नींद में खर्राटे लेने की आदत है तो हो सकते हैं 'स्लीप एपनिया' के शिकार

News18Hindi
Updated: August 26, 2019, 12:01 PM IST
नींद में खर्राटे लेने की आदत है तो हो सकते हैं 'स्लीप एपनिया' के शिकार
खर्राटा एक अंतर्निहित नींद विकार जैसे स्लीप एपनिया (sleep apnea) का संकेत हो सकता है. यह एक ऐसी स्थिति है जो सोते समय सांस लेने में रुकावट पैदा कर सकती है.

खर्राटा एक अंतर्निहित नींद विकार जैसे 'स्लीप एपनिया' (sleep apnea) का संकेत हो सकता है. यह एक ऐसी स्थिति है जो सोते समय सांस लेने में रुकावट पैदा कर सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 26, 2019, 12:01 PM IST
  • Share this:
खर्राटे लगभग 90 मिलियन अमरिकियों को प्रभावित करती है. लेकिन इनमें से अधिकांश इस बात से अनजान होते हैं कि वे खर्राटे लेते क्यों हैं या खर्राटे उनके संपूर्ण स्वास्थ्य के बारे में क्या संकेत दे सकते हैं.

खर्राटा एक अंतर्निहित नींद विकार जैसे 'स्लीप एपनिया' (sleep apnea) का संकेत हो सकता है. यह एक ऐसी स्थिति है जो सोते समय सांस लेने में रुकावट पैदा कर सकती है. हाल ही में पाया गया है कि खर्राटे धमनियों को सख्त करने का काम करती हैं. यह स्ट्रोक और सामान्य ह्रदय संबंधी रोगों का प्रमुख कारण भी बन सकती हैं.

हालांकि खर्राटे को कंट्रोल किया जा सकता है. अगर आप जान ले कि किन कारणों की वजह से आप खर्राटे ले रहे हैं तो आप इन्हें कंट्रोल करने में सफल रहेंगे-

- रात में शराब पीकर सोना खर्राटे की एक बड़ी वजह है

- हो सकता है आपकी नाक में कुछ दिक्कत हो. अगर आपको भी ऐसा लगता है तो डॉक्टर से कंसल्ट करें

- अगर आप बिल्कुल अपने पीठ के बल सोते हैं, यानी सीधा तो खर्राटा लेने की संभावना ज्यादा होती है. वहीं अगर आप कंधे के बल सोते हैं तो ये संभावना कम हो जाती है.

- वजन का बढ़ना इसका बहुत बड़ा कारण है.
Loading...

- थाइरोइड

- बढ़ती उम्र

- पुरुषों में होते हैं खर्राटा लेने के ज्यादा मामले
और अगर इन सभी कारणों में से कोई भी कारण आपको अपने केस में लागू होते नहीं दिख रहे तो हो सकता है आपको स्लीप एपनिया हो. स्लीप एपनिया के कई लक्षणों में से एक ज़ोर-ज़ोर से खर्राटे लेना है. अगर आप इसके शिकार हैं तो पूरे दिन आपको थकान, उठते के साथ सिरदर्द, नींद का पूरा न होना, पीरियड्स आदि की समस्याएं होंगी. ऐसे केस में बेहतर हो कि आप जल्द से जल्द डॉक्टर से कंसल्ट करें.

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वेलनेस से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 25, 2019, 3:53 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...