने का अभ्‍यास करें. ये टॉपिक बिलकुल सिंपल रखें. मसलन, आज का मौसम कितना अच्‍छा है, आज दफ्तर में बॉस का जन्‍मदिन है, क्‍या खाने का मन कर रहा है आदि.

ये भी पढ़ें: आप इमोशनल एडिक्शन का तो नहीं हो रहे शिकार? जानें इससे उबरने के तरीके

नजर मिलाएं
प्रयास करें कि आप लोगों की बातों को नजर मिलाकर सुनें. जब भी कुछ बोलें तो अपनी छोटी सी बात भी नजर उठाकर बताएं. ऐसा करने से आपका आत्‍मविश्‍वास बढ़ेगा और आपका बॉडी लैंगवेज सकारात्‍मक दिखेगा.

दूसरों पर करें फोकस
आप लोगों से सवाल करें और उनकी बातों को ध्‍यान से सुनते हुए फोकस करें. ऐसा करने से आप खुद को दूसरों से बेहतर तरीके से कनेक्‍ट करना जान पाएंगे. यही नहीं, इससे आप लोगों के साथ फ्लो में बातचीत कर पाएंगे.

रिलैक्‍स रहें
याद रखें कि हर इंसान खुद की कमियों से बाहर निकलने का प्रयास कभी ना कभी करता ही है. इसलिए आप भी पॉजिटिव रहते हुए खुद को रिलैक्‍स रखें और दूसरों की नकल करने की बजाये अपनी तरह रहें.

इसे भी पढ़ें : रिलेशनशिप में फॉलो करें ये 5 गोल्‍डन रूल्‍सपार्टनर नहीं छिपाएगा कोई भी बात

कंफर्ट ज़ोन से आएं बाहर
कई बार हम अपने कंफर्ट जोन से बाहर नहीं निकलना चाहते, जिस वजह से नए परिवेश में हमें दिक्‍कत होने लगती है. अगर आप भी ऐसा कर रहे हैं तो खुद को मोटिवेट करें और खुद में बदलाव लाने के लिए दोस्‍तों, परिवार या एक्‍सपर्ट की मदद लें.

Tags: Lifestyle, Relationship

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें