नवरात्रि 2020: गर्भावस्था में उपवास करना चाहिए या नहीं, जानिए क्या कहते हैं डॉक्टर

गर्भावस्था में नवरात्रि 2020 में व्रत रखें या नहीं जानें
गर्भावस्था में नवरात्रि 2020 में व्रत रखें या नहीं जानें

Shardiya Navratri 2020: नवरात्रि 2020 के दौरान गर्भावस्था में उपवास (Fasting In Pregnency) करना गर्भावस्था की गंभीरता पर निर्भर करता है और यह हर महिला के लिए अलग हो सकता है. अगर गर्भावस्था सामान्य रूप से सही तरीके से आगे बढ़ रही है और सेहत अच्छी है तो उपवास करने में कोई हानि नहीं है, बशर्ते उपवास करने से ऊर्जा मिलती हो...

  • Last Updated: October 17, 2020, 9:19 AM IST
  • Share this:
कई लोग नियमित रूप से व्रत या उपवास करते हैं. इसके पीछे भले ही उनकी धार्मिक भावनाएं जुड़ी होते हैं लेकिन इससे सेहत को फायदा भी होता है. अब शनिवार 17 अक्टूबर से शारदीय नवरात्र शुरू हो रहे हैं और इस दौरान 8-9 दिन तक प्रतिदिन व्रत रखने की परंपरा है. myUpchar से जुड़ीं डॉ. मेधावी अग्रवाल का कहना है कि उपवास या व्रत करने से शरीर के अंदर की अशुद्धियां निकल जाती हैं. शरीर की पाचन प्रणाली में भी सुधार होता है. यह हृदय के स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है. जब बात गर्भवती महिला की आती है तो यह सोचने में आता है कि आखिर उनके लिए व्रत या उपवास उचित है या नहीं. कई शोध गर्भावस्था के दौरान उपवास को लेकर किए गए हैं लेकिन वैज्ञानिक अभी तक किसी निष्कर्ष तक नहीं पहुंचे हैं. गर्भावस्था के नौ महीनों के दौरान कई व्रत और त्योहार आते हैं जैसे नवरात्र, तीज, करवाचौथ, शिवरात्रि, रमजान आदि.

myUpchar से जुड़े डॉ. विशाल मकवाना का कहना है कि गर्भावस्था में उपवास करना गर्भावस्था की गंभीरता पर निर्भर करता है और यह हर महिला के लिए अलग हो सकता है. अगर गर्भावस्था सामान्य रूप से सही तरीके से आगे बढ़ रही है और सेहत अच्छी है तो उपवास करने में कोई हानि नहीं है, बशर्ते उपवास करने से ऊर्जा मिलती हो.

काफी हद तक तीसरी तिमाही में उपवास करना सुरक्षित माना जाता है लेकिन किसी भी तरह का उपवास करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूरी है. तीसरी तिमाही में बच्चे को कई आवश्यक मिनरल्स और विटामिन की आवश्यकता होती है, इसलिए डॉक्टर से इसकी सलाह जरूरी है. वहीं गर्मियों में उपवास करने से डिहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है, जिसके कारण थकावट, एसिडिटी और चक्कर आने की शिकायत हो सकती है. जिन महिलाओं को मधुमेह की शिकायत है, उनके लिए उपवास बिल्कुल सही नहीं होगा. उसमें भी वे महिलाएं जो रमजान या नवरात्रि का व्रत करने का सोचती हैं, उन्हें ज्यादा सावधानी बरतने की जरूरत होती है. इसकी वजह यह है कि यह व्रत एक दिन के नहीं हैं, ये लंबे चलते हैं.



अगर डॉक्टर की सलाह के बाद किसी तरह का व्रत करने का निर्णय ले भी रहे हैं तो कुछ बातों का जरूर ध्यान रखें. सबसे पहले तो वे ही व्रत करें जिसमें फलों, जूस या दूध आदि लेने की अनुमति हो. इन्हें नियमित अंतराल पर लें.
चाय और कॉफी का सेवन न करें, जिससे बार-बार पेशाब की समस्या हो, क्योंकि इससे डिहाइड्रेशन हो सकता है. खूब पानी और ताजा फलों का रस पिएं. व्रत शुरू करने से पहले थोड़ा भारी खाना खा लें. इसकी वजह यह है कि यह धीरे-धीरे पचे और लंबे समय तक ऊर्जा मिलती रहे. इस दौरान अपनी दवाइयों का सेवन न रोंके. किसी भी हालत में निर्जला व्रत न करें. व्रत के दौरान दो से तीन बार दूध पिएं जो कि कैल्शियम की जरूरत को पूरा करेगा. व्रत करने की ठान ही ली है तो इस बात का ख्याल रखें कि थकान वाला कोई काम न करें और न ही लंबी दूरी तक पैदल चलें. रमजान के लिए ढेर सारी मात्रा में कार्बोहाइड्रेट, मिनरल्स और प्रोटीन वाला पौष्टिक इफ्तार यानी शाम का भोजन और सहरी यानी सूरज उगने से पहले का भोजन आवश्यक पोषक तत्वों की जरूरत पूरी करेगा. (अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, गर्भावस्था में उपवास किस तिमाही में ज्यादा सुरक्षित, क्या सावधानियां बरतें पढ़ें।) (न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं। सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है। myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं।)

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज