होम /न्यूज /जीवन शैली /

अन्ना की डोसा वैरायटीज़ ज़ायके से हैं भरपूर, पीतमपुरा में 'डोसा कॉर्नर' पर लें स्वाद, VIDEO भी देखें

अन्ना की डोसा वैरायटीज़ ज़ायके से हैं भरपूर, पीतमपुरा में 'डोसा कॉर्नर' पर लें स्वाद, VIDEO भी देखें

1988 से आउटलेट संचालित किया जा रहा है.

1988 से आउटलेट संचालित किया जा रहा है.

साउथ इंडियन फूड स्वादिष्ट होने के साथ ही सेहत के लिहाज से भी बेहतर होता है. दिल्ली में भी दक्षिण भारतीय खान-पान को पसंद करने वालों की कमी नहीं है. आप भी अगर साउथ इंडियन डिशेस पसंद करते हैं तो आज हम आपको एक ऐसे आउटलेट पर लेकर चल रहे हैं जहां साउथ इंडियन डिशेस की स्वाद से भरी ढ़ेरों वैराइटीज़ मिलेंगी.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

डोसा कॉर्नर पर 17 तरह के डोसा मिलते हैं.
दो तमिल भाई चला रहे हैं डोसा कॉर्नर शॉप.

साउथ इंडियन डिश डोसा, इडली, वड़ा आदि ऐसे आहार हैं, जिन्हें खाने के लिए हर कोई लालायित रहता है. असल में इनके साथ सांभर, नारियल-चना व तीखी लाल चटनी अलग ही स्वाद बना देती हैं. दूसरी बात यह है कि यह पेट के लिए भी लाभकारी हैं तो इनसे शरीर को पर्याप्त मात्रा में कैलोरी भी मिल जाती है. आज हम आपको नॉर्थ दिल्ली में साउथ इंडियन डिश की ऐसी आउटलेट पर लिए चल रहे हैं, जहां ये दक्षिण भारतीय व्यंजन स्वादिष्ट में मौलिक तो होंगे ही, खाते वक्त भी आपका दिल जीत लेंगे.

साउथ इंडियन डिशेस की हैं ढेरों वैरायटी

नॉर्थ दिल्ली के किसी भी इलाके में चले जाइए, वहां आपको खान-पान के सैंकड़ों आउटलेट भी खुले दिखाई देंगे. यहां अस्सी के दशक के आखिरी सालों में कई रिहायशी कॉलोनियां बनीं और उनके साथ खान-पान वाले भी आ गए. ऐसे आउटलेट खासा नाम कमा रहे हैं और उनकी इलाके में साख भी बहुत है.

dosa corner

इस रेस्तरां में 17 तरह के डोसा और 7 प्रकार के रवा डोसा मिलते हैं.

ऐसा ही एक आउटलेट कोहाट एन्क्लेव और पीतमपुरा मेट्रो स्टेशन के बीच मेन रोड की जेडी मार्केट में सालों से चला रहा है. ‘डोसा कॉनर्र’ नाम से चल रहे इस रेस्तरां की विशेषता यह है कि यहां गिनी-चुनी साउथ इंडियन डिश की वैरायटी की भरमार है और इस आउटलेट को चलाने वाले लोग भी साउथ इंडियन ही हैं. तो आप समझ जाइए कि स्वाद कितना शानदार व जानदार होगा.

इसे भी पढ़ें: मसल्स और बोन्स को मजबूत बना देता है गुणों से भरपूर चना, शानदार है इसका इतिहास

सब कुछ ताजा और स्वाद से भरा हुआ

इस रेस्तरां में 17 तरह के डोसा और 7 प्रकार के रवा डोसा मिलते हैं. इनमें मसाला, बटर, पेपर, पनीर और उनके मिक्स डोसा से लेकर स्पेशल रवा, मसाला, बटर व पनीर रवा डोसा शामिल हैं. यहां सात तरह के उत्तपम मिलते हैं, जिनमें ओनियन, टोमेटो, पनीर बटर उत्तपम शामिल हैं. इडली और वड़ा तो अलग से है ही. आप डोसे का ऑर्डर देंगे तो साउथ इंडियन रसोइये उसे तैयार करने में जुट जाएंगे. तवे पर पानी का छौंका लगाकर जब वे डोसा के घोल (Batter) को सुलगते तवे पर फैलाते हैं तो उसकी गंध और आवाज ही मन मोह लेगी.

बड़ी बात यह है कि इनमें भरा जाने वाला स्टफ एकदम ताजा बनाया जाता है, जिससे डोसे का स्वाद बन पड़ता है. यानी कुछ भी आइटम खाइए, ताजा और गरमा-गरम परोसा जाएगा. इसके साथ एकदम गरम सांभर व दो तरह की चटनी स्वाद को और बढ़ा देगी. आपका मन करे तो सांभर चटनी चाहे जितनी बार ले सकते हैं. इनके ये सभी आइटम 70 रुपये से 180 के बीच हैं.

इसे भी पढ़ें: उत्तरी पीतमपुरा के ‘खोमचा स्ट्रीट’ पर मिलेगा ‘पेटूराम गोलगप्पे और बादशाह भल्लों’ का स्वाद, VIDEO भी देखें

पुराना आउटलेट, साल 1988 से चल रहा है

इस आउटलेट को दो तमिल भाई (अन्ना) गोविंद व सिल्वम चलाते हैं. जब इस मार्केट में उन्होंने वर्ष 1988 में बिजनेस शुरू किया था तो वहां एक-दो दुकानें ही ओपन थी. आज यह क्षेत्र के सबसे व्यस्ततम इलाकों में से एक है. चूंकि पुराना रेस्तरां है, इसलिए खाने वाले सैकड़ों लोग भी सालों से यहां आकर साउथ इंडियन डिश का मजा लेते हैं.

dosa corner

यहां रोज हर सामान ताजा लाया और बनाया जाता है. कुछ स्पेशल मसाले चैन्नई से मंगाए जाते हैं.

दोनों भाइयों का यह खानदानी काम है. दिल्ली आकर उन्होंने यही काम शुरू किया. स्वाद और मसालों की परख थी, इसलिए शुरू से ही कामयाब रहे. अब तो पैकिंग की भी सुविधा है. भाइयों का कहना है कि रोज हर सामान ताजा लाया और बनाया जाता है. कुछ स्पेशल मसाले चैन्नई से मंगाए जाते हैं. स्वाद से हम कोई समझौता नहीं करते. सुबह 9 बजे काम शुरू हो जाता है और रात 10:30 बजे तक खाने का लुत्फ उठाया जा सकता है.

नजदीकी मेट्रो स्टेशन: कोहाट एन्क्लेव व पीतमपुरा

Tags: Food, Lifestyle

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर