Home /News /lifestyle /

कैंसर पर आई नई रिसर्च का दावा, अब लक्षण दिखे बिना भी डिटेक्ट करना संभव

कैंसर पर आई नई रिसर्च का दावा, अब लक्षण दिखे बिना भी डिटेक्ट करना संभव

इस ब्लड टेस्ट के रिजल्ट्स काफी हद तक लोगों में कई तरह के कैंसर का पता लगा सकते हैं.

इस ब्लड टेस्ट के रिजल्ट्स काफी हद तक लोगों में कई तरह के कैंसर का पता लगा सकते हैं.

एक प्रकार का ब्लड टेस्ट शरीर में कैंसर के लक्षण न दिखने पर भी इसे डिटेक्ट कर सकता है. सिर्फ इतना ही नहीं यह ब्लड टेस्ट कई प्रकार के कैंसर के बारे में खुलासा कर सकता है.

    कोरोना वायरस (Corona Virus) के बीच जब हम लॉकडाउन में हैं, हाल ही की दो घटनाओं ने कुछ और दुखी कर दिया है. 29 अप्रैल 2020 को इरफान खान की मौत और 30 अप्रैल 2020 को ऋषि कपूर की मौत हो गई है. ऋषि कपूर की मौत के पीछे कैंसर है. कैंसर के बारे में महत्वपूर्ण और खतरनाक बात यह है कि इसका पता आमतौर पर काफी लेट चलता है और इस कारण इसके इलाज में कई कॉम्पलिकेशन्स आते हैं. आइए आज हम आपको एक नई रिसर्च के बारे में बताते हैं जो कि कैंसर को शरीर में फैलने से पहले ही पता लगाती है.

    शरीर में लक्षण आने से पहले ही कैंसर का पता चल सकता है 
    एक प्रकार का ब्लड टेस्ट शरीर में कैंसर के लक्षण न दिखने पर भी इसे डिटेक्ट कर सकता है. सीएनएन की खबर के अनुसार सिर्फ इतना ही नहीं यह ब्लड टेस्ट कई प्रकार के कैंसर के बारे में खुलासा कर सकता है. रिसर्च की मानें तो इस ब्लड टेस्ट से शरीर में लक्षण आने से पहले ही कैंसर का पता चल सकता है और हाल ही में कई लोगों पर ये शोध किया भी गया है. जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी की टीम जहां पर इस टेस्ट का शोध किया गया है ने बताया कि यह ब्लड टेस्ट कैंसर से जूझ रहे रोगियों के लिए काफी फायदेमंद है. इससे लक्षणों का काफी पहले ही पता लग जाता है, जिससे इलाज करने में मदद मिलती है. हालांकि यह ब्लड टेस्ट महिलाओं में सबसे ज्यादा कैंसर डिटेक्ट कर पाता है.

    इसे भी पढ़ेंः Lockdown: ठेले वाले से सब्जी लेते वक्त जरूर ध्यान रखें ये तीन बातें, नहीं तो वायरस से बचना मुश्किल

    पहले स्टेज पर ही इलाज शुरू
    इस ब्लड टेस्ट के रिजल्ट्स काफी हद तक लोगों में कई तरह के कैंसर का पता लगा सकते हैं. हाल ही में इस टेस्ट को ऐसी 10 हजार महिलाओं पर आजमाया गया था जिनमें कैंसर के कोई लक्षण नहीं दिखाई दे रहे थे. जब उनका टेस्ट पॉजीटिव आया तब पीईटी और सिटी स्कैन की मदद ट्यूमर्स की जांच शुरू की गई. इन 10 हजार महिलाओं में करीब 26 तरह के कैंसर कंफर्म किए गए. कई कैंसर के बारे में तो फैलने से पहले ही पता चल गया और उनका पहले स्टेज पर ही इलाज शुरू कर दिया गया. इस टेस्ट को Liquid biopsy का नाम दिया गया है जो कि कैंसर को शरीर में फैलने से पहले ही पता लगा लेता है. रिसर्च टीम के Dr. Bert Vogelstein ने बताया कि इस टेस्ट के पहले उन्हें पता ही नहीं था कि इन महिलाओं को कैंसर भी हो सकता है.

    कई महिलाओं की सर्जरी भी की गई है
    टेस्ट से कैंसर का पता चलते ही कई महिलाओं की सर्जरी भी की गई है. हालांकि उन्होंने ये भी कहा है कि किस हद तक ठीक हो सकते हैं, इसके बारे में अभी पता नहीं चल सका है. जिन महिलाओं पर इस टेस्ट का रिसर्च किया गया था उनमें से 6 को ओवेरियन कैंसर है जिसके लक्षण आसानी से शरीर पर नजर नहीं आते. इस कैंसर का पता तब चलता है जब यह पूरी तरह से शरीर में फैल जाता है और ऐसे में रोगी को बचाना मुश्किल होता है.

    इसे भी पढ़ेंः Lockdown: ठेले वाले से सब्जी लेते वक्त जरूर ध्यान रखें ये तीन बातें, नहीं तो वायरस से बचना मुश्किल

    टेस्ट से कोई भी गलत परिणाम न निकले
    वहीं 9 महिलाओं में लंग कैंसर डिटेक्ट किया गया. यह भी एक प्रकार का ऐसा कैंसर है जिसके लक्षण जल्द ही पता नहीं चलते. Dr. Bert Vogelstein ने कहा कि अभी इस टेस्ट को सबके सामने नहीं लाया गया है क्योंकि यह सिर्फ एक पहला स्टेप है. टीम अभी इस पर काम कर रही है और एक बड़ा ट्रायल तैयार कर रही है ताकि टेस्ट से कोई भी गलत परिणाम न निकले. ऐसा न हो कि किसी को कैंसर न हो और यह उसमें भी कैंसर डिटेक्ट कर दे. इस ब्लड टेस्ट पर अभी काम जारी है.

    Tags: Cancer, Health, Lifestyle

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर