Home /News /lifestyle /

रिया चक्रवर्ती का दावा 7 साल से सुशांत खा रहे थे मोडाफिनिल टैबलेट, जानिए क्या है ये दवा

रिया चक्रवर्ती का दावा 7 साल से सुशांत खा रहे थे मोडाफिनिल टैबलेट, जानिए क्या है ये दवा

मोडाफिनिल टैबलेट किन रोगियों को दी जाती है आज इसके बारे में जानते हैं.

मोडाफिनिल टैबलेट किन रोगियों को दी जाती है आज इसके बारे में जानते हैं.

सुशांत (Sushant) को ड्रग्स (Drugs) दिए जाने के आरोप के मामले में घिरतीं ऐक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती (Riya Chakraborty) ने एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू (Interview) में बताया कि सुशांत 2013 से मोडाफिनिल (Modafinil) टैबलेट खा रहे थे. यह टैबलेट क्या है और किन लोगों को दी जाती है इसके बारे में हम आपको बता रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...
  • Myupchar
  • Last Updated :
    बॉलीवुड ऐक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत के मामले में हर दिन एक नया खुलासा हो रहा है. सुशांत को ड्रग्स दिए जाने के आरोप के मामले में घिरती नजर आ रहीं ऐक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती ने एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में बताया कि सुशांत सिंह राजपूत साल 2013 से ही मोडाफिनिल (Modafinil) नाम की एक दवा का सेवन कर रहे थे. रिया का दावा है कि 2013 में भी सुशांत को डिप्रेशन (Depression) हुआ था जिसके बाद उन्होंने साइकायट्रिस्ट (Psychiatrist) से अपना इलाज करवाया जिसने उन्हें क्लौस्ट्रोफोबिया (तंग जगह पर जाने पर डर या बेचैनी महसूस होना) को कंट्रोल करने के लिए मोडिफिनिल दवा प्रिस्क्राइब की थी. रिया का दावा है कि सुशांत फ्लाइट में बैठने से पहले भी मोडाफिनिल दवा लिया करते थे.

    सतर्कता बढ़ाने और ऊंघाई दूर करने के लिए दी जाती है मोडाफिनिल
    एक मशहूर अंग्रेजी अखबार ने मुंबई की एक मशहूर साइकायट्रिस्ट डॉ अंजली छाबरिया से बात की और उनसे मोडाफिनिल दवा के बारे में पूछा. डॉ छाबरिया की मानें तो मोडाफिनिल सिर्फ प्रिस्क्रिप्शन पर दी जाने वाली दवा है जिसे किसी व्यक्ति में चौकसी या सतर्कता बढ़ाने के लिए दिया जाता है. यह कोई हानिकारक दवा नहीं है लेकिन कोई भी साइकायट्रिक दवा बिना प्रिस्क्रिप्शन के ओटीसी के तौर पर नहीं बेची जा सकती. जिन लोगों को हर वक्त सुस्ती और ऊंघाई की समस्या होती है उन्हें यह दवा प्रिस्क्राइब की जाती है.

    मोडाफिनिल का इस्तेमाल

    • मोडाफिनिल, नार्कोलैप्सी और नींद की अन्य बीमारियों के कारण जिन लोगों को बहुत अधिक नींद आती है उन्हें दी जाती है.

    • इसके अलावा ऑब्सट्रक्टिव स्लीप ऐप्निया (नींद के दौरान सांस लेना बंद कर देना) की बीमारी में भी मोडाफिनिल प्रिस्क्राइब की जाती है.

    • इस दवा का उपयोग आपको काम के घंटे के दौरान जागने में मदद करने के लिए भी किया जाता है, खासकर तब जब आपके काम का कोई ऐसा शेड्यूल हो जिसमें आपको सामान्य नींद की दिनचर्या से बचना हो.


    बच्चे को फूड एलर्जी है या नहीं ऐसे लगा सकते हैं पता, जानिए इसके कारण और इलाज

    यह दवा नींद से जुड़ी इन बीमारियों का इलाज नहीं करती और ना ही उनींदापन को पूरी तरह से दूर करती है. मोडाफिनिल का इस्तेमाल उन लोगों के लिए नहीं किया जाना चाहिए जिन्हें नींद की बीमारी नहीं है लेकिन फिर भी वे अपनी नींद को रोकना चाहते हैं. मोडाफिनिल आपको जागृत रखने के लिए कैसे काम करती है इस बारे में कोई स्पष्ट बात अब तक सामने नहीं आयी है, लेकिन ऐसा माना जाता है कि यह दवा मस्तिष्क के उन पदार्थों को प्रभावित करती है जो जागने और सोने के चक्र (स्लीप-वेक साइकल) को नियंत्रित करते हैं.

    मोडाफिनिल की डोज आपकी चिकित्सीय स्थिति और उपचार की प्रतिक्रिया पर निर्भर करती है. इसका सबसे ज्यादा फायदा पाने के लिए इस दवा का सेवन नियमित रूप से करना चाहिए. हालांकि, यह दवा कई लोगों की मदद करती लेकिन कभी-कभी यह लत का कारण भी बन सकती है.

    मोडिफिनिल के साइड इफेक्ट्स
    दवा के बुरे प्रभावों या साइड इफेक्ट्स की बात करें तो मोडिफिनिल का सेवन करने पर सिरदर्द, जी मिचलाना या उल्टी आना, घबराहट, चक्कर आना, सोने में कठिनाई जैसी समस्याएं हो सकती हैं. वैसे तो इस दवा का इस्तेमाल करने वाले ज्यादातर लोगों में दवा से जुड़ा कोई गंभीर दुष्प्रभाव देखने को नहीं मिलता है, लेकिन अगर किसी व्यक्ति को कोई गंभीर साइड इफेक्ट जैसे- छाती में दर्द, सांस लेने में तकलीफ, चेहरा, आंख, होंठ में सूजन या स्किन पर चकत्ते की समस्या महसूस हो तो तुरंत चिकित्सीय मदद लेनी चाहिए.

    मोडाफिनिल से जुड़ी सावधानियां
    अगर मरीज को किसी तरह की एलर्जी हो तो मोडाफिनिल का सेवन करने से पहले उन्हें डॉक्टर को अपनी एलर्जी के बारे में बता देना चाहिए क्योंकि इस दवा में कुछ ऐसे इन्ग्रीडिएंट्स होते हैं जिससे ऐलर्जिक रिऐक्शन हो सकता है. इसके अलावा अगर मरीज को हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, लिवर की बीमारी, मानसिक बीमारी, डिप्रेशन आदि की समस्या हो तो इस दवा का सेवन करने से पहले इस बारे में भी डॉक्टर को बता देना चाहिए.

    अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, आत्महत्या के विचार क्यों आते हैं, लक्षण, कारण, जोखिम, बचाव के उपाय और दवा पढ़ें।

    न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं। सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है। myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं।undefined

    Tags: Health, News18-MyUpchar, Riya Chakraborty, Sushant Rajput

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर