Covid 19: माना कि घनी रात है, मगर पूरा भारत एक साथ है, सोनू सूद की इस कविता को पढ़कर दिल भर आएगा

Covid 19: माना कि घनी रात है, मगर पूरा भारत एक साथ है, सोनू सूद की इस कविता को पढ़कर दिल भर आएगा
सोनू सूद ने की चक्रवात निसर्ग प्रभावितों की मदद.

सोनू सूद की कविता भारत एक साथ है (Sonu Sood Poem): जिसने तेरा घर संवारा आज वो बेघर है, चेहरे पर शिकन मन में कई डर हैं , आओ खोल दें अपने घर के दरवाजे, कहीं कुछ दिन बस यही तेरा घर है, माना कि काली रात है लेकिन पूरा भारत साथ है...

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
कोरोना वायरस महामारी (Corona Pandemic) और लॉकडाउन (Lockdown) की वजह से पैदा हुए हालात से घबराकर घर लौटने वाले लोगों, दिहाड़ी मजदूरों और कुछ कामगारों के लिए बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद मसीहा की तरह ही हैं. सोनू सूद घर लौटने वालों के लिए बसों का इन्तजाम कर रहे हैं और साथ ही लौटने वालों और कोरोना की वजह से मुंबई में ठहरे हुए लोगों के खाने की व्यवस्था भी देख रहे हैं. लोग ट्विटर के जरिए सोनू सूद से मदद मांग रहे हैं. सोनू सूद (Sonu Sood) ने हाल ही में कोरोना वारियर्स के लिए एक कविता भी अपने instagram पर पोस्ट की है. कोरोना वारियर्स पर लिखी सोनू सूद की यह कविता दिल को छू लेने वाली है.

सोनू सूद की कविता भारत एक साथ है...

माना कि घनी रात है, मगर पूरा भारत एक साथ है ,
फिर उसी भीड़ का हिस्सा होंगे,



तेरी कोशिश, मेरी कोशिश रंग लाएगी,


बस कुछ ही दिनों की बात है,
माना कि घनी रात है
कोई खुद की परवाह किए बिना अपना फर्ज निभा रहा है,
इंसानियत है सबसे पहले ना कोई धर्म ना जात'




इन ऊंची ऊंची इमारतों के छोटो- छोटी खिड़कियों में सपने बड़े हैं,
फिलहाल संभल, जान बचा, सड़कों पर तेरे मेरे रखवाले खड़े हैं.
फिर खुशियों का मौसम आएगा, पक्का अपना विश्वास है,
माना कि घनी काली रात है, मगर आज पूरा भारत एक साथ है.

कोई मौत से लड़कर जिंदगी बचा रहा है,
कोई कचरा उठा कर भी ताली बजा रहा है,
कोई खुद की परवाह किए बिना अपना फर्ज निभा रहा है,
इंसानियत है सबसे पहले ना कोई धर्म ना जात’।
जिसने तेरा घर संवारा आज वो बेघर है,
चेहरे पर शिकन मन में कई डर हैं ,
आओ खोल दें अपने घर के दरवाजे,
कहीं कुछ दिन बस यही तेरा घर है,
माना कि काली रात है लेकिन पूरा भारत साथ है.
First published: May 26, 2020, 1:58 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading