होम /न्यूज /जीवन शैली /

आपकी स्किन के लिए कौन सी वैक्सिंग है सबसे बेहतर? जानें

आपकी स्किन के लिए कौन सी वैक्सिंग है सबसे बेहतर? जानें

अनचाहे बालों को हटाने के लिए वैक्सिंग तकनीक का उपयोग किया जाता है. Image: shutterstock

अनचाहे बालों को हटाने के लिए वैक्सिंग तकनीक का उपयोग किया जाता है. Image: shutterstock

Best Waxing Type For Your Skin : जब हम पार्लर जाते हैं जो इतने टाइप की वैक्सिंग (Waxing) को देखकर हम समझ नहीं पाते कि कौन सी हमारी स्किन (Skin) टाइप को सूट करेगी.

    Waxing Type For Your Skin: शरीर पर मौजूद अनचाहे बालों को हटाने के लिए हम वैक्सिंग (Waxing) तकनीक का उपयोग करते हैं. यह एक सेफ तरीका माना जाता है. इससे स्किन (Skin) भी मुलायम और चिकनी लगती है. वैक्सिंग से बालों की ग्रोथ भी धीरे-धीरे कम हो जाती है. इसके अलावा ये शरीर पर मौजूद डेड स्किन को हटाने का भी बेहतरीन तरीका है.

    इन दिनों बाजार में नेचुरल फ्रूट से लेकर कोको और चॉकलेट समेत कई टाइप की वैक्स उपलब्ध हैं. पर क्या आप जानते हैं कि इन अलग-अलग वैक्सिंग की क्‍या खासियत है? तो आइए आज हम आपको बताते हैं कि बाजार में मौजूद हर टाइप की वैक्सिंग की खासियत है.

    हॉट वैक्स

    हॉट वैक्स को बनाने के लिए चीनी, नींबू या शहद, नींबू का प्रयोग किया जाता है. ये अधिक तापमान पर पिघल जाती है और ठंडे होने पर स्किन पर ड्राई हो जाती है. इस पर खास तरह की पट्टियों को रखकर दबाया जाता है और फिर बालों के बढ़ने की दिशा में झटके से खींचा जाता है. यह सबसे लोकप्रिय तरीका है.

    इसे भी पढ़ें : सोने से पहले मेकअप हटाना है बहुत जरूरी, वरना चेहरे पर आ सकता है जल्‍दी बुढ़ापा

    कोल्ड वैक्स

    इसे पैराफिन वैक्स और रेसिन जैसी इंग्रीडिएंट से बनाई जाती है. आप इसे रेडीमेड बाजार से खरीद सकते हैं. अगर अधिक मात्रा में वैक्सीन करना हो तो कोल्ड वैक्स ज्यादा असरदार होती है.

    वैक्‍स के टाइप

    1. चीनी नींबू वैक्स

    यह एक नेचुरल वैक्‍सिंग है जिसे कई ब्यूटी सैलून खुद तैयार करते हैं. इसे चीनी और नींबू से तैयार किया जाता है. इसे प्रयोग करते समय यह ध्‍यान देना जरूरी होता है कि वैक्स ज्यादा गर्म न हो क्योंकि इससे स्किन पर जलन हो सकती है. प्राकृतिक चीजों से बनी होने के कारण यह स्किन के लिए फायदेमंद होती है और इसका नुकसान नहीं होता. यह टैन को दूर करने में भी मदद करती है.

    2. चॉकलेट वैक्स

    इसमें कोको बीन्स या डार्क चॉकलेट का प्रयोग किया जाता है. यह स्किन के लिए काफी फायदा होता है. इसमें बहुत अधिक मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट होते हैं  जो एंटी-एजिंग का काम करती है. चॉकलेट स्किन को मुलायम और कोमल बनाती है जबकि कोको बीन्स एंटी- इंफ्लेमेंटरी गुण से भरपूर होते हैं. चॉकलेट वैक्सिंग करने से सूजन कम होती है और रेडनेस नहीं आती. इसके प्रयोग से दर्द भी कम होता है. इसकी खुशबू से ‘फील-गुड’ महसूस होता है.

    इसे भी पढ़ें : चेहरे पर आ गई है डलनेस, तो डेड स्किन को मिनटों में इस तरह हटाएं

    3. एलोवेरा वैक्स

    एलोवेरा स्किन को मॉइस्चराइज करता है और स्किन को कोमल बनाता है. एलोवेरा में एंटी- इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जिससे वैक्सिंग के दौरान दाने या रैश नहीं होते. इसे कम तापमान में भी किया जा सकता है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    Tags: Beauty Tips, Lifestyle, Skin care

    अगली ख़बर