लाइव टीवी

हार्ट अटैक की पहले से चेतावनी दे देगा सेंसर: शोध


Updated: February 27, 2020, 8:03 AM IST
हार्ट अटैक की पहले से चेतावनी दे देगा सेंसर: शोध
हार्ट अटैक की पहले से चेतावनी दे देगा सेंसर

यूनिवर्सिटी ऑफ उथाह हेल्थ और वीए साल्ट लेक सिटी हेल्थ केयर सिस्टम के वैज्ञानिकों ने कहा कि इस तकनीक की मदद से इमरजेंसी की स्थिति को कम किया जा सकेगा.

  • Share this:
कई बार लोगों को अचानक से हार्ट अटैक आने की वजह से मौत हो जाती है. ऐसा इसलिए कि सबकुछ एकदम सामान्य सा दिखता लेकिन जब हार्ट अटैक आता है तो आसपास कोई नहीं होता जो मरीज को हॉस्पिटल लेकर जा सके. लेकिन अब इस समस्या का समाधान मिल चुका है.

ब्लूटूथ सेंसर किया विकसित:
वैज्ञानिकों ने हार्ट अटैक का पता लगाने के लिए एक ब्लूटूथ सेंसर विकसित किया है. यह नया ब्लूटूथ सेंसर दिल की धड़कन रुकने (हार्ट फेल) होने की पहचान 10 दिन पहले ही कर देगा. इस ब्लूटूथ सेंसर को सीने पर पैच की तरह चिपकाया जाता है. ये दिल की गति और लय, नींद की गुणवत्ता और शरीर की मुद्रा की निगरानी करता है.

यूनिवर्सिटी ऑफ उथाह हेल्थ और वीए साल्ट लेक सिटी हेल्थ केयर सिस्टम के वैज्ञानिकों ने कहा कि इस तकनीक की मदद से इमरजेंसी की स्थिति को कम किया जा सकेगा. वैज्ञानिकों ने 100 हार्ट फेलियर के मरीजों पर इस सेंसर का परीक्षण किया. इन मरीजों की उम्र 68 साल थी. इन्होंने अपने सीने पर इस सेंसर को तीन महीने तक पहना था. साइक आईक्यू ने इस सेंसर को बनाया है.अस्पताल में भर्ती करने के लिए संकेत देगा



प्रमुख शोधकर्ता डॉक्टर जोसेफ स्टेलिक ने कहा, इस शोध से पता चलता है कि हम इस उपकरण की मदद से मरीजों को अस्पताल में भर्ती कराने के संकेत पहले ही प्राप्त कर सकते हैं. समय से पहले दिल में हो रहे परिवर्तनों के बारे में जानकारी प्राप्त हो जाने से चिकित्सक जल्दी इलाज की प्रक्रिया शुरू कर सकते हैं. इससे मरीज के जल्द ठीक होने की संभावना बढ़ जाती है.

जब दिल काम नहीं करता हार्ट फेलियर उस परिस्थिति को कहते हैं जब दिल सामान्य तरीके से काम नहीं कर पाता है. कुछ मामलों से दिल में रक्त पर्याप्त मात्रा में भर नहीं पाता है और कुछ मामलों में दिल शरीर के दूसरे हिस्सों तक रक्त पंप नहीं कर पाता है. यूके में 9,00,000 लोग हार्ट फेलियर के मरीज हैं. वहीं अमेरिका में 65 लाख वयस्क इस समस्या से पीड़ित हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वेलनेस से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 27, 2020, 8:03 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर