रिसर्च: घर में कुत्ता पालने से नहीं होगी दिल की बीमारी !

News18Hindi
Updated: August 26, 2019, 1:22 PM IST
रिसर्च: घर में कुत्ता पालने से नहीं होगी दिल की बीमारी !
कुत्ता रखने से आपको हृदय संबंधी रोग होने का खतरा बेहद कम हो जाता है

स्वास्थ्य और दिनचर्या के आधार पर उन्हें 7 भांगों में बांटा गया. जिसमें बॉडी मास इंडेक्स, शारीरिक श्रम, स्मोकिंग स्टेटस , ब्लड प्रेशर, ब्लड ग्लूकोज़ और कोलेस्ट्रोल शामिल है

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 26, 2019, 1:22 PM IST
  • Share this:
अमेरिका की मेयो क्लिनिक के एक रिसर्च से पता चला है कि घर में पालतू जानवर, खासकर कुत्ता रखने से आपको हृदय संबंधी रोग होने का खतरा बेहद कम हो जाता है. ये शोध ‘मेयो क्लिनिक प्रोसेडिंग्स: इनोवेशन, क्वालिटी एंड आउटकम्स’ में छपा है.

यह शोध 1769 उन लोगों पर किया गया जिन्हें हृदय संबंधी कोई बीमारी नहीं थी. उनके स्वास्थ्य और दिनचर्या के आधार पर उन्हें 7 भांगों में बांटा गया. जिसमें बॉडी मास इंडेक्स, शारीरिक श्रम, स्मोकिंग स्टेटस , ब्लड प्रेशर, ब्लड ग्लूकोज़ और कोलेस्ट्रोल शामिल है.

इसके बाद शोधकर्ताओं ने इन्हें तीन भांगों में बांटा. एक वो जिन्होंने कोई जानवर नहीं पाला था. दूसरे वो जिन्होंने घर में किसी जानवर को पाल रखा था. तीसरे वो जिन्होंने अपने घर में कुत्ता पाल रखा था.

सेंट एनी यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल के इंटरनेशनल क्लिनिकल रिसर्च सेंटर में शोधकर्ता एंड्रिया माउगेरी के मुताबिक, जिन्होंने अपने घर में कोई जानवर पाल रखा था वो फिजिकली ज्यादा एक्टिव थे. उनकी डाइट बेहतर थी, ब्लड सुगर कंट्रोल था.

इस अध्ययन में साबित हुआ कि अगर आप अपने घर में कोई जानवर पालते हैं तो आपके हृदय संबंधी रोगों के होने की संभावना कम हो जाती है.

एक दूसरे अध्ययन में भी यह बात साबित हो चुकी है कि कुत्ता पालने से आप मानसिक रूप से भी स्वस्थ्य रहते हैं.

यह रिसर्च सेंट एनी यूनिवर्सिटी की मेयो क्लिनिक, इंटरनेशनल क्लिनिक रिसर्च सेंटर और यूनिवर्सिटी ऑफ कैटेनिया ने मिलकर किया है. इस प्रोग्राम को नेशनल प्रोग्राम ऑफ सस्टेनेबिलिटी एंड द यूरोपियन रिजनल डेवलपमेंट फंड ने सपोर्ट किया था.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वेलनेस से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 26, 2019, 1:22 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...