#कामकीबात: सेक्स के दौरान महिला साथी भी क्लाइमेक्स तक पहुंची, ये कैसे समझा जा सकता है? 

काम की बात
काम की बात

क्या इसे आप अपनी पीठ पर शाबासी की तरह लेने जा रहे हैं या फिर आप सचमुच साथी की परवाह करते हैं?

  • Share this:
प्रश्‍न : किस तरह से पता लगाया जा सकता है कि महिला साथी को भी सेक्स का पूरा आनंद मिल रहा है?

डॉ. पारस शाह

#सेक्‍सोलॉजिस्‍ट डॉ.पारस शाह



लगभग सारे पुरुष जानना चाहते हैं कि क्या उनका मिलना साथी को भी उतना ही संतोष देता है. अक्सर औरतें सेक्स पर खुलकर बात नहीं करतीं. वे कम ही बताती हैं कि उन्हें क्या अच्छा लगा या क्या पसंद नहीं. ऐसे में आपके भीतर ये सवाल आना लाजिमी है. कुछ बातों पर गौर करें तो आपको अपने सवाल का जवाब मिल सकता है.
सेक्स के दौरान पुरुषों और महिलाओं के शरीर की प्रतिक्रिया अलग तरह की होती है. पुरुषों में क्लाइमेक्स आसानी से पता चल जाता है लेकिन स्त्रियों में ये थोड़ा मुश्किल है अगर आपने उनकी भंगिमाओं पर ध्यान न दिया तो. क्लाइमेक्स के वक्त साथी की सांसों का उतार-चढ़ाव अलग होता है. पुरुषों की ही तरह क्लाइमेक्स पर पहुंचने के साथ ही कुछ देर के लिए स्त्रियां भी थकान से चूर हो जाती हैं.

अमूमन अच्छे सेक्स संबंध के बाद स्त्रियां खुलकर बोलने लगती हैं. वे मौका मिलने पर आपके करीब रहने की कोशिश करती हैं, सेक्स में प्रयोग करती हैं तो मान लें कि आपके सवाल का जवाब 'हां' है. स्त्री रिश्ते में प्रेम के बावजूद सेक्स से बचे तो इसे भी अपनी हार की तरह न लेकर वजह जानने की कोशिश करें. हो सकता है कि आपका प्रभुत्व उसे पसंद न हो और इंटिमेट संबंध की कमान वो अपने हाथों में लेना चाहती हो. उससे खुलकर बात करें.

तमाम बातों के साथ एक ये बात भी आती है कि आपको ये क्यों जानना है कि आपका साथ उन्हें कितना संतुष्ट करता है! क्या इसे आप अपनी पीठ पर शाबासी की तरह लेने जा रहे हैं या फिर आप सचमुच साथी की परवाह करते हैं? साथी की परवाह है और उसकी खुशी के लिए ये जानना चाहते हैं तो सेक्स के बाद उसकी भंगिमाओं को देखें. वो खुश और तनावमुक्त दिख रही है, यानी कि सेक्स संबंध उसके लिए भी उतना ही संतुष्टि देने वाला है.

(डॉ. पारस शाह सानिध्‍य मल्‍टी स्‍पेशिएलिटी हॉस्पिटल, अहमदाबाद, गुजरात में चीफ कंसल्‍टेंट सेक्‍सोलॉजिस्‍ट हैं.)

अगर आपके मन में भी कोई सवाल या जिज्ञासा है तो आप इस पते पर हमें ईमेल भेज सकते हैं. डॉ. शाह आपके सभी सवालों का जवाब देंगे.

ईमेल – Ask.life@nw18.com

ये भी पढ़ें-

# काम की बात : मैंने पीरियड्स के समय सेक्‍स किया और मुझे इंफेक्‍शन हो गया
#काम की बात: क्‍या प्‍यूबिक हेयर हटाना जरूरी है?
#काम की बात: अपनी महिला साथी को कैसे संतुष्‍ट कर सकते हैं?
#काम की बात: क्‍या पीरियड्स के समय सेक्‍स करने से भी प्रेगनेंसी हो सकती है?
#काम की बात: क्या सेक्स के समय लड़कों को भी पीड़ा हो सकती है?
#काम की बात : क्‍या पहली बार सेक्‍स का अनुभव तकलीफदेह होता है?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज