London Fashion Week में छाई साड़ियां, मॉडल्स ने पैरों में लगाई महावर

London Fashion Week में छाई साड़ियां, मॉडल्स ने पैरों में लगाई महावर
इटली का उत्तरी हिस्सा फैशन और गारमेंट इंडस्ट्री के कारण फल-फूल रहा है.

लंदन में भारतीय उच्चायोग द्वारा आयोजित एक कैटवॉक के लिए चुनी गई 17 विभिन्न तरह की साड़ियों ने लोगों को आकर्षित किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 21, 2020, 12:55 PM IST
  • Share this:
लंदन फैशन वीक (London Fashion Week) में पहली बार मनाए गए इंडिया डे में भारत के विभिन्न हिस्सों में पहने जाने वाली साड़ियों का जलवा दिखा. लंदन में भारतीय उच्चायोग द्वारा आयोजित एक कैटवॉक के लिए चुनी गई 17 विभिन्न तरह की साड़ियों ने लोगों को आकर्षित किया. इनमें उत्तर भारत से कश्मीरी और फुलकारी, पश्चिम बंगाल से कांथा और बालूचरी, गुजरात से घरचोला, महाराष्ट्र से पैठणी, तमिलनाडु से कांजीवरम और केरल से कसावु साड़ियां आदि शामिल थीं.

ब्रिटेन में भारतीय उच्चायुक्त रुचि घनश्याम ने कहा, सांस्कृतिक विरासत को दिखाने के लिए तमाम लोगों से साड़ियां उधार ली गईं थी. इसमें एक साड़ी मेरी भी थी. रुचि को साड़ियों में बेहद दिलचस्पी है और वह सभी सार्वजनिक कार्यक्रमों में साड़ियों में ही नजर आती हैं.

साड़ी को बनाने में विज्ञान, कला और रचनात्मकता का योगदान होता है.
साड़ी को बनाने में विज्ञान, कला और रचनात्मकता का योगदान होता है.




विरासत की दिखी झलक
रूचि घनश्याम ने कहा, साड़ी को बनाने में विज्ञान, कला और रचनात्मकता का योगदान होता है. केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने एक वीडियो संदेश में कहा, “ये हजारों बुनावट आपके लिए भारतीय वस्त्रों की समृद्ध विविधता लेकर आई है. साड़ी एक कपड़ा मात्र नहीं बल्कि वस्त्रों की हमारी विरासत के महत्त्वपूर्ण प्रतिबिंब के साथ ही यह भारतीय गौरव का विषय है.”

 

लंदन फैशन वीक में मॉडल्स ने पैरों में खास महावर लगाई थी.
लंदन फैशन वीक में मॉडल्स ने पैरों में खास महावर लगाई थी.


पैरों में दिखी महावर

लंदन फैशन वीक के इंडिया डे की खास बात यह थी कि इस दौरान मॉडल्स ने सिर्फ साड़ी ही नहीं बल्कि भारतीय वेशभूषा को पूरी तरह से अपनाया था. ज्यातार मॉडल्स ने साड़ी के साथ पैरों में महावर लगाई थी. वहीं कुछ ने खास तरह की मेंहदी से भारतीय लुक को कम्पलीट किया.

लौटकर आता है फैशन

पुरानी कहावत है कि हर पुरानी चीज वक्त के साथ दोबारा लौटकर आती है. ऐसा ही कुछ फैशन के साथ भी है. सालों पहले गुजर चुका फैशन ट्रेंड वक्त के साथ लौट आता है. कुछ वक्त पहले भारतीय बाजारों में शिफोन और सिल्क साड़ियों का ट्रेंड काफी था. वहीं, अब बाजार में बनारसी सिल्क का क्रेज लोगों में काफी देखने को मिल रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading