Home /News /lifestyle /

दही में हो क्रीम तो दही-भल्ले शाही हो जाते हैं, स्वाद चखने के लिए कृष्णा नगर के 'शाही दही-भल्ले' पर पहुंचें

दही में हो क्रीम तो दही-भल्ले शाही हो जाते हैं, स्वाद चखने के लिए कृष्णा नगर के 'शाही दही-भल्ले' पर पहुंचें

दही और इनका खुशबू बिखेरता चटपटा मसाला दही-भल्ले में जान भर देते हैं.

दही और इनका खुशबू बिखेरता चटपटा मसाला दही-भल्ले में जान भर देते हैं.

Famous Food Joints In Delhi-NCR: यमुनापार के कुछ पुराने इलाकों और कॉलोनियों में कृष्णा नगर खासा मशहूर है. इसके डी ब्लॉक 'शाही दही भल्ले' वाले की सालों पुरानी दुकान है.

    (डॉ. रामेश्वर दयाल)

    Famous Food Joints In Delhi-NCR: खोमचा डिश की बात करें तो दही-भल्ले, पापड़ी, गोलगप्पे शुरू से ही खोमचा डिश माने जाते हैं. लेकिन बदलते वक्त के साथ-साथ इस खोमचा डिश ने लोगों के दिमाग और जुबान में जबर्दस्त घुसपैठ की है. कभी महिलाओं के लिए मनपसंद रही यह खोमचा डिश आजकल हर उम्र और वर्ग को रिझा रही है. राजधानी की किसी भी मार्केट में चले जाइए, खाने के लिए आपको दही-भल्ले का ठिया जरूर दिख दिखेगा. आज हम आपको एक ऐसे ही दही-भल्ले वाले की दुकान पर ले चल रहे हैं. दही-भल्ले में डलने वाला क्रीम मिक्स दही और बहुत कुछ इस डिश को शाही करार देते हैं. देखने में भी रिच और खाने में भी रिच हैं इस दुकान के दही-भल्ले.

    दही-भल्ले में डाले जाने मसाले और बहुत कुछ स्वाद में जान डाल देते हैं
    यमुनापार के कुछ पुराने इलाकों और कॉलोनियों में कृष्णा नगर खासा मशहूर है. इसके डी ब्लॉक ‘शाही दही भल्ले’ वाले की सालों पुरानी दुकान है. इस दुकान को सही मायने में शाही खोमचे की दुकान माना जाए तो ज्यादा ठीक रहेगा. उसका कारण यह है कि यहां पर खाने के जो और व्यंजन मिलते हैं, उसे खोमचों का ही व्यजंन माना जाता है. चूंकि दुकान का नाम ही दही-भल्ले पर है तो माना जा सकता है कि यहां बिकने वाली यह डिश खासी जानदार, लजीज और जुबान को संतुष्ट करने वाली होगी. इस दुकान पर दही भल्ले बनते देखिए, देखते हुए ही जूबान लपलपाने सी लगेगी. पानी की देगची में भरे भल्लों को निचोड़कर उन्हें प्लेट में रखा जाता है.

    इसे भी पढ़ेंः कुल्फी-फलूदा का असली आनंद उठाना है, तो करोल बाग में ‘रोशन दी कुल्फी’ पर चखें स्वाद

    फिर उनके ऊपर उबले छोले व उबले आलू मसलकर फैलाए जाते हैं. इस डिश को स्वादिष्ट बनाने के लिए ये अपने खुशबूदार व चटपटे मसाले को भुरकते हैं. उसके बाद भल्लों को गाढ़ी दही से तर किया जाता है. फिर इसमें सौंठ (मीठी चटनी), हरी चटनी के बाद एक बार फिर से स्पेशल मसाले का छिड़काव होता है. बात यहीं तक खत्म नहीं हुई है. इस डिश के ऊपर कटा हरा धनिया, भाजी के बाद अनार के लाल-लाल दाने छोड़े जाते हैं. इस कलरफुल डिश को खाते ही लगेगा कि आप सालों से ऐसे ही स्वाद की तलाश कर रहे थे.

    क्रीम वाली दही इनके डिश को शाही बनाते हैं
    असल में इस दही-भल्ले को सही स्वाद में लाने के लिए इनका दही कारगर है. दही को फुल क्रीम दूध से जमाया जाता है. जम जाने के बाद इसमें क्रीम उड़ेली जाती है और हिलाकर शानदार गाढ़ा कर लिया जाता है. यही दही और इनका खुशबू बिखेरता चटपटा मसाला दही-भल्ले में जान भर देते हैं. दही-भल्ले की प्लेट 90 रुपये की है. पापड़ी चाट, भल्ले-पापड़ी की कीमत भी यही है. आप इस दुकान की भरवां पापड़ी खाकर देखिए, उसका स्वाद तो और भी माकूल है. इसकी प्लेट की कीमत 100 रुपये है. तीखे चटपटे पानी के साथ 30 रुपये में छह गोलगप्पों का आनंद भी उठाया जा सकता है. इस दुकान पर मिलने वाली गरमा-गरम आलू टिक्की भी हरी व लाल चटनी के साथ जुबान और मन में आनंद भर देती है.

    इसे भी पढ़ेंः आधी रात के बाद स्पेशल ऑमलेट खाने का मन है, तो तिलक नगर के Egg Junction पर पहुंचें

    20 साल से खिला रहे हैं शाही दही-भल्ले
    इस दुकान को 20 साल पहले सरदार सतविंदर सिंह ने शुरू किया था. अब उनके साथ बेटे हरनीत भी उनकी मदद कर रहे हैं. उनका कहना है कि शुद्धता और स्वच्छता ही हमारी क्वॉलिटी है, जो ग्राहकों को हमारी ओर खींचती है. उनका यह भी कहना है कि हमारा खुद का बनाया हुआ चटपटा, खुशबूदार और तीखा मसाला रेसिपी में जान फूंक देता है. दोपहर 3 बजे दुकान पर कामकाज शुरू हो जाता है और रात 10 बजे तक माल बिकता रहता है. कोई अवकाश नहीं है.

    नजदीकी मेट्रो स्टेशन: कृष्णा नगर

    Tags: Delhi, Food, Lifestyle, Street Food

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर