Home /News /lifestyle /

सावन 2018: शिव पूजा में अर्पित करें ये फूल, पूरी होंगी मनोकामनाएं

सावन 2018: शिव पूजा में अर्पित करें ये फूल, पूरी होंगी मनोकामनाएं

प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर

गवान शिव की पूजा से सभी इच्‍छाओं की पूर्ति होती है

    हिन्दू धर्म में सावन (श्रावण) महीने का खास महत्व है. इस साल सावन का आखिरी दिन 26 अगस्त को है. इसमें खास तौर पर भगवान शंकर की पूजा की जाती है. इस महीने में सोमवार के व्रत का खास महत्तव है. माना जाता है इससे जीवन में सुख-समृद्धि बढ़ती है.

    सावन 2018: 30 जुलाई को है सावन का पहला सोमवार, ये हैं इस सप्ताह के व्रत-त्यौहार

    मान्यता है विवाहित औरतों को इस महीने में सोमवार के व्रत रखने पर सौभाग्य मिलता है. इस महीने के पहले सोमवार से 16 सोमवार व्रत की शुरुआत भी की जाती है. इसी महीने में मंगलवार का व्रत भगवान शिव की पत्नी देवी पार्वती के लिए किया जाता है. इसे मंगला गौरी व्रत कहा जाता है.

    शिव का प्रिय मास सावन शुरू, 19 साल बाद बना दुर्लभ संयोग

    इस साल सावन के महीने में 4 सोमवार हैं. इन तिथियों में भगवान शंकर की पूजा-अर्चना करना धार्मिक दृष्टि से बहुत फलदायी माना गया है. शास्त्रों में भी सोमवार को भगवान शिव की पूजा-आराधना के लिए विशेष विधियों की व्याख्या की गई है.

    सावन 2018: 30 जुलाई को है सावन का पहला सोमवार, ये हैं इस सप्ताह के व्रत-त्यौहार

    मान्यता है कि भगवान शिव की पूजा से सभी इच्‍छाओं की पूर्ति होती है. जानें इस माह में शिव पूजन के दौरान कौन से पुष्प अर्पित करने पर किस फल की प्राप्ती बताई गई है.

    27 या 28 जुलाई ? कब से शुरू हुआ सावन का महीना, कितने और कब पड़ेंगे सोमवार

    1- धतूरे के पुष्‍प शिव को अर्पित करने से पुत्र की प्राप्ति होती है.

    2- अकौड़े के फूल शिव को अर्पण करने से दीर्घ आयु की प्राप्ति होती है.

    3- एक लाख बिल्‍वपत्र अर्पित करने से हर इच्छित वस्‍तु की प्राप्ति होती है.

    शिव का प्रिय मास सावन शुरू, 19 साल बाद बना दुर्लभ संयोग

    4- जवाकुसुम से शत्रु का नाश होता है.

    5- बेला से सुंदर सुयोग्‍य पत्‍नी की प्राप्ति होती है.

    6- हरसिंगार से सुख संपत्ति की प्राप्ति होती है.

    7- दुपाहरिया के पुष्‍प से आभूषणों की प्राप्ति होती है.

    27 या 28 जुलाई ? कब से शुरू हुआ सावन का महीना, कितने और कब पड़ेंगे सोमवार

    8- आक, अलसी और शमी पत्र से मोक्ष की प्राप्ति होती है.

    9- शंखपुष्‍प से लक्ष्‍मी की प्राप्ति होती है.

    10- तुलसी, चंपा और केवड़ा के पुष्‍प शिव पूजन में निषिद्ध हैं.

    27 या 28 जुलाई ? कब से शुरू हुआ सावन का महीना, कितने और कब पड़ेंगे सोमवार

    Tags: Religion, Sawan

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर