दुनिया के इन सात खूबसूरत देशों में आज तक नहीं पहुंच पाया कोरोना, जानिए क्या है वजह

दुनिया के इन सात खूबसूरत देशों में आज तक नहीं पहुंच पाया कोरोना, जानिए क्या है वजह
इन सातों देशों की आबादी बहुत कम है.

आबादी (Population) और विकास (Devlopment) के लिहाज से ये सभी देश काफी छोटे हैं. सुंदरता के लिए इन देशों को जाना जाता है. टूरिजम (Tourism) यहां की आय का मुख्य साधन है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
कोरोना वायरस (Corona virus) महामारी से दुनिया के ज्यादातर देश ग्रसित हैं, लेकिन आज भी कुछ ऐसे देश हैं, जहां तक अभी भी कोरोना नहीं पहुंच पाया है. ये सातों देश दुनिया के सबसे खूबसूरत और शांत इलाकों में बसे हैं. अब आप सोच रहे होंगे कि जब दुनिया के सारे शक्तिशाली देश कोरोना से जंग लड़ रहे हैं, ऐसे में ये सात देश कोरोना से कैसे बचे हुए हैं? तो आपको बता दें कि इन देशों ने सही समय पर कोरोना से अलर्ट होकर हवाई और समुद्री संपर्क बंद कर दिया था. यही वजह है कि इन देशों में अभी तक एक भी कोरोना संक्रमित नहीं है.

इन सातों देशों की आबादी बहुत कम है. किसी देश की आबादी 1.5 लाख है तो किसी की आबादी 2 लाख के करीब है. वर्ल्ड बैंक और वर्ल्ड हेल्थ आर्गनाइजेशन का कहना है कि इन दोशों में विकास अन्य देशों की तरह नहीं है. शिक्षा के मामले में भी ये देश पिछड़े हैं, लेकिन ये सभी देश प्राकृतिक रूप से खूबसूरत हैं. इन देशों की कमाई का जरिया टूरिज्म है. आइए अब आपको इन देशों के बारे में विस्तार से बताते हैं.

किरीबाती: मध्य प्रशांत महासागर में बसा किरीबाती एक ऐसा देश है. यह देश दुनिया के अन्य हिस्सों से केवल हवाई मार्ग और समुद्री मार्ग के जरिए ही जुड़ा है. इस देश की जनसंख्या सवा लाख से थोड़ी ज्यादा है. यह देश कभी ब्रिटेन का हिस्सा हुआ करता था, जिसे 1979 में आजादी मिली थी. कोरोना से बचने के लिए इस खूबसूरत देश ने तुरंत अपना समुद्री और एयर संपर्क दूसरे देशों से काट दिया था.



टोंगा: दक्षिणी प्रशांत महासागर में स्थित 170 द्वीपों से मिलकर बना टोंगा एक देश है, जो किसी जमाने में ब्रिटिश संरक्षित था. अब यह देश आजाद है और गणराज्य बन चुका है. इस देश का कुल क्षेत्रफल 750 वर्ग किलोमीटर है. यहां कई द्वीप पर तो इंसानों के रहने लायक भी नहीं हैं. टोंगा भी कोरोना के प्रकोप से बचा हुआ है.



माइक्रोनेशिया: पश्चिमी प्रशांत महासागर स्थित माइक्रोनेशिया 600 द्वीप समूहों वाला देश है. इस देश की आबादी मुख्य रूप से चार द्वीपों पर निवास करती है. माइक्रोनेशिया की जनसंख्या 1,12,000 के आसपास है. इस देश ने भी खुद को कोरोना वायरस महामारी से बचा रखा है.

नाऊरू: ऑस्ट्रेलिया के पूर्वोत्तर में बसा नाऊरू भी द्वीपीय देश है. कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के कारण हवाई यात्रा बंद होते ही यह देश दुनिया से कट गया है. इस वजह से इस देश में कोरोना संक्रमण नहीं फैला है.

पलाऊ: प्रशांत महासागर के पश्चिम में बसा पलाऊ एक देश है. यहां पर भी अभी तक एक भी कोरोना केस नहीं मिला है. पलाऊ बहुत ही छोटा देश है, जहां की आबादी 17,000 के आसपास है.

वनुआतु: दक्षिणी प्रशांत महासागर में स्थित वनुआतु एक बहुत खूबसूरत देश है. इस देश की प्राकृतिक खूबसूरती हर किसी को वहां आने के लिए आकर्षित करती है. इस देश में भी कोरोना के एक भी केस नहीं हैं.

सोलोमन: करीब 1000 द्वीपों से मिलकर बने सोलोमन द्वीपीय देश कोविड-19 महामारी से बचा हुआ है. चारों ओर से समुद्र से घिरा और प्राकृतिक संपदा से भरपूर इस देश की आबादी 6.5 लाख के आसपास है.

ये भी पढ़ें- अमेरिका में ये कॉल सेंटर बांट रहा है प्यार, लोग फोन पर करते हैं दिल की बात
First published: June 6, 2020, 9:51 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading